Wednesday, April 14, 2021
Home Desh 'मुख न पहनने वाले लोगों के लिए डर का माहौल बनाने की...

‘मुख न पहनने वाले लोगों के लिए डर का माहौल बनाने की जरूरत है’


देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखने दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर में 8 अप्रैल यानी आज से नाइट कर्फ्यू लागू किया गया है, 17 अप्रैल तक यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा।

N95 मास्क

‘चेहरे न पहनने वाले लोगों के लिए डर का माहौल बनाने की जरूरत है’ (फोटो क्रेडिट: आईएएनएस)

हाइलाइट

  • देश में अब कोरोना के भव्याह आंकड़े सामने आने लगे हैं
  • जाने में भी बुधवार को पिछले 6 महीने बाद सबसे ज्यादा 527 मामले सामने आये हैं
  • दिल्ली के बाद अब नोएडा-ग्रेटर नोएडा में भी नाइट कर्फ्यू होगा

नई दिल्ली:

देश में अब कोरोना के भव्याह आंकड़े सामने आने लगे हैं। जाने में भी बुधवार को पिछले 6 महीने बाद सबसे ज्यादा 527 मामले सामने आये हैं। राज्य के भाजपा अध्यक्ष सदानंद शेट तनावपूर्ण ने गुरुवार को सरकारी एजेंसियों से पूछे जाने वाले लोगों के लिए डर का माहौल बनाने का आश्वासन दिया। तनावड़े ने राज्य में को विभाजित -19 के बढ़ते मामलों को लेकर कहा, लॉकडाउन एक समाधान नहीं हो सकता है। डर का माहौल बनाने की जरूरत है और लोगों को स्पष्ट पहनने की जरूरत है। तनावोद ने यह भी कहा, सरकार को फोर्स बढ़ाना चाहिए, ताकि लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर मुखौटा पहनने के लिए मजबूर किया जा सके।

सत्तारूढ़ पार्टी के अध्यक्ष ने कहा, शुरू में लोग डर गए थे, लेकिन आज मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर हमें यह नीचे लाने की जरूरत है, तो कार्यों, भागों को नियंत्रित करने की आवश्यकता है। राज्य भाजपा अध्यक्ष ने यह भी कहा, गो सरकार को प्राथमिकता के आधार पर पर्यटन उद्योग के श्रमिकों का टीकाकरण करने पर ध्यान देना चाहिए।

दिल्ली के बाद अब नोएडा-ग्रेटर नोएडा में भी नाइट कर्फ्यू होगा

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखने दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर में 8 अप्रैल यानी आज से नाइट कर्फ्यू लागू किया गया है, 17 अप्रैल तक यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। गौतमबुद्धनगर जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने राष्ट्रपति नोट जारी कर नाइट कर्फ्यू के निर्देश दिए हैं। निर्देश के अनुसार, नाइट कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तुओं, चिकित्सा सेवाओं के लिए मूवमेंट जारी रहेगा।

इस दौरान केवल वही लोग यात्रा कर रहे हैं जो की इमरजेंसी सेवाओं से जुड़े हुए हैं। जैसे कि सभी डॉक्टर्स, नसिर्ंग स्टाफ, पैरा मेडिकल आदि जिसमें गर्भवती महिला या कोई व्यक्ति स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त करने जा रहा है। साथ ही हवाई अड्डा, रेलवे स्टेशन और बसंत आने वाले साथ लोग वैध टिकट दिखाते हुए यात्रा करेंगे। आवश्यक वस्तुओं के परिवहन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा और न ही किसी को होने की जरूरत होगी।



संबंधित लेख

प्रथम प्रकाशित: 08 अप्रैल 2021, 05:28:15 बजे

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाइल क्षुधा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments