Saturday, January 16, 2021
Home World कोरोना को लेकर अपमानजनक चीन का नाज़? आखिरकार जांच के लिए...

कोरोना को लेकर अपमानजनक चीन का नाज़? आखिरकार जांच के लिए वुहान पहुंची डब्ल्यूएचओ की टीम


कोरोनावायरस ने लाखों लोगों की जान ले ली है। लेकिन इसकी शुरुआत को लेकर अब तर्रक कुछ साफ नहीं हुआ है। आखिर कोरोनावायरस के सीखने में फैलने की सच्चाई क्या है, चीन के वुहान शहर में इसकी उत्पत्ति का रहस्य क्या है? अब लग रहा है कि इन बातों से जल्द ही तेजी उठेगी। दरअसल, विश्व स्वास्थ्य संगठन के 10 विशेषज्ञ कोरोनावायरस महामारी की उत्पत्ति के मामले में अपनी जांच शुरू करने के क्रम में वुहान शहर का दौरा करने पहुंचे हैं। वुहान चीन का वह शहर है जहां 2019 के दिसंबर में सबसे पहले कोरोनावायरस का पता चला था।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने जानकारी दी थी कि विशेषज्ञ गुरुवार को वुहान पहुंचेंगे। उनके कार्यक्रम का अन्य ब्योरा घोषित नहीं किया गया है और चीन सरकार के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने भी अन्य कोई जानकारी नहीं दी है।

चीन का कहना है कि बाहर से आया वायरस है

डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस ने कहा, विजेताओं के मामलों में संक्रमण के संभावित स्रोत का पता लगाने के लिए वुहान में अध्ययन शुरू होगा। चीन स्वतंत्र रूप से जांच की मांग को खारिज करता रहा है, जबकि कोरोनावायरस की उत्पत्ति के मामले में सभी अध्ययनों पर सख्ती से नियंत्रण बनाए रखना है। वह इस तरह की धारणाओं को भी हवा दे रहा है कि कहीं बाहर से चीन में यह वायरस आया हो सकता है।

ड्रैगन ने पहले लगाया था जांच में अडंगा

इससे पहले चीन की तरफ से टीम को वुहान जाने से रोका दिया गया था। इस पर डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एडनोम ने नाराजगी जताई थी। उन्होंने कहा कि उन्होंने टीम को अनुमति देने के लिए चीन को फोन किया है। टेड्रोस ने कहा कि मैं इस खबर से बहुत निराश हूं। उन्होंने आगे कहा कि मैं वरिष्ठ चीनी अधिकारियों को साफ कर दिया है कि ये मिशन डब्ल्यूएचओ और अंतर्राष्ट्रीय टीम के लिए प्राथमिकता है।

पिछली बार मनाया किए जाने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख कार्यक्रमों के प्रमुख माइकल रेयान ने कहा था कि विशेषज्ञों को पहले ही वहाँ पहुँचना था, लेकिन उन्हें वीज़ा सहित अन्य आवश्यक मंजूरी नहीं दी गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से पिछले साल मुलाकात की थी। बता दें कि कोरोनावायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए डब्ल्यूएचओ ने वैज्ञानिकों की एक टीम का गठन किया है। यह टीम चीन के वुहान का दौरा करेगी और इसकी उत्पत्ति की जांच करेगी, क्योंकि कोरोनावायरस का पहला मामला इसी शहर में मिला था।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोरोना की मार, बीते साल घरेलू उड़ानों पर यात्रियों की संख्या में 56.29 प्रतिशत की गिरावट

घरेलू उड़ानों के यात्रियों की संख्या में बीते साल यानी 2020 में भारी गिरावट आई है। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा शुक्रवार...

“इविशील्ड की प्रभावशीलता काफी होगी अगर खुराक में अंतराल 28 दिन से ज्यादा हो: सीरम इंस्टीट्यूट ने एनडीटीवी को बताया

सीरम इंस्टीट्यूट के सुरेश जाधव ने कहा कि परिणामजे और बेहतर होते हैं अगर खुराक के बीच कुछ साप्ताहिक ज्यादा होता है। नई...

“घड़ियाली आंसू बहा रही”: हरसिमरत कौर बादल ने कृषि कानूनों को लेकर राहुल गांधी पर साधा निशाना

हरसिमरत कौर ने कृषि कानून के मामले में राहुल गांधी को आड़े हाथ लिया है (फाइल फोटो)नई दिल्ली: शिरोमणि अकाली दल (SAD) के...

Recent Comments