Sunday, October 2, 2022
HomeUttar Pradeshनेपाल में यूपी से हो रही गेहूं की तस्करी, पुलिस से लेकर...

नेपाल में यूपी से हो रही गेहूं की तस्करी, पुलिस से लेकर कस्टम तक पहुंच रहा पैसा! SDM के हाथ लगी हिसाब की डायरी


महराजगंज: यूपी के महराजगंज में नौतनवा तहसील के एसडीएम ने सोनौली कोतवाली क्षेत्र के सीमावर्ती गांव शेष फरेंदा के एक गोदाम में छापेमारी की। जहां नेपाल में तस्करी के लिए रखा 80 बोरी गेहूं बरामद किया गया। यह खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश के बोरियों में रखा गेहूं था। इसके बाद एसडीएम ने गोदाम को सील करते हुए आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश क्षेत्र के सप्लाई इंस्पेक्टर को दिया है। वहीं पूछताछ के लिए पुलिस ने दो लोगों को भी अपने हिरासत में लिया है।

भारत नेपाल की खुली सीमा का फायदा उठाकर आए दिन तस्करी की बातें सामने आती हैं। वहीं जब से भारत सरकार ने नेपाल में गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दी है, तब से इस खुली सीमा का फायदा उठाकर तस्कर गेहूं की तस्करी भारी पैमाने पर कर रहे हैं। रविवार को मुखबिर की सूचना पर नौतनवा एसडीएम ने इंडो नेपाल बॉर्डर के गांव शेष फरेंदा के एक गोदाम में छापेमारी कर नेपाल में तस्करी के लिए सरकारी बोरे में रखा हुआ गेहूं बरामद किया है। एसडीएम ने जब इसकी जांच की तो पता चला कि यह गोदाम नौतनवा के एक कोटेदार का है।

काली डायरी में दर्ज है लेन देन का हिसाब
रेड के दौरान एसडीएम ने 80 बोरी गेहूं के साथ-साथ एक काली डायरी भी बरामद किया है। इसमें कई एजेंसियों का नाम भी लिखा हुआ है। एसडीएम दिनेश मिश्रा ने बताया कि डायरी की जांच की जा रही है। एसडीएम के हाथ लगी डायरी में लिखा है कि 2 सितंबर 2022 को 20 हजार कस्टम, 15 हजार कोतवाली, 5 हजार मंडी, 2 हजार CO ड्राइवर, 25 सौ पुलिस, 7 सौ की दारू के अलावा कई लोगों से लेन देन का हिसाब भी दर्ज है।

आरोपियों के विरुद्ध होगी कड़ी कार्रवाई
रेड के बाद नौतनवा एसडीएम ने गोदाम को सील करते हुए आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए सप्लाई इंस्पेक्टर को निर्देशित किया है। नौतनवा एसडीएम दिनेश मिश्रा ने बताया कि छापेमारी में नेपाल तस्करी के लिए रखी हुई सरकारी बोरे में 80 बोरे गेहूं बरामद हुआ, जिसको साइकिल के माध्यम से तस्कर और कैरियर नेपाल ले जाते हैं। एक कोटेदार का नाम सामने आ रहा है, जिसको लेकर भी जांच की जा रही है। वहीं बरामद काली डायरी की भी जांच की जा रही है।
रिपोर्ट – विजय कुमार गुप्ता



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments