Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh प्रयागराज डीएम ने रात कर्फ्यू के आदेश में किया संशोधन, अब रात...

प्रयागराज डीएम ने रात कर्फ्यू के आदेश में किया संशोधन, अब रात 9 से सुबह 6 बजे तक रहेगा रात की बंदी


उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में लगाया गया नाइट कर्फ्यू।  (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में लगाया गया नाइट कर्फ्यू। (फाइल फोटो)

यूपी में कोरोना बेकाबू हो गया है और इस साल के मामले केस के मामले में पूरे रिकॉर्ड तोड़ रहा है। कोरोना के संक्रमण को कम करने और इसकी रोकथाम के लिए सरकार लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के विकल्पों पर काम कर रही है। नोएडा, गाजियाबाद के बाद प्रयागराज में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है।

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (कोरोना संक्रमण) बेकाबू हो गया है और इस साल के सारे रिकॉर्ड टूट रहे हैं। कोरोना के संक्रमण को कम करने और रोकने के लिए सरकार लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के विकल्पों पर काम कर रही है। पहले गाजियाबाद और नोएडा में नाइट कर्फ्यू (नाइट कर्फ्यू) लगाने के बाद अब प्रयागराज (प्रयागराज) में भी नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। नाइट कफ़्यू रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा।

इस संबंध में संशोधित आदेश डीएम भानुचंद्र गोस्वामी देर शाम जारी कर दिया है। पहले रात 10 बजे से सुबह 8 बजे तक नाइट कर्फ्यू के आदेश दिए गए थे, लेकिन इसमें बदलाव करते हुए नाइट कर्फ्यू रात 9:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक किया गया है। शेष नियम और शर्तें को पूर्ववत ही रखा गया है।

बता दें कि यूपी में बिजली की रफ्तार से कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है। प्रदेश में पिछले 24 घण्टे में 8490 कोरोना पॉज़िटिव केस मिले हैं। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि इनमें से 50 विशेषताओं में लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर से हैं। प्रदेश में अभी भी सक्रिय केस 39338 हैं। एसीएस अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि सूबे में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविद 19 से 39 और लोगों की मौत हो गई है। अब तक कुल 9003 लोगों की मौत हुई है। 39338 एक्टिव केस में से 50 प्रतिशत मामले 4 जिलों लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर से हैं।

सीएम के निर्देश पर में 1 जिले में भेजे गए अफसर इधर, मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर वरिष्ठ अफसरों को 13 जिलों में नोडल अधिकारी के रूप में तैनात किया गया है। ये सभी नोडल अधिकारी 15 दिन तक संबंधित जिले में ढेर कर डीएम के साथ समन्वय स्थापित करेंगे। और कोरोना संक्रमण के हस्तक्षेप के लिए प्रभावी कदम। इनकी निगरानी खुद मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) करेगा। सीएम योगी प्रदेश में फैल रहे कोरोना संक्रमण को लेकर काफी गंभीर हैं। उन्होंने अस्पतालों में बेडों की संख्या और उपचार की व्यवस्था को और मजबूत बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments