Thursday, August 6, 2020
Home Pradesh Uttar Pradesh मुख्यमंत्री योगी ने मंत्री कमला वरुण के निधन पर जताया शोक, कहा-...

मुख्यमंत्री योगी ने मंत्री कमला वरुण के निधन पर जताया शोक, कहा- सरकार के लिए अपूरणीय क्षति | kanpur – हिंदी में समाचार


मुख्यमंत्री योगी ने मंत्री कमला वरुण के निधन पर जताया शोक, कहा- सरकार के लिए अपूरणीय क्षति

मुख्यमंत्री योगी ने मंत्री कमला वरुण के निधन पर जताया शोक (फाइल फोटो)

पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा व लगन को देखते हुए 2019 में उन्हें कैबिनेट मंत्री (कैबिनेट मंत्री) बनाया गया था। वे सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थे।

लखनऊ। योगी सरकार (योगी सरकार) में कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण (कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण) की कोरोना संक्रमण (कोरोना संक्रमण) से रविवार को मौत हो गई। कमल रानी मृत्यु की मौत की सूचना मिलते ही कानपुर से लेकर आसपास के क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमल रानी की मौत पर अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है। सीएम ने कहा कि मैं कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण के परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। वह कोरोना पॉजिटिव था और पीजीआई अस्पताल में इलाज करवा रहे थे। उन्होंने कहा कि कमलानी एक लोकप्रिय जन नेता और एक सामाजिक कार्यकर्ता थे।

सीएम योगी ने कहा कि इससे पूर्व श्रीमती वरुण जी 11 वीं व 12 वीं लोकसभा की सदस्य थे। श्रीमती वरुण जी ने एक जनप्रतिनिधि के रूप में जन आकांक्षाओं का सम्मान रखा। मंत्री के रूप में विभागीय कार्यों को कुशलतापूर्वक निर्वहन करने में सराहनीय योगदान दिया गया है। उनका निधन समाज और सरकार के लिए अपूरणीय क्षति है। योगी ने विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गम्भीर संवेदना व्यक्त की है।

बता दें कि 18 जुलाई को सिविल अस्पताल में उनके सैंपल की जांच की गई थी जिसमें उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उनके परिवार के कई अन्य लोग भी सतर्क हैं। उनका इलाज लखनऊ के पीजीआई में चल रहा था। 2017 में बीजेपी ने उन्हें कानपुर के घाटमपुर सीट से चुनावी मैदान में उतारा था। वे इस सीट से जीतने वाली पार्टी के पहले विधायक थे। पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा व लगन को देखते हुए 2019 में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया था। वे सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री थे। घाटमपुर से बने विधायक

वर्ष 2012 में पार्टी ने उन्हें रसूलाबाद (कानपुर देहात) से टिकट देकर चुनाव मैदान में उतारा लेकिन उन्होंने जीत हासिल नहीं की। 2015 में पति की मृत्यु के बाद 2017 में वह घाटमपुर सीट से बीजेपी की पहली विधायक चुनकर विधानसभा में पहुंची थीं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सुशांत एस राजपूत की मौत: ईडी ने शुक्रवार को रिया चक्रवर्ती को समन किया SSR मृत्यु का मामला: ED ने प्रधान चक्रवर्ती को समन...

डिजिटल डेस्क, मुंबई। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को उनकी गर्लफ्रेंड रही...

भगवान राम की 3 डी तस्वीरें और टाइम्स स्क्वायर, यूएसए में बिलबोर्ड पर दिखाए गए भव्य मंदिर – न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायड के बिलबोर्ड...

अमेरिका का टाइम्स स्क्वायर भी राम के रंगों में रंगानई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीएम मोदी) ने अयोध्या (अयोध्या) में बुधवार को राम...

ओयो ने भारत, दक्षिण एशिया के कर्मचारियों के वेतन में कटौती ली

होटल श्रृंखला ओयो ने भारत और दक्षिण एशिया में अपने नियमित कर्मचारियों को एक अग से ​​पूरा वेतन देने की मंगलवार को घोषणा...

Recent Comments