Monday, May 17, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh मेरठ में बसपा को 9 जिला पंचायत सीटों पर बढ़त, DU से...

मेरठ में बसपा को 9 जिला पंचायत सीटों पर बढ़त, DU से एमटेक करने वाले अश्वनी ने भी जीता चुनाव


बसपा ने एमटेक पास प्रत्याशी अश्वनी को भी वार्ड दस से जीत हासिल की है।

बसपा ने एमटेक पास प्रत्याशी अश्वनी को भी वार्ड दस से जीत हासिल की है।

यूपी पंचायत चुनव परिणाम: बसपा कुल 33 में से 9 जिला पंचायत सीट पर काबिज होते हुए दिख रहे हैं। बसपा नेताओं की जीत से मेरठ में बसपा नेताओं के चेहरों पर अरसे बाद मुस्कान लौटी है। वहीं सपा 7 सीटों पर बढ़त बनाकर दूसरे नंबर पर है। भाजपा ने 6 सीटों पर बढ़त बना रखी है।

मेरठ। जिला पंचायत सदस्य (जिला पंचायत सदस्य) के चुनाव में बसपा (बसपा) ने कामयाबी का नया इतिहास लिखा है। यहां बसपा कुल तैंतीस में से नौ जिला पंचायत सीट पर काबीज होते हुए दिख रहे हैं। बसपा नेताओं की जीत से मेरठ में बसपा नेताओं के चेहरों पर अरसे बाद मुस्कान लौटी है। वहीं सपा सात सीटों पर बढ़त बनाकर दूसरे नंबर पर है। भाजपा ने छह सीटों पर बढ़त बना रखी है। रालोद भी छह सीट जीतते हुए नजर आ रहा है। पांच अन्य सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशी जीत की ओर बढ़ रहे हैं। बसपा ने एमटेक पास प्रत्याशी अश्वनी को भी वार्ड दस से जीत हासिल की है। दिल्ली विश्वविद्यालय से एमटेक करने वाले अश्वनी का कहना है कि वे गांवों में शिक्षा के क्षेत्र में विशेष कार्य करना चाहते हैं। अश्वनी का कहना है कि एमटेक कंप्यूटर साइंस करने के बाद वे गांव की राजनीति में उतरे हैं। अश्वनी का कहना है कि वे गांव के ही पढ़े लिखे हैं। मेरठ से ही) उसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय से एमटेक किया। जॉब करने के बाद उन्होंने सॉफ्टवेयर का बिजनेस शुरू किया। पहली बार राजनीति में प्रवेश करने वाले अश्वनी का कहना है कि वे शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं। अश्वनी का कहना है कि एक शख्स अगर शिक्षित होने में कामयाब होता है तो वह सौ बीघे जमीन के बराबर होता है। इस युवा नेता का कहना है कि उनकी जीत का श्रेय भी टेक्नोलॉजीज को जाता है। उन्होंने बताया कि चुनाव में डाक या बैनर बनवाकर प्रचार नहीं किया गया, बल्कि सोशल मीडिया पर ग्रुप मेकर ने ही प्रचार किया। अश्वनी ने कहा कि बसपा सुप्रीमो ने भी कहा था कि अपनी स्किल के जरिए चुनाव जीते। अश्वनी ने शिक्षा को इन चुनावों में सबसे बड़ा मुद्दा बनाया। जीत पर झूले बसपा प्रत्याशी और समर्थकबसपा ने जीत हासिल की अन्य प्रत्याशियों की भी ख़ुशी का ठिकाना नहीं है। वार्ड नम्बर बाईस से चुनाव जीते गोपाल का कहना है कि वह गांव में लाइब्रेरी खोलकर जनता की सेवा करेंगे। गोपाल की एजुकेशन मात्र हाईस्कूल है लेकिन वह बताते हैं कि उनके दो भाई अधिकारी हैं। गोपाल का कहना है कि वे भी शिक्षा के क्षेत्र में गांव को विकसित करना चाहते हैं। वार्ड सत्रह से जीतने वाले बसपा ने उम्मीदवार अतुल पुनिया का कहना है कि अब आने वाले विधानसभा चुनावों में जीत के लिए पूरी टीम जुटेगी। अतुल पुनिया का कहना है कि उनकी टक्कर सपा और रालोद के प्रत्याशियों से थी। भाजपा का प्रत्याशी उनके वार्ड में चौथे नम्बर पर रहा। ऐसे ही वार्ड छह से चुनाव जीती सलोनी का कहना है कि वह भी शिक्षा के क्षेत्र में गांव को विकास की राह पर ले जाना चाहती है। वो ख़ुद इंटर पास हैं। लेकिन गाँव को शिक्षित करना उनका लक्ष्य बना रहेगा। पहली बार जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीतने वाले सलोनी का कहना है कि शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में वे कार्य करना चाहते हैं। इस जीत के बाद मेरठ बसपा के जिलाध्यक्ष मोहित का कहना है कि उनकी पार्टी इस जिले में नम्बर वन की पार्टी है। बसपा के जिलाध्यक्ष का कहना है कि नौ सीट पर उनके प्रत्याशी जीते हैं। और बाकी पांच जीत हुई प्रत्याशियों को उन्होंने टिकट नहीं दिया था, लेकिन उनकी पार्टी का झंडा लगाकर ही प्रत्याशी जीत रहे हैं। मेरठ बसपा के जिलाध्यक्ष का कहना है कि उनका मुकाबला सपा और रालोद से था। उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में मायावती यूपी की मुख्यमंत्री बनेगी। वहीं बसपा मेरठ मंडल के सेक्टर प्रभारी सतपाल पीपला का कहना है कि बसपा ने इन चुनावों में अच्छा रिजल्ट दिया है। वे कहते हैं कि लड़ाई 2022 की है। और ये तो सेमीफाइनल था।








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

2021 वोक्सवैगन टी-आरओसी की भारत में लॉन्च करने के लिए,…

डिजिटल नई दिल्ली। संचार के मामले में नियामक वोक्सवैगन (क्वाक्सवेगन) ने मार्च 2021 में टी-रॉक (टी-रोक) को भारत में इस्तेमाल किया...

छोटे कद का बड़ा धमाल, इन स्‍तंभों में कैमरा ने कहा कि कम माटा

बाजार में तेज गति से चलने वाला ने धमाल मचाते हुए अपने दिमाग को हल्का कर दिया।'' ऐरान ने जहां 20...

Recent Comments