Thursday, January 20, 2022
HomeUttar Pradeshचुनाव आयोग ने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को नोटिस भेजा है,...

चुनाव आयोग ने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को नोटिस भेजा है, सपा पर बिना अनुमति रैली करने का आरोप है akhilesh yadv samajwadi party uttar pradesh chunav latest update 2022


हाइलाइट्स

  • सपा की रैली को लेकर चुनाव आयोग सख्त
  • नोटिस भेजकर 24 घंटे के अंदर मांगा जवाब
  • जवाब नहीं मिलने पर होगी सख्त कार्रवाई

लखनऊ
समाजवादी पार्टी (samajwadi party) मुख्यालय पर बिना अनुमति आयोजित की गई रैली के मामले में चुनाव आयोग (election commission) ने नोटिस जारी किया है। चुनाव आयोग ने 24 घंटे के अंदर जवाब देने के लिए कहा है। 14 जनवरी को चुनाव आयोग द्वारा जारी की गई नोटिस में कहा गया है कि सपा ने आदर्श आचार संहिता (MCC) और कोविड गाइड लाइन (Covid) का उल्लंखन किया है। इस संबंध में उत्तर प्रदेश मुख्य निवार्चन अधिकारी रिपोर्ट मिली है।
Rallies Ban: उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में 22 जनवरी तक चुनावी रैली पर रोक, चुनाव आयोग ने जारी की नई गाइडलाइन
इस रिपोर्ट में विक्रमादित्य मार्ग स्थित सपा कार्यालय पर बिना अनुमति आयोजित रैली का जिक्र किया गया है। इस आदर्श आचार संहिता और कोविड गाइड लाइन का उल्लंघन होना पाया गया। इसके बाद लखनऊ पुलिस द्वारा सपा के करीब 2500 कार्यकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज की गई। वहीं चुनाव आयोग ने सपा महासचिव को भेजे गए नोटिस में कहा है कि उनका स्पष्टीकरण, नोटिस मिलने के 24 घंटे के अंदर आयोग के पास पहुंचना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर आयोग बिना कोई सूचना दिए कार्रवाई के संबंध में उपयुक्त फैसला ले लेगा।
UP Chunav: सपा रालोद गठबंधन के उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी, इन सात नेताओं को मिला टिकट
अखिलेश यादव की मौजूदगी में हुई रैली
14 जनवरी को समाजवादी पार्टी (samajwadi party) मुख्यालय पर बिना अनुमति आयोजित की गई। इस रैली को अखिलेश यादव (akhilesh yadav) के नेतृत्व में डिजिटल रैली बताकर आयोजित किया गया था। इस दौरान स्वामी प्रसाद मौर्य (swami prasad maurya) समेत बीजेपी छोड़ने वाले अन्य विधायक मंत्री सपा में शामिल हुए। इस दौरान कार्यक्रम में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल सहित पार्टी के तमाम बड़े नेता भी उपस्थित थे।

पुलिस ने शुक्रवार को दर्ज की एफआईआर
सपा कार्यालय पर आयोजित इस रैली में जमकर भीड़ उमड़ी थी। इसकी जानकारी मिलने के बाद लखनऊ जिला प्रशासन और निवार्चन आयोग ने मामले को सख्ती से लिया। लखनऊ के डीएम और जिला निवार्चन अधिकारी अभिषेक प्रकाश ने जांच के लिए लखनऊ पुलिस की एक टीम भी भेजी। इसके बाद कोविड महामारी एक्ट, आदर्श आचार संहिता उल्लंघन समेत अन्य आईपीसी धाराओं के तहत गौतमपल्ली थाने में एफआईआर दर्ज की गई।

akhilesh yadav

akhilesh yadav



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments