Home Pradesh Bihar प्रो.निगमानंद कुंवर और छात्र महेश शाही की शहादत शिक्षकों एवं छात्रों के लिए आज भी प्रेरणादायी – प्रो.अमिता शर्मा

प्रो.निगमानंद कुंवर और छात्र महेश शाही की शहादत शिक्षकों एवं छात्रों के लिए आज भी प्रेरणादायी – प्रो.अमिता शर्मा

0
प्रो.निगमानंद कुंवर और छात्र महेश शाही की शहादत शिक्षकों एवं छात्रों के लिए आज भी प्रेरणादायी – प्रो.अमिता शर्मा

प्रो.निगमानंद कुंवर और छात्र महेश शाही की शहादत शिक्षकों एवं छात्रों के लिए आज भी प्रेरणादायी – प्रो.अमिता शर्मा

ध्रुव कुमार सिंह, मुज़फ्फरपुर, बिहार,  

रामदयालु सिंह महाविद्यालय में प्रो.निगमानंद कुंवर और महेश शाही का शहादत दिवस मनाया गया। शिक्षक छात्र एवं कर्मचारियों ने मौन जुलूस के साथ बढ़ते हुए उनकी मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दिया। शहीद स्थल पर दो मिनट का मौन रखने के बाद उनकी शहादत को याद करते हुए महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ.अमिता शर्मा ने कहा कि प्रो.निगमानंद और छात्र महेश शाही की आहुति आज भी संघर्ष और त्याग की प्रेरणा दे रही है। उन्होंने बताया कि 1966 में उग्र छात्र आंदोलन के दौरान हुए गोली कांड में महाविद्यालय के छात्र महेश शाही और उसको बचाने में प्रो.निगमानंद कुंवर गोली के शिकार हो गए। इस अवसर पर राजनीति शास्त्र विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो.अरुण कुमार सिंह ने कहा कि जनतांत्रिक अधिकार की रक्षा के लिए महेश शाही व प्रो निगमानंद ने अपनी जान दे दी। उन्होंने जुल्म को सहन करने के बजाय संघर्ष करते हुए गोलीकांड के शिकार हो गए। निश्चित रूप से यह मानवाधिकार का उल्लंघन था। मौके पर एल.एन मिश्रा मैनेजमेंट कॉलेज के कुलसचिव डॉ.शरतेंदु शेखर, डॉ.अरुण कुमार सिंह, डॉ.व्यास मिश्रा, प्रो.बी.के आजाद, बुस्टा महासचिव डॉ.रमेश प्रसाद गुप्ता, डॉ.राजीव कुमार, डॉ.श्याम बाबू, डॉ.सत्येंद्र कुमार सिंह, डॉ.जयोदीप घोष, डी.के विद्यार्थी, डॉ.हसन रजा, डॉ.मंजरी आनंद, डॉ.आयशा जमाल, डॉ.प्रियंका दिक्षित, डॉ.सारिका चौरसिया, डॉ.रजनीकांत पांडे, डॉ.ललित किशोर, डॉ.मीनू कुमारी, डॉ.पवन ओझा,डॉ.गणेश कुमार शर्मा, डॉ.इला, डॉ.पवन कुमार, पंकज भूषण, शैलेंद्र चौधरी, निधि, अशोक कुमार, नवीन कुमार, इंदल कुमार, दीपक कुमार, मनीष कुमार, आशुतोष मिश्रा, रमेश शाही,प्रमोद कुमार सिंह, उज्जवल कुमार सहित बड़ी संख्या में शिक्षकेत्तर कर्मी और छात्र-छात्राएं उपस्थित थें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here