Saturday, May 28, 2022
HomeUttar Pradeshभगवान श्रीराम ने समाज के सभी वर्गों को एक सूत्र में बांधने...

भगवान श्रीराम ने समाज के सभी वर्गों को एक सूत्र में बांधने का कार्य किया-योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री ने जनपद अयोध्या में 661 करोड़ 11 लाख रु0 की लागत
की 50 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया, इनमें
105 करोड़ रु0 लागत की 26 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा
556.11 करोड़ रु0 24 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल
 
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राज्य सरकार की
ओर से आगामी होली तक निःशुल्क खाद्यान्न दिए जाने की घोषणा,
योजना के तहत प्रदेश के 15 करोड़ जरूरतमन्द लाभान्वित होंगे
 
अन्त्योदय कार्डधारकों को मिलने वाले खाद्यान्न के तहत चावल, गेहूं ही
नहीं, बल्कि 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल, 01 किलो
नमक और 01 किलो चीनी निःशुल्क दी जाएगी
 
पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को मिलने वाले खाद्यान्न में 01 किलो
दाल, 01 लीटर खाद्य तेल और 01 किलो नमक निःशुल्क दिया जाएगा
 
प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा, सन्तों के सहयोग, जनता व जनप्रतिनिधियों की
सहभागिता से वर्ष 2017 में आयोजित प्रथम दीपोत्सव ने आज भव्य और
दिव्य रूप ग्रहण किया, यह एक सफल और विशिष्ट आयोजन बन चुका
 
दीपोत्सव’ महान उत्सव का क्षण, दिव्यता और भव्यता का प्रतीक
 
इस आयोजन से लोगों की भावनाएं जुड़ी हैं और
उन भावनाओं की तेजी ने अयोध्या की तस्वीर को बदला
 
अयोध्या सांस्कृतिक, धार्मिक और आध्यात्मिक नगरी के रूप में पूरे विश्व पटल पर तेजी के साथ उभर रही, यह नगरी भविष्य में दुनिया भर के श्रद्धालुओं को आकर्षित करेगी
 
अयोध्या में मन्दिर निर्माण के साथ-साथ वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम,
मीरजापुर में माँ विन्ध्यवासिनी धाम को तेजी से विकसित किया जा रहा
 
पूरे प्रदेश में केन्द्र व राज्य सरकार के समन्वय से 500 तीर्थ स्थलों के विकास का
कार्य किया जा रहा, जिनमें से 300 तीर्थ स्थलों के विकास कार्य पूर्ण हो चुके
 
अयोध्या में भव्य श्रीराम मन्दिर का निर्माण प्रारम्भ हो चुका है और
लोगों की भावनाओं के अनुरूप मन्दिर निर्माण कार्य प्रशस्त हुआ
 
 
विगत साढ़े सात वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में सभी जरूरतमन्दों को आवास, शौचालय, निःशुल्क विद्युत कनेक्शन, रसोई गैस, 05 लाख रु0 प्रति वर्ष
का स्वास्थ्य बीमा कवर आदि सुविधाएं मिलीं, व्यापक पैमाने पर लोगों को
रोजगार मिला, देश आत्मनिर्भरता की दिशा में तेजी से आगे बढ़ा
 
प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में प्रदेश व देश को
कोरोना महामारी को नियंत्रित करने में सफलता मिली
 
प्रधानमंत्री जी ने सभी के लिए निःशुल्क टेस्ट, उपचार, राशन की व्यवस्थाएं
सुनिश्चित कीं और निःशुल्क कोविड वैक्सीन भी उपलब्ध करायी,
यह रामराज्य की संकल्पना को साकार करता है: मुख्यमंत्री
 
मुख्यमंत्री ने डाक विभाग एवं डॉ0 राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय
का ‘दिव्य दीपोत्सव-2021, विशेष आवरण एवं विशेष विरूपण जारी किया
 
अयोध्या के विकास पर केन्द्रित एक लघु फिल्म का प्रदर्शन
 
अयोध्या शोध संस्थान द्वारा प्रकाशित डॉ0 यतीन्द्र मिश्र की पुस्तक ‘परम्परा-संस्कृति-विरासत-अयोध्या’, डॉ0 जितेन्द्र कुमार सिंह ‘संजय’
की पुस्तक ‘श्रीराम की अयोध्या’,   बृजेश सिंह की पुस्तक
‘तीर्थोत्तमा अयोध्या’ का विमोचन किया गया
 
दीपोत्सव भारत की गौरवशाली परम्परा का आयोजन, यह आदर्श जीवन
और प्रभु श्रीराम के आदर्शों का द्योतक: केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री
 
प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में प्रभु श्रीराम के
आदर्शों पर रामराज्य की स्थापना का कार्य ‘सबका साथ,
सबका विकास, सबका विश्वास’ के आधार पर किया जा रहा

अयोध्या/लखनऊ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ   ने  अयोध्या में 661 करोड़ 11 लाख रुपए की लागत की 50 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इनमें 105 करोड़ रुपए लागत की 26 परियोजनाओं का लोकार्पण तथा 556.11 करोड़ रुपए 24 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल हैं। इस अवसर पर उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राज्य सरकार की ओर से आगामी होली तक निःशुल्क खाद्यान्न दिए जाने की घोषणा की। ज्ञातव्य है कि इस योजना के तहत प्रदेश के 15 करोड़ जरूरतमन्द लाभान्वित होंगे। इसके अलावा, अन्त्योदय कार्डधारकों को मिलने वाले खाद्यान्न के तहत चावल, गेहूं ही नहीं, बल्कि 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल, 01 किलो नमक और 01 किलो चीनी निःशुल्क दी जाएगी। साथ ही, पात्र गृहस्थी कार्डधारकों को मिलने वाले खाद्यान्न में 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल और 01 किलो नमक भी निःशुल्क दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री   अयोध्या के रामकथा पार्क में दीपावली के अवसर पर आयोजित पंचम ‘दीपोत्सव-2021’ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने दीपावली पर्व की बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की प्रेरणा, सन्तों के सहयोग, जनता व जनप्रतिनिधियों की सहभागिता से वर्ष 2017 में आयोजित प्रथम दीपोत्सव ने आज भव्य और दिव्य रूप ग्रहण कर लिया है। यह एक सफल और विशिष्ट आयोजन बन चुका है। ‘दीपोत्सव’ महान उत्सव का क्षण है, दिव्यता और भव्यता का प्रतीक है। दीपोत्सव भगवान श्रीराम के 14 वर्ष के वनवास के बाद अयोध्या आगमन की स्मृति से जुड़ता है। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव अयोध्या नगरी की देन है। पूर्व में यह आयोजन नहीं होता था, लेकिन वर्तमान सरकार के कार्यकाल में इस आयोजन को प्रारम्भ कर अयोध्या को उसकी पहचान दिलाने का कार्य किया गया है। यह आयोजन न सिर्फ अयोध्या बल्कि पूरे प्रदेश के विभिन्न नगरों में भी भव्यता और दिव्यता के साथ मनाया जाने लगा है। इस आयोजन से लोगों की भावनाएं जुड़ी हैं और उन भावनाओं की तेजी ने अयोध्या की तस्वीर को बदला है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि अयोध्या सांस्कृतिक, धार्मिक और आध्यात्मिक नगरी के रूप में पूरे विश्व पटल पर तेजी के साथ उभर रही है। यह नगरी भविष्य में दुनिया भर के श्रद्धालुओं को आकर्षित करेगी। अयोध्या में मन्दिर निर्माण के साथ-साथ वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम, मीरजापुर में माँ विन्ध्यवासिनी धाम को तेजी से विकसित किया जा रहा है। पूरे प्रदेश में केन्द्र व राज्य सरकार के समन्वय से 500 तीर्थ स्थलों के विकास का कार्य किया जा रहा है, जिनमें से 300 तीर्थ स्थलों के विकास कार्य पूर्ण हो चुके हैं। शेष तीर्थ स्थलों के विकास कार्य आगामी 02 माह मेें पूर्ण हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि अयोध्या में अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को भारत सरकार से स्वीकृति मिल चुकी है, इसके लिए भी कार्य किया जा रहा है। शीघ्र ही, सन्तों, महात्माओं, श्रद्धालुओं को इस हवाई अड्डे का लाभ मिलने लगेगा। वे कम समय में अधिक दूरी की यात्रा कर सकेंगे।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि अयोध्या सप्तपुरियों में से पहली पुरी मानी जाती है। जहां पंचकोसी, चौदहकोसी और चौरासीकोसी परिक्रमा मार्ग के साथ-साथ कनक भवन, रामकोट, नागेश्वरनाथ मन्दिर, हनुमानगढ़ी, छोटी देवकाली मन्दिर, मणि पर्वत आदि को भी विकसित किया जा रहा है। इनके लिए धनराशि उपलब्ध करायी जा चुकी है तथा आगे भी आवश्यकतानुसार धनराशि उपलब्ध करायी जाएगी। इन स्थलों के बदलाव को शीघ्र ही दुनिया देखेगी। राज्य सरकार अयोध्या को वैश्विक पटल पर पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित कर रही है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि अयोध्या में भव्य श्रीराम मन्दिर का निर्माण प्रारम्भ हो चुका है और लोगों की भावनाओं के अनुरूप मन्दिर निर्माण कार्य प्रशस्त हुआ है। अब मन्दिर निर्माण में किसी भी प्रकार का अवरोध और बाधा नहीं है। इससे श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन से जुड़े सन्तों, महात्माओं और लोगों की भावनाओं को पूर्णता मिली है। यह लोकतंत्र की ताकत है। यह प्रभु श्रीराम की मर्यादा और धैर्य की विजय है। भगवान श्रीराम ने समाज के सभी वर्गों को एक सूत्र में बांधने का कार्य किया। उन्होंने सम्पूर्ण आर्यावर्त की रक्षा का संकल्प लिया था, जिसे पूरा किया। उन्होंने दैहिक, दैविक और भौतिक तापों से मुक्त रामराज्य की संकल्पना की थी। यही संकल्पना प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व व मार्गदर्शन में आज साकार हो रही है। विगत साढ़े सात वर्षों के दौरान प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में सभी जरूरतमन्दों को आवास, शौचालय, निःशुल्क विद्युत कनेक्शन, रसोई गैस, 05 लाख रुपए प्रति वर्ष का स्वास्थ्य बीमा कवर आदि सुविधाएं मिली हैं। व्यापक पैमाने पर लोगों को रोजगार मिला है। देश आत्मनिर्भरता की दिशा में तेजी से आगे बढ़ा है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि पिछले डेढ़ वर्षों से सारी दुनिया और मानवता कोरोना महामारी से त्रस्त थी, उस दौरान प्रधानमंत्री जी का मार्गदर्शन मिला और प्रदेश व देश को इस महामारी को नियंत्रित करने में सफलता मिली। प्रधानमंत्री जी ने सभी के लिए निःशुल्क टेस्ट, उपचार, राशन की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कीं और निःशुल्क कोविड वैक्सीन भी उपलब्ध करायी। यह रामराज्य की संकल्पना को साकार करता है। यह लोगों की भावनाओं के अनुरूप दर्शाता है कि ‘मोदी है, तो मुमकिन है’। उन्होंने कहा कि कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है। अभी भी सावधानी और सतर्कता बरतनी आवश्यक है। ‘दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी’ का पालन सभी को करना चाहिए। साथ ही, सबको कोविड वैक्सीन की डोज लेनी चाहिए, क्योंकि यह वैक्सीन सुरक्षा कवच है।
मुख्यमंत्री  ने डाक विभाग एवं डॉ0 राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय का ‘दिव्य दीपोत्सव-2021, विशेष आवरण एवं विशेष विरूपण जारी किया। इस अवसर पर अयोध्या के विकास पर केन्द्रित एक लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा, अयोध्या शोध संस्थान द्वारा प्रकाशित डॉ0 यतीन्द्र मिश्र की पुस्तक ‘परम्परा-संस्कृति-विरासत-अयोध्या’, डॉ0 जितेन्द्र कुमार सिंह ‘संजय’ की पुस्तक ‘श्रीराम की अयोध्या’, श्री बृजेश सिंह की पुस्तक ‘तीर्थोत्तमा अयोध्या’ का विमोचन किया गया।
इस अवसर पर केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री जी0 किशन रेड्डी ने कहा कि वे दीपोत्सव कार्यक्रम का हिस्सा बनकर स्वयं को सौभाग्यशाली व गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। आज का दिन ऐतिहासिक दिन है। दीपोत्सव प्रभु श्रीराम के वनवास के बाद अयोध्या आगमन पर मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव भारत की गौरवशाली परम्परा का आयोजन है। यह प्रेम, अनुराग और श्रद्धा का आयोजन है। यह आदर्श जीवन और प्रभु श्रीराम के आदर्शों का द्योतक है। भगवान श्रीराम हमारी संस्कृति के नायक हैं। मर्यादा ही जीवन की कसौटी है। प्रभु श्रीराम जन-जन के आराध्य हैं।
केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के विजन के अनुरूप अयोध्या एक नए रूप मंे विकसित हो रही है। श्रीराम मन्दिर राष्ट्र का मन्दिर है। श्रीराम मन्दिर जन-जन का मन्दिर है। अयोध्या में मन्दिर निर्माण के बाद पूरी दुनिया से लोग आएंगे। अयोध्या में इण्टरनेशन एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है। अयोध्या रेल, सड़क और वायु कनेक्टिविटी से जुड़ रही है। इनके अलावा, संस्कृति, अध्यात्म, धर्म के स्तर पर भी यह पूरी दुनिया से जुड़ रही है। केन्द्र व राज्य सरकार के समन्वय से अयोध्या का विकास हो रहा है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में प्रभु श्रीराम के आदर्शों पर रामराज्य की स्थापना का कार्य ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के आधार पर किया जा रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि अयोध्या जिस प्रकार तेजी से विकसित हो रही है, उससे आने वाले 10 वर्षों में प्रति वर्ष 05 करोड़ पर्यटक इस नगरी में आएंगे। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश की इस विकास यात्रा में सभी सहभागी बनें।
कार्यक्रम को उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य, पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी, विधान परिषद सदस्य श्री स्वतंत्रदेव सिंह ने भी सम्बोधित किया।
