Wednesday, December 7, 2022
HomeIndia कृति ने चम्बल के पानी के लिये धरना दिया

 कृति ने चम्बल के पानी के लिये धरना दिया

नीमच   नीमच षहर की जागरूक अग्रणी संस्था द्वारा फोरजीरो चौराहे पर चम्बल का पानी नीमच लाने के लिये एक घंटे का सांकेतिक धरना दिया। कृति के सदस्यों के अतिरिक्त संकल्प पर्यावरण संस्था व नगर के गणमान्य नागरिकों ने भी धरने में हिस्सा लेकर चम्बल के पानी की मांग को अपना समर्थन दिया।
कृति के अध्यक्ष भरत जाजू ने कहा कि कृति संस्था विगत पन्द्रह वर्षों से चम्बल का पानी नीमच को मिले यह मांग उठाती आई है। कृति संस्था ने पहले भी इसके लिये रैली, मुख्यमंत्री, विधायक व सांसद को पोस्टकार्ड लिखने का अभियान चलाकर हजारों पोस्टकार्ड जनता से लिखवाए हैं, धरना-प्रदर्षन किये।
लगभग एक वर्ष पहले गांधी सागर समूह जलप्रदाय योजना के तहत जो योजना षासन से स्वीकृत हुई है, वह केवल ग्रामीण क्षेत्र के लिये है, उसमें नीमच जिले के गांवों को लाभ मिलेगा। नीमच, जावद, मनासा, जीरन, रामपुरा नगरीय क्षेत्र को इसमें सम्मिलित नहीं किया गया है। नीमच के विधायक कई मंचों पर इस बात की सार्वजनिक घोषणा कर चुके हैं कि  नीमच के लिये चम्बल के पानी की योजना स्वीकृत हो चुकी है जो हकीकत से परे है।
कृति संस्था द्वारा दिये धरने में प्रकाष भट्ट, सत्येन्द्रसिंह राठौर, ब्रजेष सक्सेना, किषोर बागडी, मनोहरसिंह लोढा, डॉ.जीवन कौषिक, डॉ.माधुरी चौरसिया, बाबूलाल गौड सहित कई वक्ताओं ने नीमच के साथ सांसद के दोहरे व्यवहार की बात दोहराई व नीमच के विधायक व सांसद से मांग की कि नीमच को चम्बल का पानी मिले, इसके लिये ठोस प्रयास करें। चम्बल से पानी भीलवाडा और मंदसौर षहर को मिल चुका है तो फिर नीमच इससे वंचित क्यों रखा गया।
इस अवसर पर किषोर जेवरिया, डॉ.पृथ्वीसिंह वर्मा, राजेष जायसवाल, नवीन अग्रवाल, सत्येन्द्र सक्सेना, पुष्पलता सक्सेना, महेन्द्र त्रिवेदी, मुकेष कासलीवाल, तेजसिंह जैन, कैलाष बाहेती, दिलीप दुबे, रामगोपाल पाटोदी, नरेन्द्र पोरवाल, मदन वर्मा, नरेन्द्र लोढा, अषोक सागर आदि कई गणमान्य नागरिक धरने में सम्मिलित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments