Wednesday, April 14, 2021
Home Desh भारत के सबसे बड़े कोविड वैक्सीन निर्माता, लेकिन डोज कहां हैं? ...

भारत के सबसे बड़े कोविड वैक्सीन निर्माता, लेकिन डोज कहां हैं? भारत सबसे बड़ा कोविद वैक्सीन खरीदार है, लेकिन जहां चकमा है


एसआईआई के सीईओ अदर पूनावाला ने पिछले महीने ट्विटर पर कहा था कि, इसके कोरोना के अफ्रीकी और यूके वेरिएंट के खिलाफ टेस्ट किया गया है और इसका कुल प्रभावकारिता 89 प्रतिशत है।

कोविड का टीका

कोरोना वैक्सीन (फोटो साभार: आईएएनएस)

हाइलाइट

  • ग्लोबल हेल्थ इनोवेशन सेंटर का विश्लेषण
  • एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को 500 मिलियन डोज
  • नोवावैक्स से एक अरब डोज के नंबर दिए गए हैं
  • स्पुतनिक वी वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक

नई दिल्ली:

कोविड टीकों की आपूर्ति और कमी को लेकर राज्य सरकारों और केंद्र के बीच की तल्खी के बीच, सच्चाई यह है कि भारत 1.6 अरब की प्री-बुकिंग से दुनिया में को विभाजित दवा का सबसे बड़ा निर्माता रहा है। अमेरिका स्थित ड्यूक यूनिवर्सिटी के ग्लोबल हेल्थ इनोवेशन सेंटर के एक हालिया विश्लेषण के अनुसार, भारत ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को 500 मिलियन डोज, अमेरिकी कंपनी नोवावैक्स से एक अरब और रूसी स्पुतनिक वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक के प्री नंबर दिए थे। सेराम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने सितंबर तक कोवॉक्स (कंपनी और नोवाक्सएक्स द्वारा संयुक्त रूप से विकसित) के लॉन्च में देरी की घोषणा की है। इसे सितंबर में लॉन्च किया जाएगा।

एसआईआई के सीईओ अदर पूनावाला ने पिछले महीने ट्विटर पर कहा था कि, इसके कोरोना के अफ्रीकी और यूके वेरिएंट के खिलाफ टेस्ट किया गया है और इसका कुल प्रभावकारिता 89 प्रतिशत है। रिपोर्ट्स में पूनावाला के हवाले से कहा गया है कि महत्वपूर्ण कच्चे माल के निर्यात पर अमेरिका द्वारा अस्थायी प्रतिबंध से नोवाक्सक्स जैसे टीकों का उत्पादन सीमित हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार, एक बार खरीदे या विकसित किए गए ये टीके, भारतीय आबादी के लगभग 60 प्रतिशत लोगों को तेजी से टीकाकरण करने में मदद कर सकते हैं।

वैश्विक विश्लेषण के अनुसार, भारत शीर्ष को विभाजित -19 वैक्सीन निर्माता था, जिसके बाद यूरोपीय संघ (ईयू) और अमेरिका का स्थान है। जब रूसी को विभाजित -19 वैक्सीन स्पुतोनिक वी की बात आती है, तो भारतीय दवा कंपनी की विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने कोविड -19 वैक्सीन प्रस्तावों पर काम करते हुए अतिरिक्त डेटा मांगा है। इस बीच में बुधवार को पिछले 6 महीने के बाद सबसे ज्यादा 527 मामले सामने आये हैं। राज्य के भाजपा अध्यक्ष सदानंद शेट तनावपूर्ण ने गुरुवार को सरकारी एजेंसियों से पूछे जाने वाले लोगों के लिए डर का माहौल बनाने का आश्वासन दिया।

लॉकडाउन समाधान नहीं डर का माहौल बनाने की जरूरत है
तनावड़े ने राज्य में को विभाजित -19 के बढ़ते मामलों को लेकर कहा, लॉकडाउन एक समाधान नहीं हो सकता है। डर का माहौल बनाने की जरूरत है और लोगों को स्पष्ट पहनने की जरूरत है। तनावोद ने यह भी कहा, सरकार को फोर्स बढ़ाना चाहिए, ताकि लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर मुखौटा पहनने के लिए मजबूर किया जा सके। सत्तारूढ़ पार्टी के अध्यक्ष ने कहा, शुरू में लोग डर गए थे, लेकिन आज मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अगर हमें यह नीचे लाने की जरूरत है, तो कार्यों, भागों को नियंत्रित करने की आवश्यकता है। राज्य भाजपा अध्यक्ष ने यह भी कहा, गो सरकार को प्राथमिकता के आधार पर पर्यटन उद्योग के श्रमिकों का टीकाकरण करने पर ध्यान देना चाहिए।

दिल्ली, गाजियाबाद के बाद नोएडा-ग्रेटर नोएडा में भी नाइट कर्फ्यू
देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखने दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर में 8 अप्रैल यानी आज से नाइट कर्फ्यू लागू किया गया है, 17 अप्रैल तक यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। गौतमबुद्धनगर जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने राष्ट्रपति नोट जारी कर नाइट कर्फ्यू के निर्देश दिए हैं। निर्देश के अनुसार, नाइट कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तुओं, चिकित्सा सेवाओं के लिए मूवमेंट जारी रहेगा।



संबंधित लेख

पहली प्रकाशित: 08 अप्रैल 2021, 07:21:57 अपराह्न

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाइल क्षुधा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद इस एक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र में स्थिति बहुत खराब हो गई है।...

सरकार एनएफएल में 20 प्रतिशत, आरसीएफ में 10 प्रतिशत हिस्सा बेचेगी

सरकार चालू वित्त वर्ष के दौरान खुली बिक्री की पेशकश के माध्यम से नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (एनएफएल) में 20 प्रतिशत और राष्ट्रीय कैमिकल्स...

Recent Comments