Saturday, December 5, 2020
Home World कोरोनावायरस वैक्सीन अपडेट: चीन ने कोविद को 19 सुपर वैक्सीन बनाया, 10...

कोरोनावायरस वैक्सीन अपडेट: चीन ने कोविद को 19 सुपर वैक्सीन बनाया, 10 लाख लोगों में से किसी को भी साइड इफेक्ट नहीं हुआ


चीन ने कोरोना की एक सुपर वैक्सीन बनाने का दावा किया है। यह वैक्सीन 10 लाख लोगों को दी जा रही है, लेकिन किसी में कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं दिखा रहा है। इस टीके को लगवाने वाले शत प्रतिशत लोगों के कोरोना से अस्थिर नहीं होने के कई उदाहरण दिए गए हैं। इसलिए इस वैक्सीन को सुपर वैक्सीन करार दिया जा रहा है।

हालांकि, चीनी कंपनी सिनोफार्म द्वारा विकसित इस टीके के परीक्षण का अंतिम चरण अभी तक पूरा नहीं पाया गया है, लेकिन चीन की सरकार ने नई स्थिति में इस प्रायोगिक टीके को रोगियों को लगाने की अुनमति दे दी है। चीन की दिग्गज दवा कंपनी सिनोफार्म के चेयरमैन लियू जिंगजेन ने कहा कि जिन लोगों को वैक्सीन दी गई है उनमें गंभीर विपरीत प्रभाव नहीं दिखे, कुछ लोगों ने केवल मामूली परेशानी की शिकायत की।

बहुराष्ट्रीय कंपनी के चेयरमैन ने कहा- हम विदेश में स्थित अपने एक कार्यालय में कार्यरत 99 कर्मचारियों में से 81 लोगों को यहoc दिया था, कार्यालय में कोरोना फैलने पर पाया गया कि जिन लोगों को टीका दिया गया था उनमें से किसी भी संदिग्ध नहीं हुआ, लेकिन केक नहीं लगवाने वाले 18 में से 10 लोग मिल गए।

यह भी पढ़ें: कोविद -19: व्यापक चरण में सुरक्षित रहा चीन का 'कोरोनावैक' टीका, अध्ययन में दावा

टीका लगवाने वाले श्रमिक-छात्र और राजनयिक सुरक्षित
चेयरमैन लियू ने कहा कि याचिका परिस्थिति में प्रायोगिकेक केवल उन मजदूरों, छात्रों और राजनयिकों को लगाया गया जो महामारी के दौरान 150 से अधिक देशों की यात्रा पर चले गए। लेकिन टीकाकरण के बाद इनमें से किसी में संक्रमण नहीं देखने को मिला। गत 6 नवंबर को 56,000 लोगों ने चीन से बाहर प्रस्थान होने से पहले टीका लगाया।

10 देशों में मानव परीक्षण
सिनोफार्म कंपनी का केक अभी तीसरे चारण के मानव परीक्षण से गुजर रहा है। इसका परीक्षण 60 हजार लोगों पर 10 देशों में किया जा रहा है। इन देशों में यूएई, बहरीन, मिस्र, जॉर्डन, पेरु और अर्जेंटीना शामिल हैं। सिनोफार्म कंपनी एक साथ कोरोना के दो टीके विकसित कर रही है। इसलिए यह स्पष्ट नहीं है कि दोनों में से कौन सी वैक्सीन ज्यादा प्रभावी रही है।

सेना के जवानों को केक लगाने का दावा
चीन में प्रायोगिक टीके के इस्तेमाल की अनुमति मिलने के बाद दवा कंपनी कैन सिनो बायोलॉजिक्स ने ऐलान किया कि उसे चीन की सेना के जवानों को भी प्रायोगिक टीका लगाने की विशेष अनुमति मिली है।

फजर के दावे से अवगत तेज
अमेरिकी कंपनी फाइजर ने जब से 95 फीसदी प्रभावी कोरोना वैक्सीन बनाने का ऐलान किया है, तब से कई देश कुशल वैक्सीन बनाने का दावा कर चुके हैं। अब इस रेज में चीन भी शामिल हो गया है। गत बुधवार को फाइजर ने कहा था कि उसके वैक्सीन बुजुर्गों में भी 94.5 प्रतिशत प्रभावी है और इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। इसके एक दिन पहले मॉडर्ना ने अपने टीके को 94.5 प्रतिशत प्रभावी बताया था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

किसान चर्चा से पहले प्रधानमंत्री आवास पर महत्वपूर्ण बैठक, अमित शाह-राजनाथ सिंह मौजूद: सूत्र

नई दिल्ली: केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन शनिवार को भी जारी है। कृषि कानूनों पर गतिरोध को खत्म...

Recent Comments