Sunday, October 2, 2022
HomeIndiaमां-बेटी के भावनात्मक रिश्ते से जुड़ा है फिल्म चमकी का गीत-साधना सरगम

मां-बेटी के भावनात्मक रिश्ते से जुड़ा है फिल्म चमकी का गीत-साधना सरगम

-अनिल बेदाग़-
मुंबई : बॉलीवुड की मशहूर गायिका साधना सरगम की आवाज़ में निर्माता वेंकट रत्नम,निर्देशक शेहरोज़ सादात की फ़िल्म चमकी का टाइटल गीत संगीतकार अल्ताफ सय्यद ने मुम्बई के एशियन म्युज़िक विज़न स्टूडियो में रिकॉर्ड किया। इस सॉन्ग को खुद फ़िल्म के निर्देशक ने लिखा है।
    साधना सरगम ने गीत की रिकॉर्डिंग के बाद कहा कि आज जो मैंने गाना गाया बहुत ही मेलोडियस सॉन्ग है। गाने में एक मिठास, एक स्टोरी है। मां बेटी पर फिल्माए जाने वाले इस सॉन्ग में मां की आवाज़ में मैंने गीत रिकॉर्ड किया जबकि बच्ची की आवाज़ पलाक्षी दीक्षित की है। फ़िल्म चमकी के डायरेक्टर शेहरोज़ सादात ने इस गीत को बखुबी लिखा है। अल्ताफ सय्यद ने इसे खूबसूरती से कम्पोज़ किया है। गीत के जरिये उन्होंने मां बेटी की भावनाओं को प्रभावी रूप से पेश किया है। मुझे यह गाना गाते हुए काफी मजा आया।
    ननिर्देशक शेहरोज़ ने बताया कि यह गीत हमारी आने वाली फिल्म चमकी का टाइटल गीत है। इसके निर्माता वेंकट रत्नम के साथ यह हमारी दूसरी फिल्म है। हमारी फ़िल्म नारी जल्द रिलीज होने जा रही है। फ़िल्म चमकी में एकमात्र यही एक गीत होगा। यह एक सिचुएशनल गीत है। चमकी एक लड़की की जर्नी है। इस माह के अंत तक इसकी शूटिंग शुरू होगी।
    निर्माता वेंकट रत्नम ने बताया कि शेहरोज़ बहुत ही अच्छे फिल्ममेकर हैं। चमकी का सब्जेक्ट ऐसा है कि यह लोगों के दिल को छू लेगी। हमारी फ़िल्म नारी को उन्होंने जिस तरह का ट्रीटमेंट दिया, वो कमाल का है। फिर जब वह चमकी की कहानी लेकर मेरे पास आए तो मैंने तुरंत इसे करने की हामी भर दी। यह गाना फ़िल्म का महत्वपूर्ण भाग होगा। साधना सरगम ने आगे बताया कि इस तरह मां बेटी के रिश्ते और इमोशंस पर इतने खूबसूरत गीत की सिचुएशन कम ही फिल्मों में आती है। मेरे पास यह गाने का ऑफर आया तो मैं भाग्यशाली मानती हूं। यह गीत एहसास को बयान करता है और फ़िल्म की स्टोरी को आगे लेकर जाता है। गीतों में लिरिक्स का अच्छा होना बहुत जरूरी होता है। गाने में मिठास और मेलोडी होगी तो सॉन्ग यादगार बन जाते है।
     डायरेक्टर शेहरोज़ ने बताया कि चमकी में स्टार कास्ट कौन होगी,जल्द ही दर्शकों को पता चल जाएगा। म्युज़िक डायरेक्टर अल्ताफ सय्यद ने बताया कि यह गीत बेहद ब्यूटीफुल है। यह एक सिचुशनल गीत है। लड़की पहले खुश है, फिर बेटी थोड़ी दुखी होती है तो मां उसे समझाती है, इस गीत में उन तमाम जज़्बात को दर्शाया गया है।
     अल्ताफ सय्यद ने आगे कहा कि फ़िल्म चमकी का कॉन्सेप्ट बहुत ही निराला है। मैं खुश हूं कि इस यूनिक स्टोरी का मैं एक हिस्सा बन रहा हूँ। निर्माता वेंकट रत्नम का शुक्रिया कि उन्होंने हम पर विश्वास किया और हमें क्रिएटिव आज़ादी दी। इसी निर्माता निर्देशक की टीम के साथ मैंने फ़िल्म नारी की है जो जल्द रिलीज होने जा रही है। नारी में एक रोमांटिक गीत गाया है कम्पोज़ किया है, एक टाइटल गीत है जिसे मैंने गाया और कम्पोज़ किया है।
    अल्ताफ सय्यद ने काफी उत्साहित होकर कहा कि साधना सरगम की आवाज़ में अपना सँग रिकॉर्ड करना मेरे लिए सपना सच होने जैसा है क्योंकि बचपन से ही हम इनके गीत सुनते आ रहे हैं। उनके साथ काम करने का मौका मिलना मेरे लिए सुनहरा अवसर था। बच्ची पलाक्षी दीक्षित ने भी बड़ी प्यारी आवाज़ में अपना पार्ट गाया है। हिरेन ने इस सांग को खूबसूरती से अरेंज किया है। इसमे काफी लाइव इंस्ट्रूमेंट्स भी बजाए गए हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments