Saturday, February 24, 2024
HomePradeshUttar Pradeshजी-20 समिट के दृष्टिगत एन0सी0आर0 में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबन्द रखें-मुख्यमंत्री

जी-20 समिट के दृष्टिगत एन0सी0आर0 में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबन्द रखें-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने आगामी पर्वों एवं त्योहारों के दृष्टिगत सुदृढ़ कानून-व्यवस्था व श्रद्धालुओं की सुविधाओं के सम्बन्ध में की जा रही तैयारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की
प्रशासन यह सुनिश्चित करे कि प्रदेश में पर्व और त्योहार हर्ष एवं उल्लास के साथ आयोजित हों : मुख्यमंत्री
फील्ड में तैनात अधिकारी आम जनता के लिए अपने कार्यालयों के द्वार खुले रखें, जनपद स्तर पर एक मैकेनिज्म बनाकर जनसुनवाई करें
रक्षाबन्धन पर्व के दृष्टिगत 29 अगस्त की मध्य रात्रि से 31 अगस्त की मध्य रात्रि तक परिवहन विभाग तथा नगर बस सेवा माताओं-बहनों को निःशुल्क बस सुविधा उपलब्ध कराए
थाने से लेकर जिला, रेंज, जोन तक के वरिष्ठ अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी महिलाओं के साथ कोई अप्रिय घटना न घटे
त्योहारों का यह समय कानून-व्यवस्था के दृष्टिगत अति संवेदनशील, अतः हमें सतत सतर्क और सावधान रहना होगा
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व प्रदेश के सभी थानों, पुलिस लाइन और जेल में सात्विक तौर पर तथा पूरे उल्लास के साथ मनाया जाए
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर प्रदेश में निकलने वाली शोभा यात्राओं तथा चेहल्लुम पर निकलने वाले जुलूसों के दृष्टिगत आयोजकों और धर्मगुरुओं से पहले ही संवाद कर लिया जाए
गोकशी और गो-तस्करी के मामलों में कठोरतम कार्रवाई करें
जिला प्रशासन, पुलिस और प्राधिकरण आपसी समन्वय बनाकर अवैध स्टैण्ड संचालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें
अवैध और मिलावटी शराब के खिलाफ अभियान चलाकर रोक लगाएं
बारिश और बाढ़ की स्थिति को लेकर नगर निकाय और ग्राम पंचायतों में फॉगिंग और एण्टी लार्वा का छिड़काव कराने के निर्देश

 

