Thursday, August 6, 2020
Home Pradesh Uttar Pradesh गोरखपुर: एक ऐसा मंदिर जहां पर पिछले 52 सालों से लगातार जारी...

गोरखपुर: एक ऐसा मंदिर जहां पर पिछले 52 सालों से लगातार जारी है संकीर्तन | ayodhya – समाचार हिंदी में


गोरखपुर: एक ऐसा मंदिर जहां पर पिछले 52 वर्षों से लगातार जारी है संकीर्तन

एक ऐसा मंदिर जहां पर पिछले 52 सालों से लगातार जारी है संकीर्तन

गोरखपुर (गोरखपुर) में गीता वाटिका आज राधा कृष्ण भक्ति का अलौकिक राष्ट्रीय केंद्र है, इसकी स्थापना हनुमान प्रसाद पोद्दार ने की थी।

गोरखपुर। सीएम सिटी गोरखपुर (गोरखपुर) में गीता राष्ट्रपति की स्थापना करने वाले हनुमान प्रसाद पोद्दार किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं, जहां हनुमान प्रसाद पोद्दार के प्रयास से जिस तरह से घर घर धार्मिक पुस्तकें पहुंचती हैं। उसी तरह के प्रयास से आज राम मंदिर के निर्माण का सपना भी पूरा होने जा रहा है। 1949 में जब अयोध्या में भगवान श्रीराम का प्रकटोत्सव हुआ तो उस समय हनुमान प्रसाद पोद्द्दार वहां मौजूद थे। गीता वाटिका के व्यवस्थापक हरि प्रसाद दुजानी कहते हैं कि भगवान के प्रकट होने के बाद वहां की व्यवस्था को हनुमान प्रसाद पोद्दार ने ही संभाला थी। एक तरफ जहां संघर्ष के मोर्चे पर गोरक्षपीठ के महंत दिग्विजयनाथ थे तो वहीं सबकुछ व्यवस्थित करने में हनुमान प्रसाद पोद्दार की अहम भूमिका रही।

गोरखपुर में गीता वाटिका आज राधा कृष्ण भक्ति का अलौकिक राष्ट्रीय केंद्र है, इसकी स्थापना हनुमान प्रसाद पोद्दार ने की थी। आज जहां पर गीता वाटिका है, वह जमीन कभी कोलकाता के सेठ घनश्याम दास की हुई थी। 1933 में इसे गीता वाटिका के लिए लाया गया। 1934 से हनुमान प्रसाद पोद्दार वहां पर रहने के लिए चले गए। उसके बाद से यहां पर जो भक्ति की धार बही वह आज तक अनवरत रूप से प्रवाहित हो रही है।

ये भी पढ़ें- अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से भूमि पूजन समरोह में भाग लेंगे आडवाणी और जोशी

दुजानी बताते हैं कि गीता वाटिका में पहले संकीर्तन एक दो दिन फिर एक सप्ताह और फिर एक महीने के होने लगे। 1968 में राधाष्टमी के लिए अखंड हरिनाम संकीर्तन की शुरूआत हनुमान प्रसाद पोद्दार ने की, जो आज जारी है। 22 मई 1971 को भाई जी का महाप्रयाण हुआ फिर भी ये संकीर्तन बंद नहीं हुआ। पिछले 52 वर्षों से लगातार यहां पर राम हरे कृष्ण का संकीर्तन जारी है। साथ ही जो ज्योति प्रज्लित की गयी थी वह ज्योति भी निरंतर जल रही है। अखंड संकीतर्न करने के लिए तीन-तीन घंटे की शिफ्ट बनाई गई है। एक बार की शिफ्ट में तीन लोग बैठते हैं। और ये लोग लगातार यहां पर बिना रुके बिना थके संकीतर्न करते रहते हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

आदित्य योगीनाथ ट्विटर पर पीएम मोदी के नाम से ट्रेंड कर रहे हैं

योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का किया स्वागतनई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में विभिन्न स्थानों के नाम बदलने को लेकर चर्चा चल रही है...

मॉल्स की कमाई इस साल कम होने की उम्मीद: क्रिसिल | मॉल्स की कमाई इस साल घटकर आधी होने की आशंका: क्रिस्टिल

नई दिल्ली, 5 अगस्त (आईएएनएस)। कोरोना काल में बुरी तरह प्रभावित मॉल्स की कमाई चालू वित्त वर्ष में घटकर आधी रह...

Recent Comments