Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh प्रयागराज में बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स...

प्रयागराज में बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स पर चली बुलडोजर


बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई

बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई

बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की एमएलसी पत्नी और सास के नाम पर बने अवैध भवन को प्रशासन ने जमींदोज किया। आवासीय भवन के नाम पर कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाने के आरोप में हुई कार्रवाई।

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश में अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ योगी सरकार का एक्शन लगातार जारी है। इसी कड़ी में प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने शुक्रवार को भदोही के ज्ञानपुर विधानसभा सीट से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा (विधायक विजय मिश्रा) के अवैध कॉम्प्लेक्स विजय टॉवर को ध्वस्त कर दिया। अल्लापुर क्षेत्र में पुलिस चौकी के ठीक सामने लगभग 350 वर्ग गज में 4 मंजिला कॉम्प्लेक्स अवैध रूप से बनवाया गया था। यह कॉम्प्लेक्स बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की पत्नी मिर्जापुर सोनभद्र सीट से विधायक रामलली मिश्रा और उनकी सास इंदकली देवी के नाम पर है।

दरअसल, विजय मिश्रा पर आरोप है कि राहिडेंशियल दो मंजिला इसका नक्शा पीडीएफए से पास कर दिया गया था। बेमेंट को मिलाकर चार मंजिली अवैध इमारत खड़ी कर दी गई थी। यूपी में अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ जब कार्रवाई शुरू हुई तो अक्टूबर 2020 में इस कॉम्प्लेक्स को भी गिराने के लिए प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने कार्रवाई शुरू की। उस समय विजय मिश्रा के परिजन कमिश्नर कोर्ट चले गए। कमिश्नर कोर्ट से अर्जी खारिज होने के बाद विजय मिश्रा के परिजनों ने हाईकोर्ट की शरण ली और कॉम्प्लेक्स को बचाने की गुहार लगाई।

रामपुर समाचार: दोलहे की तरह हुई आजम खान पर तख्ततोड़ कार्रवाई करने वाले डीएम की विदाई

लेकिन कोर्ट ने अवैध निर्माण पर विजय मिश्रा को कोई राहत नहीं दी। इसके बाद विजय मिश्रा के परिजनों की ओर से हाईकोर्ट में अंडरटेकिंग दी गई कि छह सप्ताह में अवैध निर्माण खुद को ध्वस्त कर देंगे। विजय मिश्रा ने ठेकेदार शंभुनाथ गुप्ता को अवैध निर्माण के ध्वस्तीकरण का ठेका भी दिया था। दिसंबर 2020 में ध्वस्तीकरण की कार्रवाई भी शुरू हुई थी। लेकिन कोर्ट से मिली मोहलत खत्म होने के बाद भी कॉम्प्लेक्स का अवैध निर्माण नहीं रोका जा सका है। इसके बाद पीडीए के जोनल अधिकारी आलोक पांडेय के नेतृत्व में पहुंची टीमें सरकारी जेसीबी मशीनों से पूरी इमारत को ध्वस्त कर दियापडीए के जोनल अधिकारी आलोक पाण्डेय के मुताबिक, इस इमारत का कामर्शियल इस्तेमाल किया जा रहा था, जबकि इस का नक्शा दोमंजिला रायिडेंशियल के पास था। था। इसलिए पूरी तरह से अवैध अवैध है और पूरी तैयारी का ध्वस्तीकरण कर जमींदोज कर दिया गया है।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments