Thursday, August 5, 2021
Home Desh डॉ। रेड्डीज़ को कोविद -19 वैक्सीन के दूसरे-तीसरे चरण के मानव परीक्षणों...

डॉ। रेड्डीज़ को कोविद -19 वैक्सीन के दूसरे-तीसरे चरण के मानव परीक्षणों का संचालन करने की मंजूरी मिली – डॉ। रेड्डीज को कोविद -19 के टीके के दूसरे-तीसरे चरण का मानव परीक्षण करने की मंजूरी मिली


डॉ। रेड्डीज को कोविड -19 के टीके के दूसरे-तीसरे चरण का मानव परीक्षण करने की मंजूरी मिली

प्रतीकात्मक तस्वीर

हैदराबाद:

डॉ। रेड्डीज लेबोरेटरीज लिमिटेड को कोविड -19 के रूस में बने टीके स्पूतनिक वी का भारत में दूसरे व तीसरे चरण का मानव परीक्षण करने की मंजूरी मिल गयी है। कंपनी ने एक बयान में इसकी जानकारी दी। कंपनी ने बताया कि उसे और रसियन डाइरेक्ट इवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) को भारतीय दवा महा नियंत्रक (डीजीसीआई) से यह मंजूरी प्राप्त हुई है। कंपनी ने कहा कि यह एक नियंत्रक अध्ययन होगा, जिसे कई केंद्रों पर किया जाएगा।

यह भी पढ़ें

इससे पहले सितंबर 2020 में डॉ.रेड्डीज़ और आरडीआईएफ ने स्पुतनिक वी वैक्सीन के परीक्षण और भारत में इसके वितरण के लिए साझेदारी की थी।

यह भी पढ़ें- दिल्ली में कोविद -19 के 3428 नए मामले सामने आए, 22 लोगों की मौत

साझेदारी के तहत आरडीआईएफ भारत में विनियामक अनुमोदन पर डॉ.रेड्डीज को वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक की आपूर्ति करेगा।

यह भी पढ़ें- देश में कोरोना के मामले 74 लाख के पार, 8 लाख से कम हुए एक्टिव केस

कंपनी के सह चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक जीवी प्रसाद ने कहा, "यह एक महत्वपूर्ण खबर है, जो हमें भारत में नैदानिक ​​परीक्षण शुरू करने की अनुमति देता है। हम महामारी से सामना के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी टीका लाने को प्रतिबद्ध हैं।"

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी बोले- कोरोना के काल में भी कुपोषण के खिलाफ अहम जंग लड़ रहे हैं भारत

आरडीआईएफ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) किरिल दमित्रिएव ने कहा, "हम भारतीय मीडियाको के साथ कर कर खुश हैं। हम भारत में होने वाले परीक्षण के साथ ही रूस में तीसरे चरण के परीक्षण के डेटा को साझा करेंगे। इससे स्पूस्टिक वी के क्लिनिकल। विकास में मदद मिलेगी।

रवीश कुमार का प्राइम टाइम: कोरोना को लेकर लापरवाही क्यों?

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने साझा नहीं किया है। यह सिंडीकेट ट्वीट से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- ‘महिलाएं आनंद की वस्तु हैं’ पुरुष वर्चस्व की इस मानसिकता से सख्ती से निपटना जरूरी, पढ़ें मामला

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक महत्वपूर्ण आदेश में कहा है कि शादी का झूठा वादा कर यौन संबंध बनाना कानून में दुराचार का अपराध...

2020 से बेहतर हुई यूपी के खजाने की स्थिति, जुलाई में 12655 करोड़ आए : सुरेश खन्ना

प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण का सकारात्मक असर राज्य की आर्थिक गतिविधियों में नजर आने लगा है। चालू वित्तीय वर्ष के...

सदर अस्पताल प्रांगन में ऑक्सीजन प्लांट की भी शुरुआत हो जाएगी: सिविल सर्जन सिविल सर्जन की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की मासिक समीक्षात्मक...

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी बैठक में स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रम की समीक्षा की गई अन्य प्रदेश से आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच आवश्यक: किशनगंज, जिले में...

विश्व स्तनपान सप्ताह: स्वास्थ्यकर्मी स्तनपान को लेकर कर रहे जागरूक

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी एनएफएचएस—5 की रिपोर्ट जिला में 42.4 फीसदी शिशु ही कर पाते हैं पहले घंटे में स्तनपान: नियमित स्तनपान से शिशुओं को गंभीर...

Recent Comments