इसके पूर्व, हेलीकॉप्टर से प्रभु श्रीराम, माता सीता और लक्ष्मण जी के प्रतीक स्वरूपों का अवतरण हुआ, जिनका मुख्यमंत्री जी तथा विशिष्ट अतिथियों ने अभिनन्दन किया। यहीं पर भरत मिलाप का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। प्रभु श्रीराम, माता सीता और लक्ष्मण जी के मंच पर आने पर उनका पूजन-वन्दन एवं आरती कर भगवान श्रीराम का प्रतीकात्मक राज्याभिषेक किया गया। मुख्यमंत्री जी ने पूजनीय सन्तों का स्वागत, वन्दन और अभिनन्दन भी किया। इस अवसर पर हेलीकॉप्टर द्वारा पुष्प वर्षा का मनमोहक दृश्य प्रस्तुत किया गया, जिससे उपस्थित जनसमुदाय आह्लादित हुआ। इस अवसर पर सम्पूर्ण वातावरण श्रीराम की जयघोष से गूंज उठा।
सर्वप्रथम भगवान श्रीराम के आदर्श एवं जीवन दर्शन तथा विभिन्न सामाजिक विषयों से जुड़ी झांकियों सहित भव्य ‘शोभा यात्रा’ का आयोजन किया गया। उप मुख्यमंत्री डॉ0 दिनेश शर्मा, पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकण्ठ तिवारी ने ‘शोभा यात्रा’ का शुभारम्भ किया। यह मनोरम शोभा यात्रा साकेत महाविद्यालय से प्रारम्भ हुई, जो अयोध्या के मुख्य मार्गों से होते हुए रामकथा पार्क में समाप्त हुई। ‘शोभा यात्रा’ में 11 झांकिया प्रस्तुत की गईं। इनमें (1) पुत्रेष्टि यज्ञ एवं सबको सुरक्षा, भयमुक्त समाज, (2) गुरुकुल शिक्षा एवं बच्चों की शिक्षा का अधिकार, (3) अहिल्या उद्धार एवं मिशन शक्ति, नारी सुरक्षा, नारी सम्मान, नारी स्वावलम्बन, 1090 एवं 1076 की सुविधा, (4) राम-सीता विवाह एवं बेटियों के विवाह हेतु सरकार द्वारा की जा रही व्यवस्था, (5) केवट प्रसंग एवं समाज कल्याण, (6) पंचवटी/वन एवं पर्यावरण, (7) शबरी-राम मिलाप एवं महिला कल्याण, (8) लंका दहन एवं अपराधियों एवं भूमाफियाओं के विरुद्ध अभियान, (9) रामेश्वरम सेतु एवं उ0प्र0 में पुलों का निर्माण, (10) पुष्पक विमान एवं विज्ञान प्रौद्योगिकी, बेहतर वायु कनेक्टिविटी, (11) राम दरबार एवं बेहतर कानून व्यवस्था प्रमुख रूप से शामिल रहीं। शोभा यात्रा में विभिन्न कलाकारों ने प्रतिभाग किया।
लोकार्पित परियोजनाओं में राजद्वार पार्क का विकास कार्य, अयोध्या नगर की सीवर गृह संयोजन योजना फेज-2, सिटी वाइड इण्टरवेंशन का निर्माण, पेडेस्ट्रियन स्ट्रीट के कार्य, मल्टीलेवल कार पार्किंग का निर्माण, स्ट्रीट रिजुविनेशन का निर्माण, टूरिस्ट शेल्टर का निर्माण, परिक्रमा मार्ग अयोध्या का सौन्दर्यीकरण, जानकी विहार योजना में 48 एम0आई0जी0, 08 एल0आई0जी0, 08 ई0डब्ल्यू0एस0 भवनों का निर्माण, जिला कारागार की मुख्य प्राचीर के निर्माण, जिला कारागार में 12 क्षमता की उच्च सुरक्षा बैरक का निर्माण, जिला कारागार में टाइप-2 के 06 आवास का निर्माण, क्षेत्राधिकारी मिल्कीपुर के आवास, सर्वेण्ट क्वार्टर एवं गैराज तथा स्टाफ हेतु श्रेणी-1 (स्पेशल) के 06, श्रेणी-2 के 01 आवास का निर्माण, पुलिस लाइन में 32 महिला कर्मियों हेतु हॉस्टल/बैरक का निर्माण, आचार्य नरेन्द्रदेव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय कुमारगंज में 100 छात्रों के लिए 50 कमरों के छात्रावास का निर्माण, कृषि विज्ञान केन्द्र मसौधा का सुदृढ़ीकरण, भेलसर, मिल्कीपुर एवं मवई में किसान कल्याण केन्द्र (किसान सेवा केन्द्र), ग्राम कंदईकला विकासखण्ड मिल्कीपुर में मिनी स्टेडियम का निर्माण, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र विजयनपुर सजहरा एवं रुदौली, केन्द्रीय योजना जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान अयोध्या का सुदृढ़ीकरण, विकासखण्ड मसौधा के स्थायी कार्यालय भवन, आवासीय भवन, बाउण्ड्रीवॉल, सड़क व नाली निर्माण, अन्तर्राष्ट्रीय मीडिया सेण्टर (प्रेस क्लब) तथा राजकीय हाईस्कूल शुजागंज विकासखण्ड रुदौली का निर्माण शामिल है।
शिलान्यास की गई परियोजनाओं में जनपद अयोध्या में गोसाईगंज बाजार बाईपास का निर्माण, अयोध्या-अकबरपुर-बसखरी मार्ग के प्रस्तावित मयाबाजार 4-लेन बाईपास का निर्माण, अयोध्या बिल्लहरघाट मार्ग (ए0बी0 बंधा मार्ग) का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण, जनपद अयोध्या के सआदतगंज नयाघाट मार्ग के कि0मी0-11 से सुग्रीव किला होते हुए श्रीराम जन्मभूमि तक 4-लेन मार्ग का नवनिर्माण, अयोध्या मुख्य मार्ग से हनुमानगढ़ी होते हुए श्रीराम जन्मभूमि तक चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का निर्माण, राज्य स्मार्ट सिटी मिशन के अन्तर्गत अयोध्या शहर की आई0टी0आई0 एम0एस0 परियोजना का निर्माण, सूर्यकुण्ड का विकास कार्य, कौशलपुरी योजना सड़क नाली सुदृढ़ीकरण प्रथम चरण का कार्य, कौशलपुरी योजना सड़क नाली सुदृढ़ीकरण द्वितीय चरण का कार्य, साकेतपुरी योजना सड़क नाली सुदृढ़ीकरण प्रथम चरण का कार्य, श्रीराम जन्मभूमि के समीप 09 वॉर्डों का विकास कार्य, जानकी विहार योजना में 38 एम0आई0जी0 भवनों का निर्माण, कौशलेशकुंज योजना में 38 दुकानों एवं पार्क का निर्माण, अयोध्या स्थित 08 कुण्डों (लाल डिग्गी, विद्याकुण्ड, दशरथ कुण्ड, ब्रह्मकुण्ड, सीताकुण्ड, अग्नि कुण्ड, छीर सागर, खजुहा कुण्ड का रिजुविनेशन एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य), जनपद अयोध्या में नया घाट, पार्किंग स्थल, म्युनिसिपल ऑफिस, राही यात्री निवास एवं तुलसी उद्यान में टॉयलेट ब्लॉक का निर्माण कार्य, अयोध्याधाम में स्थित हनुमान कुण्ड के पर्यटन विकास कार्य, अयोध्याधाम में स्थित स्वर्णखनी कुण्ड के पर्यटन विकास कार्य, अयोध्याधाम में स्थित गणेश कुण्ड के पर्यटन विकास कार्य, कस्तूरबा गांधी विद्यालय अमानीगंज में छात्रावास का निर्माण कार्य, कस्तूरबा गांधी विद्यालय मिल्कीपुर में छात्रावास का निर्माण, कस्तूरबा गांधी विद्यालय सोहावल में छात्रावास का निर्माण, किसान कल्याण केन्द्र बीकापुर का निर्माण, जिला कारागार अयोध्या में टाइप-2 के 06 आवास का निर्माण, जिला कारागार अयोध्या में मुलाकात घर का निर्माण कार्य सम्मिलित है।
कार्यक्रम के दौरान जल शक्ति मंत्री डॉ0 महेन्द्र सिंह, जनप्रतिनिधिगण, त्रिनिदाद एवं टोबैगो, केन्या के उच्चायुक्त तथा वियतनाम के राजदूत सहित बड़ी संख्या में साधु-सन्तगण, श्रद्धालु, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल तथा शासन-प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments