Saturday, May 28, 2022
HomeUttar Pradeshज्ञानवापी मस्जिद सर्वे रिपोर्ट न्यूज: ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे शुरू हो गया है,...

ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे रिपोर्ट न्यूज: ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे शुरू हो गया है, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामला, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी वीडियोग्राफी में क्या निकला, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी जांच में क्या हुआ, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी वाराणसी न्यूज, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी उत्तर प्रदेश हिंदी न्यूज, यूपी हिंदी न्यूज, ज्ञानवापी मस्जिद की ताजा खबर क्या है, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी विवाद क्या है, ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी अपडेट, gyanvapi masjid survey today live update, gyanvapi masjid mamla kya hai, gyanvapi masjid ki taja khabar, gyanvapi masjid ki news, gyanvapi masjid case live update


अभिषेक कुमार झा, वाराणसी: ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे (Gyanvapi masjid survey) से जुड़ा पहले दिन का काम पूरा हो गया है। सर्वे से जुड़ी टीम परिसर से बाहर आ गई है। वहीं सर्वे की गई जगह को सील कर दिया गया है। कोर्ट के आदेश के बाद इस बेहद संवेदनशील मामले में शनिवार को एक नया इतिहास बना है। ऐसा पहली बार हो रहा है कि मस्जिद परिसर के अंदर महिलाओं ने प्रवेश किया है। जानकारी के अनुसार सर्वे के दौरान कथित तहखानों के चार दरवाजों को खोला गया। वहीं तालों में जंग लगा हुआ था, तालों को तोड़ कर टीम अंदर गई। वहीं टीम ने बाहर निकलने के बाद कहा कि सर्वे में निकली जानकारी कहा कोर्ट की प्रॉपर्टी है। सभी जानकारी 17 तारीख को अदालत के सामने रखा जाएगा।

रेखा पाठक, मंजू व्यास, लक्ष्मी देवी, राखी सिंह और सीता साहू ने श्रृंगार गौरी नियमित दर्शन के लिए याचिका दी थी, जिसके बाद सर्वे टीम के साथ इन्हें भी जाने की इजाजत कोर्ट से दी गई। शनिवार को सर्वे टीम में कुल 52 लोग शामिल रहें। इसमें वादी, प्रतिवादी पक्ष के साथ सिविल जज के द्वारा नियुक्त कोर्ट कमिश्नर भी मौजूद रहें।

मुस्लिम पक्ष का पहला विरोध महिलाओ को लेकर था
अप्रैल के दूसरे हफ्ते में जब सभी टीम के साथ वादी महिलाओं को भी जाने की इजाजत दी गई थी। उस वक्त मीडिया में मुस्लिम पक्ष की तरफ से इस बात का विरोध किया गया था। हालांकि विरोध करते समय इस बात का जिक्र अदालत में नहीं किया गया। अदालत में सिर्फ इस तर्क को रखा गया कि गैर मुस्लिम प्रवेश नहीं कर सकते। इस आदेश के खिलाफ 21 अप्रैल को मुस्लिम पक्ष हाईकोर्ट गया था, जहां से उनकी याचिका खारिज हो गई थी। इसके बाद वादी महिलाओं को भी मस्जिद के अंदर जाने का रास्ता साफ हो गया था।

राखी सिंह के अलावा सभी महिलाएं सर्वे टीम के साथ
मुख्य वादिनी राखी सिंह व्यक्तिगत कारणों की वजह से आज सर्वे टीम के साथ शामिल नहीं हो पाईं। लेकिन उनके साथ अन्य वादिनी महिलाएं मंजू व्यास, लक्ष्मी देवी, सीता साहू और रेखा पाठक सर्वे टीम के साथ मस्जिद के अंदर गई। ज्ञानवापी मस्जिद के इतिहास में ऐसा पहली बार ऐसा हुआ है कि सुरक्षाकर्मी के अलावा पहली बार गैर मुस्लिम पुरुषों के साथ महिलाओ ने मस्जिद के अंदर प्रवेश किया।

साढे़ तीन घंटे चली सर्वे की प्रक्रिया
जानकारी के मुताबिक सर्वे की प्रक्रिया शनिवार को पहले दिन करीब साढ़े तीन घंटे चली। इस दौरान कुल 52 सदस्य टीम में थे। इसमें तीन कोर्ट कमिश्नर के साथ सभी पक्ष मौजूद रहे। पहले दिन कथित तहखानों के चार दरवाजों को खोला गया। प्रशासन ने तहखानों को खोलने के लिए रोशनी का इंतजाम किया था। टीम ने बाहर निकलने के बाद कहा कि सर्वे में निकली जानकारी कहा कोर्ट की प्रॉपर्टी है, जिसे 17 तारीख को अदालत के सामने रखा जाएगा। वहीं हिंदू पक्ष के वकील के अनुसार करीब पचास फीसदी जगह पर सर्वे का काम हो गया है।

सभी पक्षों ने सर्वे में दिया सहयोग
वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि कोर्ट के आदेश के मुताबिक सर्वे का काम रविवार को भी होगा। शनिवार को सर्वे का काम ठीक तरीके से पूरा हो गया है। पुलिस को कोर्ट की तरफ से आदर्श व्यवस्था देने के लिए निर्देश मिला था। सर्वे के दौरान दोनों पक्षों ने भी सहयोग दिया।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments