Saturday, September 24, 2022
HomeIndiaकेरल में सामने आए कोविड-19 के 10,944 नए मामले, 120 मरीजों की...

केरल में सामने आए कोविड-19 के 10,944 नए मामले, 120 मरीजों की मौत


Image Source : PTI
केरल में शुक्रवार को कोविड-19 से 120 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की तादाद बढ़कर 26,072 हो गई है।

तिरुवनंतपुरम: केरल में शुक्रवार को कोविड-19 से 120 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की तादाद बढ़कर 26,072 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बयान में इसकी जानकारी दी गयी है। बयान में कहा गया है कि राज्य में महामारी के 10,944 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर 47,74,666 पर पहुंच गयी है। विज्ञप्ति के मुताबिक राज्य में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 1,16,645 है। केरल में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 12,922 मरीज संक्रमणमुक्त हुए, जिससे राज्य में ठीक होने वालों की संख्या बढ़कर 46,31,330 हो गई है। 

विज्ञप्ति में कहा गया कि केरल में बीते 24 घंटे के दौरान 95,510 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच हुई। इसके अनुसार राज्य के 14 जिलों में से एर्णाकुलम में सर्वाधिक 1,495 नए मामले सामने आए। इसके बाद तिरुवनंतपुरम में 1,482 जबकि त्रिशूर में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,311 नए मामले सामने आए। 

बता दें कि अगस्त में ओणम त्योहार के बाद केरल में एक समय प्रतिदिन कोविड-19 के 30 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे थे लेकिन, अब संक्रमण के नए मामलों में लगातार गिरावट देखी जा रही है। राज्य में कुल 3,71,196 लोगों को निगरानी में रखा गया है, जिसमें से 14,135 लोग विभिन्न अस्पतालों में पृथक-वास में हैं।

इस बीच स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने विपक्ष के उन आरोपों को खारिज किया जिसमें राज्य में बड़ी संख्या में कोविड से जान गंवाने वालों के परिवारों को सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार मुआवजा नहीं देने की बात कही गई है। जॉर्ज ने कहा कि केरल में कोई भी पात्र परिवार वित्तीय सहायता से वंचित नहीं रहेगा। 

राज्य की स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केरल देश का ऐसा पहला राज्य था जिसने केंद्र के संशोधित दिशा-निर्देशों के अनुसार कोविड मृत्यु मूल्यांकन समिति का गठन किया था। साथ ही महामारी से जान गंवाने वालों के मृत्यु प्रमाणपत्र बेहद तेजी से जारी किए थे। 

विपक्षी कांग्रेस नीत यूडीएफ सदस्यों द्वारा दिए गए स्थगन प्रस्ताव के नोटिस का जवाब देते हुए जॉर्ज ने कहा कि महामारी से होने वाली मौतों की सूची में शामिल नहीं किए गए लोगों के परिवार के सदस्यों की मदद के लिए एक नया सूचना पोर्टल भी विकसित किया गया था ताकि वे ऑनलाइन माध्यम से नाम दर्ज करवा सकें। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को ऑनलाइन आवेदन करने में समस्या आ रही है, वे अपने नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं।





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments