Wednesday, April 14, 2021
Home Desh चुनाव आयोग का आदेश- कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट चुनाव से PM मोदी की...

चुनाव आयोग का आदेश- कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट चुनाव से PM मोदी की तस्वीर हटाएं


चुनाव आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को उन चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में होने वाले को विभाजित -19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों से हटा दिया जाए।

पीएम मोदी

ईसी का आदेश – कोरोना वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर से हटाए गए मोदी की तस्वीर (फोटो क्रेडिट: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

कोरोना वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तस्वीर को चुनाव आयोग ने आचार संहिता का उल्लंघन माना है। चुनाव आयोग ने टीएमसी की शिकायत पर स्वास्थ्य मंत्रालय से कहा है कि वह चुनावी नियमों का पालन करे। चुनाव आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को उन चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में होने वाले को विभाजित -19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों से हटा दिया जाए, जहां इस साल चुनाव होने वाले हैं। मामले से परिचित लोगों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: बिहार के गोपालगंज जहरीली शराबकांड में 9 को फांसी, 4 महिलाओं को उम्रकैद

चुनाव आयोग का कहना है कि तस्वीरें आचार संहिता का उल्लंघन करती हैं, साथ ही चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय को ये भी बताया कि “आदर्श आचार संहिता का स्तर एक स्तर को सुनिश्चित करना है, यह अनुचित प्रचार के रूप में गिना जा सकता है। ” दरअसल चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ ब्रायन की शिकायत पर मंत्रालय से जवाब मांगने के कुछ दिनों बाद कहा कि प्रमाणपत्रों के जरिए पीएम “अपने पद और शक्तियों का फायदा उठा रहे थे।”

यह भी पढ़ें: आज 5 घंटे जाम रहेगा केएमपी एक्सप्रेस-वे, किसान आंदोलन का 100 वां दिन

टीएमसी की शिकायत पर स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना था कि टीकाकरण प्रणाली को चुनावों की घोषणा से पहले डिजाइन किया गया था। मंत्रालय ने बताया कि प्रमाण पत्र जारी योजना के अनुसार जारी किए गए थे। आदर्श आचार संहिता बाद में लागू हुई। चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, असम और पुडुचेरी के लिए 26 फरवरी को मतदान कार्यक्रम की घोषणा की थी। मामले से परिचित व्यक्ति ने कहा कि यह आवश्यक था कि तस्वीरों को चुनाव से जुड़े राज्यों में बांटे गए प्रमाणपत्रों से हटा दिया जाए, साथ उन्होंने यह भी बताया कि यह प्रणाली अन्य राज्यों में जारी रह सकती है। भारत ने 1 मार्च को अपने टीकाकरण अभियान का दूसरा चरण शुरू कर लिया है जिसमें 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को और 45 साल से ऊपर के उन लोगों को टीका लगाया जा रहा है जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं।



संबंधित लेख

पहली प्रकाशित: 06 मार्च 2021, 08:57:19 पूर्वाह्न

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाईल ऐप्स।




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments