Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh मुख्तार अंसारी न्यूज़: 14 घंटे में 900 कइलोमीटर का सफर करते हुए...

मुख्तार अंसारी न्यूज़: 14 घंटे में 900 कइलोमीटर का सफर करते हुए ठीक हुआ मुख्तार की सभी बीमारियाँ


बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के यूपी की बांदा जेल पहुंचते ही सब बीमार हो गए हैं।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के यूपी की बांदा जेल पहुंचते ही सब बीमार हो गए हैं।

बांदा न्यूज़: बांदा जेल पहुंचते ही मुख्तार अंसारी पूरी तरह से स्वस्थ नजर आए। पंजाब में व्हीलचेयर पर नजर आने वाला डॉन बांदा जेल में खुद के पैरों पर नजर आता है।

उत्तर प्रदेश समाचार: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी के यूपी की बांदा जेल पहुंचते ही सब बीमार हो गए हैं। पंजाब की रोपड जेल में रहने के दौरान कोर्ट में जिन 9 गंभीर बीमारियों का हवाला देकर मुख्तार यूपी की जेल में आने से बचने की कोशिश कर रहा था। वे सभी बीमार 14 घंटे में 900 क्यिलोमीटर का सफर करते हैं। मुख्तार ने खुद को शुगर से लेकर क्लीप डिस्क और दील संबंधी बीमारियों के मरीज को बताया था कि लेडा जब बांदा जेल में उसकी जांच की गई तो उसे चुप्पी-दुरुस्त बता दिया गया। वहीं बांदा जेल पहुंचते ही मुख्तार अंसारी पूरी तरह से स्वस्थ नजर आए। पंजाब में व्हीलचेयर पर नजर आने वाला डॉन बांदा जेल में खुद के पैरों पर नजर आता है।

गौरतलब है कि अक्टूबर 2020 में पंजाब मेडिकल बोर्ड द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दी गई रिपोर्ट में मुख्तार अंसारी को कई गंभीर बीमारियां होने की बात कही गई थी। मेडिकल बोर्ड ने मुख्तार को तीन महीने का बेड रेस्ट की सलाह भी दी थी। इससे पंजाब मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट की भी पोल खुल गई जिसमें उसे 9-9 गंभीर बीमारियों से पीड़ित बताया गया था। डीजी जेल आनंद कुमार ने बताया कि मेडिकल कॉलेज बांदा के डॉक्टरों द्वारा उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। डॉक्टरों की जांच रिपोर्ट में वह पूरी तरह से स्वस्थ्य मिला, उसे किसी तरह की कोई समस्या नहीं है।

यूट्यूब वीडियो

बांदा जेल के बैरक नंबर 16 में बंद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की पहली रात बड़ी ही बेचैनी से कटी। जेल सूत्रों के मुताबिक, डॉन को रात में काफी नींद तक नींद ही नहीं आई। पूरी रात पर जेल के बैरक में करवटें ही बदल रही थी। इसकी एक वजह यह थी कि इस बार बांदा जेल में उसे कोई समीक्षा सुविधा नहीं मिली। मुख्तार को दूसरे कैदियो की तरह जमीन में बिस्तार लगाकर सोना पड़ा, जहां उसे नींद नहीं आई। इतना ही खाने में भी उसने सिर्फ एक रोटी और थोड़ी सी दाल खाई। तुमको बता दें कि बुधवार बुधवार तड़के करीब साढ़े चार बजे बांदा पुलिस कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बांदा जेल में पहुंची। सात्विकताएं और कोविड टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद फिर से उसके पुराने बैरक नंबर 15 में शिफ्ट कर दिया गया। वैसे तो मुख्तार बांदा जेल में बंद है, लेकिन उसकी निगरानी लखनऊ में हो रही है। कैमरों की सहायता से मुख्ततार अंसारी की सुरक्षा की जा रही है। इसके लिए लखनऊ में रण नियंत्रक केंद्र बनाया गया है। इतना ही नहीं उसके स्वास्थ्य को लेकर भी पूरी व्यवस्था की गई है। जेल के डॉ के अलावा मेडिकल कॉलेज के चार डॉ ऑन कॉल 24 घंटे उपलब्ध हैं।








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद इस एक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र में स्थिति बहुत खराब हो गई है।...

सरकार एनएफएल में 20 प्रतिशत, आरसीएफ में 10 प्रतिशत हिस्सा बेचेगी

सरकार चालू वित्त वर्ष के दौरान खुली बिक्री की पेशकश के माध्यम से नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (एनएफएल) में 20 प्रतिशत और राष्ट्रीय कैमिकल्स...

Recent Comments