लखनऊ :  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ   ने  यहां अपने सरकारी आवास पर आगामी पर्वों एवं त्योहारों के दृष्टिगत सुदृढ़ कानून-व्यवस्था व श्रद्धालुओं की सुविधाओं के सम्बन्ध में शासन स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पुलिस कमिश्नरों, मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों व पुलिस अधीक्षकों द्वारा की जा रही तैयारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की और व्यापक जनहित में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि प्रशासन यह सुनिश्चित करे कि पूरे प्रदेश में पर्व और त्योहार हर्ष एवं उल्लास के साथ आयोजित हों। फील्ड में तैनात अधिकारी आम जनता के लिए अपने कार्यालयों के द्वार खुले रखें। जनपद स्तर पर एक मैकेनिज्म बनाकर जनसुनवाई करें। किसी भी मामले को लम्बित न रखें, बल्कि त्वरित निस्तारण की प्रक्रिया अपनाएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बेहतर टीम वर्क, सतत संवाद और सभी वर्गों से मिल रहे सहयोग का ही परिणाम है कि हाल के वर्षों में प्रदेश में सभी पर्व-त्योहार शांति और सौहार्दपूर्ण माहौल में सम्पन्न हो रहे हैं। टीमवर्क और जनसहयोग का यह क्रम सतत जारी रखा जाए। उन्होंने कहा कि आगामी 30-31 अगस्त, 2023 को रक्षाबन्धन का पवित्र पर्व है। इसके दृष्टिगत 29 अगस्त की मध्य रात्रि से 31 अगस्त की मध्य रात्रि तक परिवहन विभाग तथा नगर बस सेवा माताओं-बहनों के लिए निःशुल्क बस की सुविधा उपलब्ध कराए। यह भी सुनिश्चित करें कि ड्राइवर या कण्डक्टर नशे में न हों और बसों की हालत अच्छी हो। इसके अलावा, थाने से लेकर जिला, रेंज, जोन तक के वरिष्ठ अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि कहीं भी महिलाओं के साथ कोई अप्रिय घटना न घटे। माताओं-बहनों की सुरक्षा को लेकर खतरा बने असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि त्योहारों का यह समय कानून-व्यवस्था के दृष्टिगत अति संवेदनशील है। अतः हमें सतत सतर्क और सावधान रहना होगा। हर पर्व शांति और सौहार्द के बीच सम्पन्न हों, इसके लिए स्थानीय आवश्यकताओं को देखते हुए सभी जरूरी प्रयास किए जाएं। छोटी सी घटना लापरवाही के कारण बड़े विवाद का रूप ले सकती है। ऐसे में अतिरिक्त सतर्कता आवश्यक है। उन्होंने कहा कि 06 व 07 सितम्बर को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व है, तो वहीं 07 सितम्बर को चेहल्लुम का जुलूस भी निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व प्रदेश के सभी थानों, पुलिस लाइन और जेल में सात्विक तौर पर तथा पूरे उल्लास के साथ मनाया जाए।
बैठक में यह अवगत कराया गया कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर प्रदेश में 1256 शोभा यात्राएं निकाली जाएंगी। चेहल्लुम पर 3005 जुलूस निकलेंगे। मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित किया कि इसके दृष्टिगत आयोजकों और धर्मगुरुओं से पहले ही संवाद कर लिया जाए। सिर्फ परम्परागत जुलूस और शोभा यात्रा को अनुमति दें। अलग-अलग समय पर शोभा यात्राएं और जुलूस निकाले जाएं। इस दौरान हथियारों का प्रदर्शन न होने पाए। उन्होंने कहा कि पर्व और त्योहार के अवसर पर सभी जनपदों में विद्युत की निर्बाध आपूर्ति हो। कोई भी प्लाण्ट डाउन नहीं होना चाहिए, जहां भी फॉल्ट हो उसे तत्काल ठीक कराएं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में जी-20 की मुख्य और प्रतिष्ठित समिट का आयोजन होना है। इसमें अनेक राष्ट्राध्यक्ष शामिल होंगे। इसके दृष्टिगत गृह विभाग एन0सी0आर0 में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबन्द रखें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गोकशी और गो-तस्करी के मामलों में कठोरतम कार्रवाई करें। साथ ही, जेल से बाहर आए चिन्हित माफिया को लेकर सतर्क रहें। निराश्रित गोवंश सड़कों पर न मिलें। जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करें कि गो-आश्रय स्थलों को समय पर धनराशि उपलब्ध हो। तहसील स्तर पर अभियान चलाकर वरासत के मामलों की समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि अवैध बस और टैक्सी स्टैण्ड सुचारु परिवहन की सबसे बड़ी बाधा हैं। जिला प्रशासन, पुलिस और प्राधिकरण आपसी समन्वय बनाकर अवैध स्टैण्ड संचालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।
मुख्यमंत्री  ने आबकारी विभाग को निर्देशित किया कि अवैध और मिलावटी शराब के खिलाफ अभियान चलाकर रोक लगाएं। इस कृत्य में लिप्त पाए गए लोगों के खिलाफ सख्ती से निपटा जाए। मुख्यमंत्री जी ने बारिश और बाढ़ की स्थिति को लेकर नगर निकाय और ग्राम पंचायतों में फॉगिंग और एण्टी लार्वा का छिड़काव कराने के निर्देश दिए। उन्होंने बाढ़ के कारण हुई जनहानि पर प्रभावितों को तत्काल 04 लाख रुपए की आर्थिक मदद उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments