Sunday, June 26, 2022
HomeIndia‘गंगू बाई' के सीन का इस्तेमाल करना कराची के रेस्तरां को पड़ा...

‘गंगू बाई’ के सीन का इस्तेमाल करना कराची के रेस्तरां को पड़ा भारी, सोशल मीडिया पर हो रही किरकिरी


Pakistani restaurant uses scenes from film Gangubai for advertisement- India TV Hindi
Image Source : TWITTER
Pakistani restaurant uses scenes from film Gangubai for advertisement

Highlights

  • सीन के इस्तेमाल करने पर भारी किरकिरी हुई
  • गंगू बाई फिल्म के सीन का कर रहा था इस्तेमाल
  • मूवी के सीन का इस्तेमाल करने पर भारी किरकिरी

Pakistan: पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची में एक लोकप्रिय रेस्तरां ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए आलिया भट्ट की ‘गंगू बाई’ फिल्म के सीन का इस्तेमाल कर रहा था। जब मामला सोशल मीडिया तक पहुंचा तो रेस्तरां की जबरदस्त ट्रोलिंग शुरू हो गई। ‘स्विंग्स’ नामक कराची के रेस्तरां की गंगू बाई फिल्म के एक सीन के इस्तेमाल करने पर भारी किरकिरी हुई। 

गंगू बाई के किस सीन का इस्तेमाल

दरअसल, गंगू बाई फिल्म एक यौनकर्मी के असल जीवन पर आधारित है जो अपने ही समुदाय से महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ती है। मुंबई के कमाठीपुरा में छोड़े जाने के बाद वेश्यावृति के लिए मजबूर कर दी गयी गंगू बाई अपने पहले ग्राहक को आकर्षित करने का भरसक प्रयास करती है। उसके क्लिप और डायलॉग ‘‘आ जा ना राजा–किस बात का कर रहा है तू इंतजार’ को रेस्तरां में ‘पुरूषों के लिए विशेष दिन’ पर ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए इस्तेमाल किया गया है। 

रेस्तरां मालिक ने आधे मन से माफी मांगी

रेस्तरां की पोस्ट में कहा गया है, ‘‘स्विंग्स राजा को यहां बुला रहा है। आ जाओ और स्विंग्स में सोमवार को पुरूषों के विशेष दिन पर 25 फीसद छूट का आनंद लो। ’’ सोशल मीडिया पर भारी किरकिरी होने और अपने ग्राहकों के निशाने पर आने के बाद रेस्तरां मालिक ने आधे मन से माफी मांगी जिसके बाद ‘स्विंग्स’ की और निंदा होने लगी। लोगों की भावना इस रेस्तरां की इस हरकत से आहत हुई है जिसने अपने सोशल मीडिया पेज पर अपने प्रचार के हथकंडे के तौर पर संजय लीला भंसाली की फिल्म से एडिट की हुई क्लिप को अपनी मार्केटिंग के तौर पर इस्तेमाल किया। 

सोशल मीडिया पर रेस्तरां की किरकिरी

प्रचार के इस तौर तरीके पर सोशल मीडिया पर आलोचनाओं की बाढ़ आ गयी। कंटेंट क्रिएटर डेनियल शेख ने फेसबुक पर लिखा, ‘‘यह क्या है? यह तो महिलाओं के यौन उत्पीड़न को बढ़ावा देना और उन महिलाओं का मजाक उड़ाना है जिन्हें वेश्या बनने के लिए मजबूर होना पड़ा।’’ एक अन्य उपयोगकर्ता ने लिखा, ‘‘यदि आप सोचते हैं कि यह किसी तरह की मार्केटिंग स्ट्रेट्जी है और इससे आपके प्रति लोगों का ध्यान जाएगा या ग्राहक मिलेंगे तो दुर्भाग्यवश आप गलतफहमी में हैं। वेश्यावृति पर आधारित फिल्म की एक क्लिप का इस्तेमाल करना यह दर्शाता है कि आप प्रचार के लिए कितने नीचे एवं उथले हो सकते हैं।’’





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments