Friday, March 5, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh बाराबंकी समाचार: नरेश टिकैत बरबकी किसान महापंचायत में भरेंगे हुंकार, आयोजकों ने...

बाराबंकी समाचार: नरेश टिकैत बरबकी किसान महापंचायत में भरेंगे हुंकार, आयोजकों ने अनुमति को लेकर दी अजीब दलील


  किसान नेता राकेश टिकैत के समर्थन में अब देशभर के किसान तेजी से जुड़ने लगे हैं।

किसान नेता राकेश टिकैत के समर्थन में अब देशभर के किसान तेजी से जुड़ने लगे हैं।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत (चौधरी नरेश टिकैत) बुधवार को बाराबंकी किसान महापंचायत में शामिल होंगे। हालांकि आयोजकों ने अभी तक इसके लिए प्रशासन से अनुमति नहीं ली है।

बरबकी। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की सीमाओं (दिल्ली बॉर्डर) पर पिछले काफी दिनों से किसान आंदोलन चल रहा है। इसके अलावा तमाम किसान नेता अन्य राजों में भी लगातार किसान महापंचायत (किसान महापंचायत) कर रहे हैं। इस बीच बुधवार को भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत (चौधरी नरेश टिकैत) बरबकी पहुंच रहे हैं। ऐसा नहीं है, किसानों ने अपने आगमन और महापंचायत की तैयारी पूरी कर ली है। किसान नेताओं ने बताया कि वह प्रशासन से अनुमति नहीं ले रहे हैं, तत्कालीन गृह मंत्री अमित शाह बंगाल में ममता बनर्जी से अनुमति ले रहे होते हैं तो वह भी अनुमति लेते हैं। वहीं, नरेश टिकैत बाराबंकी के बाद 25 फरवरी को बस्ती में होने वाली किसान महापंचायत का भी हाल ही में हो जाएगा।

बाराबंकी जनपद के विकासखंड हरख के चौराहे पर बुधवार को किसानों की महापंचायत आयोजित की जाएगी। हजारों किसानों के जुटने की संभावना है। जबकि इस महापंचायत में भारतीय किसान संघ (टिकैत गुट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी राकेश टिकैत बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे।

हम क्यों अनुमति देते हैं: हरनाम सिंह
किसान नेता हरनाम सिंह ने बताया कि किसानों का मुद्दा स्पष्ट है, तीन काले कानून समाप्त हैं और एमएसपी को कानूनी जामा पहनाया जाएगा। इसी मांग को लेकर कल हजारों किसानों की यहां सभा होगी जिसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत शामिल होंगे। सिंह ने बताया कि किसान किसी को जल्दी नहीं है, सरकार चाहे आज बात करे या फिर 2024 के चुनाव के समय। हम अधर्म करते हैं। वहीं, किसान महापंचायत के लिए प्रशासन से अनुमति नहीं के लिए जाने पर हरनाम सिंह ने कहा कि हम क्यों अनुमति लें, अगर अमित शाह बंगाल में अपनी जनसभा की अनुमति ममता सरकार से ले रहे हों तो हम भी अनुमति लेंगे अन्यथा कोई अनुमति नहीं होगी। बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने पिछले दिनों केंद्र सरकार को चेतावनी दी थी कि अब तो लड़ेंगे भी और जीतेंगे भी। यही नहीं, हमारी महापंचायतों की आवाज दिल्ली में बैठी गूंगी बहरी सरकार के कानों में भी सुनाई होगी।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

दिल्ली रेलवे स्टेशन पर 1 साल बाद प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री शुरू, चुकाने की 3 गुना कीमत होगी

प्लेटफार्म टिकट की बिक्री पिछले साल लॉकडाउन में ट्रेनों के बंद होने के बाद से ही ठप थीनई दिल्ली: रेलवे ने दिल्ली रेलवे...

शेयर बाजार: सेंसेक्स 598 अंकों की गिरावट, 15000 के पार बंद हुआ निफ्टी

आज सप्ताह के चौथे दिन गुरुवार को शेयर बाजार में गिरावट के साथ लाल निशान पर बंद हुआ। बीएसई इंडेक्स सेंसेक्स 598.57...

PF डिपॉजिट पर 8.5 प्रतिशत ब्याज, शेफ लेबर कमिश्नर बोले- 5 करोड़ खाताधारकों को फायदा मिलेगा

वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद निर्णय को लागू किया जाएगा। (प्रतीकात्मक चित्र)खास बातेंपीएएफ डिपोजिट पर 8.5 प्रतिशत ब्याज'5 करोड़ अकाउंटर्स को...

अडानी पोर्ट्स खरीदेगा गंगावरम पोर्ट में भाग, 22 प्रति क्लाइमे कंपनी के शेयर

अडानी पोर्ट्स (अदानी पोर्ट्स) गंगावरम पोर्ट में 31.5 प्रतिशत हिस्सा खरीदेगी। भारत के सबसे बड़े निजी बंदरगाह ऑपरेटर अडानी पोर्ट्स एंड...

Recent Comments