Friday, February 23, 2024
HomePradeshUttar Pradeshमुख्यमंत्री ने मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित होने
वाले ‘मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की
 
‘मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम अपने देश, मातृभूमि के लिए
श्रद्धा, आदर एवं अपनापन के भाव से प्रेरित, प्रत्येक उ0प्र0 वासी को
राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत इस पुनीत कार्यक्रम में सहभागी बनना चाहिए
 
प्रत्येक विकास खण्ड और नगरीय निकाय से पावन मिट्टी लेकर अमृत
कलश तैयार किए जाएं, यह अमृत कलश लखनऊ और देश की राजधानी
दिल्ली में आजादी के अमृत वर्ष की स्मृति के साथ संग्रहीत किए जाएंगे
 
सभी ग्राम पंचायतों/स्थानीय निकायों में शिलाफलकम का
लोकार्पण किया जाए, शिलाफलकम पर आजादी के अमृत वर्ष
का विजन एवं स्थानीय वीरों/शहीदों का परिचय प्रदर्शित होगा
 
प्रधानमंत्री  द्वारा तय किए गए ‘पंच प्रण’ के प्रति प्रदेशवासी
संकल्पबद्ध होकर वसुधा वंदन करते हुए पौधरोपण करंे
 
‘वीरों का वंदन’ के भाव के साथ स्वाधीनता संग्राम सेनानियों
एवं अमर शहीदों के परिजनों का सम्मान किया जाए
 
राष्ट्रभक्ति से परिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम, प्रभात फेरियों व नुक्कड़ नाटकों का आयोजन किया जाए
 
लखनऊ:  
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित होने वाले ‘मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत वर्ष में प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में स्वाधीनता दिवस के अवसर पर ‘मिट्टी को नमन, वीरों का वन्दन’ के संदेश के साथ ‘मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। यह राष्ट्र के प्रति कृतज्ञता ज्ञापन का कार्यक्रम है। प्रत्येक उत्तर प्रदेश वासी को राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत इस पुनीत कार्यक्रम में सहभागी बनना चाहिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम अपने देश, अपनी मातृभूमि के लिए श्रद्धा, आदर एवं अपनापन के भाव से प्रेरित है। इसके अन्तर्गत प्रत्येक विकास खण्ड और नगरीय निकाय से पावन मिट्टी लेकर अमृत कलश तैयार किया जाए। प्रत्येक जनपद में सभी स्थानीय नगरीय निकायों का एक सम्मिलित अमृत कलश बनाया जाए। जबकि प्रत्येक विकास खण्ड का पृथक अमृत कलश तैयार किया जाए। यह अमृत कलश लखनऊ और देश की राजधानी दिल्ली में आजादी के अमृत वर्ष की स्मृति के साथ संग्रहीत किए जाएं।
अमृत कलश में प्रत्येक गांव, प्रत्येक शहर की मिट्टी हो। यह कलश गांव से ग्राम पंचायत, फिर ब्लॉक मुख्यालय होते हुए जिला मुख्यालय पर एकत्रित किए जाएं। इसी प्रकार, सभी नगरीय निकायों के कलश जिला मुख्यालय स्थित नगर निगम/नगर पालिका परिषद पर एकत्रित हों। तदुपरान्त यह कलश प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचेंगे और फिर जनपद गौतमबुद्धनगर होते हुए राजधानी दिल्ली स्थित कर्तव्य पथ पर पूरे देश से आए अमृत कलशों के साथ एकत्रित किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अमृत कलश देश की पावन मिट्टी से पूरित होंगे, इनका पूरा सम्मान किया जाए। अमृत कलश यात्रा भव्यता से परिपूर्ण होनी चाहिए। जगह-जगह आमजन की सहभागिता के साथ जनप्रतिनिधियों द्वारा इसका सम्मान किया जाए। इस सम्बन्ध में सभी आवश्यक तैयारियां समय से पूरी कर ली जाएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत/नगरीय निकाय में शिलाफलकम स्थापित किया जाना है। शिलाफलकम पर आजादी के अमृत वर्ष का विजन एवं स्थानीय वीरों/शहीदों का परिचय प्रदर्शित होगा। 09 से 15 अगस्त, 2023 तक की अवधि के इस कार्यक्रम के अन्तर्गत सभी ग्राम पंचायतों/स्थानीय निकायों में शिलाफलकम का लोकार्पण किया जाए। इस अवसर पर प्रधानमंत्री जी द्वारा तय किए गए ‘पंच प्रण’ के प्रति प्रदेशवासी संकल्पबद्ध होकर वसुधा वंदन करते हुए पौधरोपण करंे। ‘वीरों का वंदन’ के भाव के साथ स्वाधीनता संग्राम सेनानियों एवं अमर शहीदों के परिजनों का सम्मान किया जाए।
‘मेरी माटी, मेरा देश’ कार्यक्रम के व्यवस्थित आयोजन के लिए सभी जिलाधिकारियों से संवाद स्थापित कर बेहतर कार्ययोजना तैयार की जाए। 09 से 15 अगस्त, 2023 तक प्रत्येक दिन का कार्यक्रम तय करें। इस अवसर पर राष्ट्रभक्ति से परिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रम, प्रभात फेरियों, नुक्कड़ नाटकों आदि का भी आयोजन किया जाए।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments