Thursday, November 26, 2020
Home Desh बिहार: देव मंदिर और बिहार का चपवापवा - बिहार: देव मंदिर को...

बिहार: देव मंदिर और बिहार का चपवापवा – बिहार: देव मंदिर को नहीं देखा और चचपवा चाट नहीं तो क्या हुआ?


क्या है चाट की खासियत

देव में चाट की दुकान बेहद ही साधारण है, इस दुकान पर काम करने वाले कुमकुम चौरसिया ने बताया, पिछले 10 साल इस दुकान को चला गया है। पहले इस दुकान पर मेरे पिताजी बैठते थे। उन्होंने बताया कि इस चाट का नाम 'चपचपवा' मेरे पिताजी ने रखा था, तभी से ये नाम चला आ रहा है।

वहीं जब NDTV के रिपोर्टर रवीश रंजन शुक्ला ने यहां का दौरा किया, उन्होंने बताया, 'बिहार में औरंगाबाद के चपचपवा चाट खाते ही आप पसीने से चपचपा जाएंगे, इसीलिए इसे चपचप कहा गया है।'

चौरसिया जी ने बताया, उड़द, चना दाल और बेसन से ये चाट बनती है। इसी के साथ समोसे और आलू टिक्की को मिक्स कर ये चाट तैयार जाता है। ये चाट हमारे यहाँ काफी प्रसिद्ध है।

चौरसिया ने आगे कहा, 'कोरोनावायरस के कारण, भीड़ कम हो गई है, लेकिन कोरोना से पहले अच्छी भीड़ हुई थी। उम्मीद है जल्द ही सब ठीक होगा। '

उन्होंने कहा, लंबे समय से दुकान बंद थी, पिछले एक महीने पहले ही दुकान खोली है, लेकिन अभी बिक्री कम हो रही है। वहीं जितने भी लोग यहां खाने आते हैं वह बड़े शौक से आते हैं।

जब उनसे पूछा गया कि चपचपवा चाट का विस्तार करना चाहते हैं तो ये और शहरों में भी प्रसिद्ध हो सकते हैं। इसपर उन्होंने कहा, 'चाट को तैयार करने में काफी मेहनत लगती है। एक आदमी के भरोसे नहीं पाए जा पाएगा। इसलिए हम खुद से मेहनत करते हैं और खुद से बनाते हैं। '

j6khirp8 "id =" story_image_main "src =" https://c.ndtvimg.com/2020-10/j6khirp8_mandir_625x300_17_October_20_jpg "/></div>
</div>
<p>इस तीखी चाट खा कर अच्छे अच्छे पसीने से चपचपा जाते हैं इसीलिए इसे देव का चपचपवा चाट कहा जाता है। चाट के अलावा देव के सूर्य मंदिर की बड़ी महता है। ये मंदिर इसलिए खास है क्योंकि मंदिर का दरवाजा पूर्व की ओर नहीं बल्कि पश्चिम की ओर है।  </p>
<p>इतिहासकार इस मंदिर के निर्माण का काल छठी – आठवीं शताब्दी के मध्य होने का अनुमान लगाते हैं जबकि अलग-अलग पौराणिक पौराणिकताओं के आधार पर मान्यताएँ और जनश्रुति इसे त्रेता युगीन या द्वापर युग के मध्यकाल में निर्मित बताती हैं। इसी से सटा देव किला है। आजकल वारिस को लेकर अदालत में इसका मामला चल रहा है।                            </p>
</div>
<p><script async src=



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

तेजस्वी सूर्या और असदुद्दीन ओवैसी की प्रतिद्वंद्विता हैदराबाद सिविक पोल से पहले सामने आई – तेजस्वी सूर्य बनाम असदुद्दीन ओवैसी, हैदराबाद में नजर आ...

तेजस्वी सूर्या ने ओवसी को 'नया जने का मोहम्ममद अली जिन्दाना' बताया हैखास बातेंकड़वे, भड़काऊ और रेगंग पाठबाण से भरे भाषण दे रहे...

Recent Comments