Sunday, December 6, 2020
Home Uttar Pradesh पुलिस को चकमा देने में मदद करती है एक लाख का इनामी...

पुलिस को चकमा देने में मदद करती है एक लाख का इनामी कमलेश माझी गिरफ्तार


एक लाख का इनामी कमलेश माझी गिरफ्तार

एक लाख का इनामी कमलेश माझी गिरफ्तार

बस्ती के एसपी (एसपी) हेमराज मीणा ने बताया कि एक लाख के इनामी कमलेश माझी के पास से दो आवेदनेंसी डीबीबीएल गन, एक रिवाल्वर, 7 कारतूस और एक बाइक बरामद की है।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:
    24 अक्टूबर, 2020, 4:37 अपराह्न आईएसटी

बस्ती। उत्तर प्रदेश के बस्ती (बस्ती) जनपद में पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया एक लाख का इनामी बदमाश कमलेश माझी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। 2016 में पुलिस एनकाउंटर में इस के एक साथी को पुलिस ने मार गिराया था। कमलेश माझी के पैर में गोली लगी थी, जिला अस्पताल से पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। पिछले चार वर्षों से पुलिस को इस की तलाश थी। कमलेश माझी मूल रूप से अयोध्या जनपद के कौशल्याघाट का निवासी है। 27 अप्रैल 2016 को पुलिस को सूचना मिली की बदमाशों का गैंग अयोध्या के आहूजा भट्ठा मालिक से लूट की घटना को अंजाम देने जा रहे हैं। पुलिस ने घेराबंदी कर समय मुठभेड़ हो गई। यह कई लूट और हत्या की घटना को अंजाम दे चुका था।

मुठभेड़ में गैंग के लिए हिस्ट्रीशीटर रामकुमार यादव । मार गिराया था। पुलिस मुठभेड़ में तीन बदमाश, धर्मेन्द्र कुमार, कमलेश व राजकुमार को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बदमाशों की फायरिंग में दरोगा आदित्य यादव के भी पैर में गोली लगी थी। इस दौरान बदमाश कमलेश माझी के पैर में गोली लगी थी, जिसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पुलिस को चकमा देकर 30 अप्रैल 2016 को कमलेश माझी जिला अस्पताल से फरार हो गया था। तब से पुलिस को उस की तलाश थी। उस के ऊपर पुलिस ने एक लाख का इनाम घोषित किया था। पुलिस ने शातिर बदमाश कमलेश माझी को हर्रैया के विशेषगंज मार्ग से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

रौनाही टोल प्लाजा लूट में शामिल कमलेश था

बस्ती के एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि एक लाख के इनामी कमलेश माझी के पास से दो आवेदनेंसी डीबीबीएल गन, एक रिवाल्वर, 7 कारतूस और एक बाइक बरामद की है। हस्तक्षेप में कमलेश ने बताया की 26 अगस्त 2016 में रौनाही टोल प्लाजा पर एक कैश वैन में लूट की घटना हुई थी। कैश वैन के गार्ड को गोली मारकर लूट की घटना हुई थी। उस लूट कांड में दो अपराधी शामिल थे। कमलेश माझी ने बताया की लूट के बाद गार्ड के दो आवेदनों में मूलहे भी लूट लिए गए थे, जो इन के द्वारा मुझे दिया गया था। पुलिस की पूछज़ के बाद कमलेश माझी ने दोनों आवेदनों को मूलरूप के बारे में भी बताया, जिसके बाद पुलिस ने लूटे गए आवेदन पत्र के आधार पर बरामद किया।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

जनवरी से लागू हो सकता है नागरिकता संशोधन कानून: कैलाश विजयवर्गीय

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (फाइल फोटो)।बारासात (पश्चिम बंगाल): भाजपा (भाजपा) के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय (कैलाश विजयवर्गीय) ने शनिवार को कहा...

फाइजर ने भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए कोविड -19 टीके को मंजूरी देने का आवेदन किया

प्रतीकात्मक फोटो।नई दिल्ली: दवा निर्माता कंपनी फाइजर की भारतीय इकाई ने उसके द्वारा विकसित कोविड -19 टीके के आपातकालीन उपयोग की औसत मंजूरी...

त्योहारों के समय ई-कॉमर्स पर मांग 56 प्रतिशत बढ़ी, पहली बार ऑनलाइन खरीदारी करने वालों की संख्या में इजाफा

ई-कोरिया उद्योग को इस त्यौहारी मौसम में पिछले साल के मुकाबले 56 प्रतिशत अधिक संख्या प्राप्त हुई। वहाँ उनके मंच पर बिके...

पश्चिम बंगाल: जेल में बंद सारदा के मालिक ने कई लोगों के पैसे लेने का आरोप लगाया

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो)।कोलकाता: पश्चिम बंगाल में सारदा पोंजी संगठनों के मुख्य आरोपी सुदंत सेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

Recent Comments