Thursday, June 30, 2022
HomeIndiaदेश में 214 दिन में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या सबसे...

देश में 214 दिन में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या सबसे कम


Image Source : PTI
देश में 214 दिन में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या सबसे कम

नई दिल्ली. भारत में एक दिन में कोविड-19 के 15,823 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर बुधवार को 3,40,01,743 हो गई। वहीं, मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 98.06 प्रतिशत हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से 226 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,51,189 हो गई।

देश में लगातार 19 दिनों से कोविड-19 के दैनिक मामले 30 हजार से कम और 108 दिन से 50 हजार से कम नए दैनिक मामले सामने आ रहे हैं। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी कम होकर 2,07,653 रह गई है, जो कुल मामलों का 0.61 प्रतिशत है। देश में 214 दिन में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या सबसे कम है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 7,247 की कमी दर्ज की गई। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर बढ़कर 98.06 प्रतिशत हो गई है।

आंकड़ों के अनुसार, दैनिक संक्रमण दर 1.19 प्रतिशत है, जो पिछले 44 दिनों से तीन प्रतिशत से कम है। वहीं, साप्ताहिक संक्रमण दर 1.46 प्रतिशत है, जो पिछले 110 दिन से तीन प्रतिशत से कम बनी हुई है। देश में अभी तक कुल 58,63,63,442 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 13,25,399 नमूनों की जांच मंगलवार को की गई। अभी तक कुल 3,33,42,901 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं, जबकि वैश्विक महामारी से मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत है।

राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 96.43 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में जिन 226 लोगों की मौत संक्रमण से हुई, उनमें से केरल के 106 और महाराष्ट्र के 43 लोग थे। देश में संक्रमण से अभी तक कुल 4,51,189 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 1,39,621, कर्नाटक के 37,906, तमिलनाडु के 35,814, केरल के 26,448, दिल्ली के 25,089, उत्तर प्रदेश के 22,896 और पश्विम बंगाल के 18,924 लोग थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की संक्रमण से मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं। 





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments