Friday, January 21, 2022
HomeUttar Pradeshमुख्यमंत्री ने   औरैया में राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया

मुख्यमंत्री ने   औरैया में राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया

 
औरैया जनपद में एक साथ साढ़े चार सौ करोड़ रु0 से अधिक की परियोजनाओं
के लोकार्पण एवं शिलान्यास के लिए जनपदवासियों को बधाई दी
औरैया जनपद में मेडिकल कॉलेज बनना एक सपना था, प्रधानमंत्री जी
की अनुकम्पा से जनपद औरैया का यह सपना साकार हो रहा
यह मेडिकल कॉलेज जनता को उच्चस्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराएगा, इस मेडिकल कॉलेज से औरैया तथा आस-पास के जनपदों के युवाओं को मेडिकल में प्रवेश की सुविधा भी प्राप्त होगी, बालिकाओं के लिए नर्सिंग पाठ्यक्रम संचालित करने में मदद मिलेगी, रोजगार की व्यापक सम्भावनाएं आगे बढ़ेंगी
राज्य सरकार द्वारा गरीब, पीड़ित, किसान, युवा, महिला सहित समाज के
सभी तबकों के व्यक्तियों को शासन की योजनाओं का लाभ
पहुंचाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे
राज्य सरकार की अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति,
प्रदेश में प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा का बेहतर वातावरण दिलाने का माध्यम
संवेदनशील सरकार जनता के हितों के लिए बिना भेदभाव के
कार्य करती, सभी को योजनाओं और विकास का लाभ दिया जा रहा
प्रधानमंत्री जी का फ्री में वैक्सीन देने के लिए अभिनन्दन और आभार,
देश में अब तक 100 करोड़ से अधिक वैक्सीन की डोज दी जा चुकी,
जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं लगवायी है, वे वैक्सीन लगवाएं और
लोगों को ‘फ्री में वैक्सीन, सबको वैक्सीन’ के लिए प्रेरित करें
राज्य सरकार ने पंचनद योजना को तेजी से आगे बढ़ाने का निर्णय लिया
मुख्यमंत्री ने उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत
04 बच्चों को 12-12 हजार रु0 के चेक प्रदान किये

 

लखनऊ,

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने   औरैया में 280 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने 12 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया। यह परियोजनाएं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, किसान कल्याण केन्द्र, अग्निशमन केन्द्र, सेतु एवं सड़क, गौ-आश्रय स्थल आदि से सम्बन्धित हैं।
मुख्यमंत्री   ने एक साथ औरैया जनपद में लगभग साढ़े चार सौ करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास के लिए जनपदवासियों को बधाई देते हुए कहा कि औरैया जनपद में मेडिकल कॉलेज बनना एक सपना था। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी की अनुकम्पा से ‘प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना’ के अन्तर्गत आज जनपद औरैया का यह सपना भी साकार हो रहा है। यह मेडिकल कॉलेज जनता को उच्चस्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। इस मेडिकल कॉलेज से औरैया तथा आस-पास के जनपदों के युवाओं को मेडिकल में प्रवेश की सुविधा भी प्राप्त होगी। बालिकाओं के लिए नर्सिंग पाठ्यक्रम संचालित करने में मदद मिलेगी। साथ ही, रोजगार की व्यापक सम्भावनाएं आगे बढ़ेंगी।
मुख्यमंत्री   ने दीपावली व भैयादूज की हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि दीपावली, भैयादूज, छठ आदि पर्वों के आयोजनों के साथ-साथ विकास परियोजनाओं को तेजी से आगे बढ़ाने का कार्य भी किया जा रहा है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि विकास परियोजनाएं सभी के लिए मंगलदायी सिद्ध होंगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गरीब, पीड़ित, किसान, युवा, महिला सहित समाज के सभी तबकों के व्यक्तियों को शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। वर्ष 2017 से पूर्व, प्रदेश के चिकित्सालयों में लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस नहीं थी। वर्तमान सरकार ने सत्ता में आते ही प्रत्येक जनपद में लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस उपलब्ध करायीं। किसी के दुर्भाग्यपूर्ण एक्सीडेण्ट, हार्ट अटैक के समय उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाने में इस एम्बुलेंस की बहुत उपयोगिता है।
वर्ष 1947 से लेकर वर्ष 2017 तक उत्तर प्रदेश में 70 वर्षों में केवल 12 मेडिकल कॉलेज थे। वर्तमान सरकार अपना 05 वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने से पहले प्रत्येक जनपद में एक मेडिकल कॉलेज देने जा रही है। 32 मेडिकल कॉलेज पर कार्य चल रहा है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि आज प्रदेश बदल रहा है, प्रदेश की छवि बदली है। पहले पेशेवर अपराधी और माफिया गरीब, व्यापारी, बेटियों-बहनों का जीना दुश्वार कर देते थे। आज माफिया और उनके शरणदाताओं की अवैध सम्पत्तियों के ऊपर बुल्डोजर चल रहा है। राज्य सरकार की अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति, प्रदेश में प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा का बेहतर वातावरण दिलाने का माध्यम है। साथ ही, प्रदेश की छवि में आमूल-चूल परिवर्तन करने का भी माध्यम है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल के दौरान साढ़े चार वर्षों में प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि संवेदनशील सरकार जनता के हितों के लिए बिना भेदभाव के कार्य करती है। सभी को योजनाओं और विकास का लाभ दिया जा रहा है। विकास के परिणामस्वरूप आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत जनपद औरैया में अब तक 63,083 परिवारों को 01 लाख 53 हजार से अधिक गोल्डन कार्ड जारी किए गए हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत अब तक 246 करोड़ रुपए की राशि अन्नदाता किसानों के खाते मंे अन्तरित की जा चुकी है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत 01 लाख 64 हजार से अधिक किसानों को सीधे इस योजना से लाभान्वित किया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण एवं शहरी) के तहत औरैया जनपद के 25 हजार परिवारों को एक-एक आवास दिया जा चुका है। 184 नए पंचायत भवनों का निर्माण कराया गया है। इस जनपद में 01 लाख 50 हजार व्यक्तिगत शौचालय तथा 419 सामुदायिक शौचालयांे का निर्माण कराया गया है। लगभग 01 लाख परिवारों को निःशुल्क एल0पी0जी0 गैस का कनेक्शन दिया गया है। जनपद के 02 लाख 36 हजार 500 से अधिक लोगों को खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना के अन्तर्गत लगभग 8,000 श्रमिक लाभान्वित हुए हैं। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना से 642 बालिकाओं का विवाह सम्पन्न कराया गया है। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत 7,000 बालिकाएं पंजीकृत हुई हैं। बालिका के जन्म से लेकर स्नातक तक की पढ़ाई के लिए राज्य सरकार ने योजना के अन्तर्गत 15,000 रुपए उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। सौभाग्य योजना के माध्यम से 46,000 से अधिक निःशुल्क विद्युत कनेक्शन दिए गए हैं।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के ‘सबका साथ, सबका विकास, सबको विश्वास’ के मंत्र को अंगीकार करते हुए राज्य के किसानों, नौजवानों, महिलाओं, समाज के प्रत्येक तबके को सभी योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराया जा रहा है। इस मंत्र के अनुरूप नौजवानों को बिना किसी सिफारिश के नौकरी, गरीब को खाद्यान्न, किसान को किसान सम्मान निधि का लाभ, परम्परागत हस्तशिल्पियों और कारीगरों को विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना तथा ‘एक जनपद, एक उत्पाद योजना’ का लाभ मिल रहा है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने मई से नवम्बर, 2021 तक ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ का लाभ निःशुल्क उपलब्ध कराया। वर्ष 2020 में 08 महीनों-माह अप्रैल से नवम्बर तक सभी को फ्री खाद्यान्न मिला। राज्य सरकार ने तय किया है कि दिसम्बर, 2021 से मार्च, 2022 तक प्रदेश के 15 करोड़ अन्त्योदय कार्डधारकों तथा पात्र गृहस्थी परिवारों खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाएगा। अन्त्योदय कार्डधारकों को 35 किलो खाद्यान्न के साथ-साथ इसमें गेहूं, चावल, 01 किलो दाल, 01 किलो नमक, 01 किलो चीनी तथा 01 लीटर खाद्य तेल भी दिया जाएगा। पात्र गृहस्थी परिवार को प्रति यूनिट 05 किलो खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाएगा। यदि पात्र गृहस्थी परिवार में 05 सदस्य हैं, तो एक सदस्य के खाते में 05 किलो खाद्यान्न, 05 सदस्य हैं, तो 25 किलो, 07 सदस्य हैं, तो 35 किलो खाद्यान्न मिलेगा। राज्य सरकार ने इन परिवारों को 01 लीटर खाद्य तेल, 01 किलो दाल और 01 किलो नमक भी उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। माह दिसम्बर में इसका लाभ मिलना प्रारम्भ हो जाएगा।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि मंहगाई इससे पहले भी बढ़ती थी, लेकिन सरकार राहत नहीं देती थी। दीपावली के अवसर पर प्रधानमंत्री  ने डीजल और पेट्रोल की एक्साइज ड्यूटी में भारी कटौती करायी है। प्रदेश सरकार ने इसका सहयोग करते हुए डीजल और पेट्रोल पर 12-12 रुपए कटौती करने का निर्णय लिया। इससे आमजन को काफी राहत मिली है। डीजल के दाम में कमी आने से आम उपभोक्ता के साथ-साथ किसानों को भी राहत मिलेगी। पेट्रोल युवाओं और नौकरीपेशा लोगों के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है। डीजल और पेट्रोल की एक्साइज ड्यूटी में पहली बार 12 रुपए की कमी हुई है।
मुख्यमंत्री  ने जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि आमजन ने कोरोना कालखण्ड में केन्द्र व राज्य सरकार की गाइडलाइंस का पालन किया। उन्होंने विधायक श्री रमेश दिवाकर की दुःखद मृत्यु पर उन्हें श्रद्धांजलि दी तथा उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि वे बहुत जुझारु विधायक थे। श्री रमेश दिवाकर विकास के प्रति प्रतिबद्ध थे। लेकिन कोरोना की दूसरी लहर ने उन्हें चपेट में ले लिया। कोरोना से हमें अभी सतर्क रहना है। पर्व और त्योहार आ रहे हैं। सभी को भीड़-भाड़ से बचना होगा। ‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी’ का पालन करना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कोरोना अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। प्रधानमंत्री जी ने निःशुल्क वैक्सीन, टेस्ट, उपचार तथा फ्री में अन्न योजना संचालित की है। प्रधानमंत्री जी का फ्री में वैक्सीन देने के लिए अभिनन्दन और आभार व्यक्त करते हुए कहा कि देश में अब तक 100 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। उन्होंने अपील की कि जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं लगवायी है, वे वैक्सीन लगवाएं और लोगों को ‘फ्री में वैक्सीन, सबको वैक्सीन’ के लिए प्रेरित करें। यह कोरोना महामारी में सुरक्षा का एक बेहतर उपाय है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि राज्य सरकार ने पंचनद योजना को तेजी से आगे बढ़ाने का निर्णय लिया है। इससे इटावा, औरैया और इसके आस-पास के अन्य जनपदों को सिंचाई की बेहतर सुविधा मिलेगी। साथ ही, पाइप पेयजल योजना, हर घर नल योजना के माध्यम से जलापूर्ति में भी मदद मिलेगी। अब योजनाओं के लिए सिफारिश करने की आवश्यकता नहीं है। विकास योजनाएं आपके घर तक आएंगी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत 04 बच्चों को 12-12 हजार रुपए के चेक, स्वयं सहायता समूह को 05 करोड़ 02 लाख 80 हजार का डेमो चेक, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को प्रतीकात्मक चाभी के वितरण सहित विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments