Sunday, June 26, 2022
HomeBiharभारतीय सेना में अग्निवीरों के भर्ती की नयी योजना को लेकर मुजफ्फरपुर में विरोध प्रदर्शन, अभ्यर्थियों का हंगामा, 15 प्रदर्शनकारी...

भारतीय सेना में अग्निवीरों के भर्ती की नयी योजना को लेकर मुजफ्फरपुर में विरोध प्रदर्शन, अभ्यर्थियों का हंगामा, 15 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

ध्रुव कुमार सिंहमुजफ्फरपुर, बिहार

बिहार के विभिन्न जिलों के साथ में मुजफ्फरपुर में भी ‘अग्निपथ योजना’ पर बवाल शुरू हो गया है. मुजफ्फरपुर में भी अभ्यर्थी आक्रोशित होकर सड़क पर उतर गये. मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशन के पास चक्कर चौक व आस-पास के इलाके में व भगवानपुर गोलंबर व गोबरसही चौक के पास विरोध प्रदर्शन की खबर है. मुजफ्फरपुर के चक्कर मैदान में सेना बहाली केंद्र के पास में ही गोबरसही चौक पर भी प्रदर्शन किया गया. उधर, भगवानपुर गोलंबर पर भी बड़ी संख्या में युवक जुटे और आग जलाकर एनएच 28 को जाम किया. पुलिस लगातार युवाओं को समझाने में जुटी रही. प्रदर्शन कर रहे युवाओं का कहना है कि सेना में बहाली के लिए अग्निवीर स्कीम के उन प्रावधानों का विरोध किया जा रहा है जिसमें महज 4 साल के लिए भर्ती की जा रही है. प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कहा कि दो साल पहले मेडिकल और फिजिकल पास कर चुके लेकिन रिटेन तक नहीं हुआ.ऐसे में देखा जाए तो 4 साल वाली नयी योजना जले पर नमक छिड़कने वाली बात हो गई है.सेना बहाली के विरोध में मुजफ्फरपुर के अभ्यर्थी सड़क पर उतर गए। आगजनी और प्रदर्शन करते एनएच 28 को कई जगहों पर जाम कर दिया। मुजफ्फरपुर के भगवानपुर गोलंबर पर आगजनी की गई। सेना बहाली के नए नियम, जिसमें चार सालों तक की नौकरी का प्रावधान है, उसका विरोध कर रहे थे। अलग-अलग टुकड़ों में बंटे छात्रों का समूह चक्कर चौक, गोबरसही चौक और मारीपुर इलाके में हंगामा करने लगा। धीरे-धीरे छात्रों का समूह एक जगह भगवानपुर चौक पर जुट गया। इस चौराहे पर आगजनी की गई और जमकर हंगामा किया गया। छात्रों ने बताया कि चार साल से वो तैयारी कर रहे हैं। कई छात्र मेडिकल निकाल चुके हैं और उनका रिटेन अभी नहीं हुआ है। जब चार साल में सरकार रिटायर कर देगी तो हम लोग उसके बाद कहां जाएंगे? वहीँ अग्निपथ योजना को रद्द करने की मांग को लेकर वाम दलों से जुड़े छात्र संगठनों की ओर से 18 जून को बिहार बंद का ऐलान किया गया गया है। इसके पूर्व संध्या पर संगठनों की ओर से प्रदर्शन किया गया। इंकलाबी नौजवान सभा (आरवाईए) और आइसा ने प्रतिवाद के तहत छाता चौक पर प्रदर्शन किया। इन संगठनों के छात्र नेताओं ने कहा कि अग्निपथ योजना ने बिहार समेत पूरे देश में युवाओं को झकझोर दिया है। सरकार के फैसले के खिलाफ आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने 18 जून को बिहार बंद का आह्वान किया है। भाकपा माले के नगर सचिव सूरज कुमार सिंह ने कहा है कि अग्निपथ योजना देश की सुरक्षा व युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। अग्निपथ के विरोध में विपक्षी दलों की ओर से 18 जून को आहूत बिहार बंद की घोषणा पर मुजफ्फरपुर शहर में जिलाधिकारी  प्रणव कुमार और वरीय पुलिस अधीक्षक जयंतकांत के नेतृत्व में फ्लैग मार्च निकाला गया। वरीय अधिकारियों की मौजूदगी में विश्वविद्यालय के विभिन्न छात्रावासों की तलाशी ली गई। विश्वविद्यालय थाने पर जिलाधिकारी व वरीय पुलिस अधीक्षक ने मौजूद थानेदारों को पूरी मुस्तैदी के साथ निरोधात्मक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। नगर थाना से निकला फ्लैग मार्च, मिठनपुरा, काजी मोहम्मदपुर, ब्रह्मपुरा और सदर थाना क्षेत्र से गुजरा। इस दौरान पुलिस की गाड़ियां सायरन बजाती रहीं। वरीय पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए फ्लैग मार्च किया गया है। बंद के दौरान उपद्रव करने वालों से पुलिस व प्रशासन की टीम सख्ती से निपटेगी। शहर के सभी प्रमुख चौक-चौराहों पर दंडाधिकारी और पुलिस बल को तैनात किया गया है। फ्लैग मार्च में अनुमंडल अधिकारी “पूर्वी” ज्ञान प्रकाश, नगर पुलिस उपाधीक्षक रामनरेश पासवान, प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक सियाराम यादव के अलावा शहरी क्षेत्र के सभी थानेदार शामिल थे। सेना में अग्निपथ योजना को लेकर पुरे बिहार में हुए हिंसक प्रदर्शन का असर रेलवे पर पड़ा है। मुजफ्फरपुर स्टेशन से अप व डाउन में गुजरने वाली दर्जनों ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया। जबकि कई ट्रेनों का शॉर्ट टर्मिनेशन हुआ है। कई ट्रेनों को बीच रास्ते से वापस चलाया गया है। कई ट्रेनें रिशिड्यूल की गई हैं।जबकि कई ट्रेन को बदले हुए रूट से चलाया गया है। वहीं, रेलवे सूत्रों ने बताया कि शाम पांच बजे जहां-तहां खड़ी ट्रेनों का परिचालन पुनः शुरू कर दिया गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments