Monday, May 17, 2021
Home Desh कुछ ओट प्लेटफार्मों पर दिखाए गए पोर्नोग्राफी कंटेंट की जांच की जानी...

कुछ ओट प्लेटफार्मों पर दिखाए गए पोर्नोग्राफी कंटेंट की जांच की जानी चाहिए, सर्वोच्च न्यायालय ने कुछ ओटीटी प्लेटफॉर्म पर दिखाई जा रही अश्लीलता, कंटेंट की स्क्रीनिंग हो: SC


सुप्रीम कोर्ट ने OTT यानी ओवर द टॉप टॉप प्रदर्शन पर दिखाया जाने वाले कंटेंट पर चिंता व्यक्त की है। SC ने कहा कि OTT प्लेटफॉर्म पर स्क्रीनिंग की जरूरत है, क्योंकि कुछ OTT प्लेटफॉर्म तो अश्लीलता तक परोस रहे हैं।

उच्चतम न्यायालय

सुप्रीम कोर्ट (फोटो साभार: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट ने OTT यानी ओवर द टॉप टॉप प्रदर्शन पर दिखाया जाने वाले कंटेंट पर चिंता व्यक्त की है। SC ने कहा कि OTT प्लेटफॉर्म पर स्क्रीनिंग की जरूरत है, क्योंकि कुछ OTT प्लेटफॉर्म तो अश्लीलता तक परोस रहे हैं। सरकार ने जो नए नियम बनाए हैं, उन्हें रिकॉर्ड पर रखा गया है। वहीं, सुप्रीम कोर्ट में अमेजॉन प्राइम इंडिया की कमर्शियल हेड अपर्णा पुरोहित की शर्तों ज़िशन अर्जी पर सुनवाई शुक्रवार तक के लिए टल गई है। अर्पणा ने वेबसीरिज तांडव के लिए यूपी में दर्ज केस में गिरफ्तारी के लिए कोर्ट का रुख किया है। इससे पहले इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अपर्णा की प्रयोजनों जमानत याचिका खारिज करते हए वेबसीरिज नाम / योगदानकर्ता को लेकर सख्त टिप्पणियां की थी। हाई कोर्ट का कहना था कि अभिव्यक्ति के नाम पर हिंदू देवी देवताओं का अपमान नहीं हो सकता है।

वेब सीरीज विवाद पर नरोत्तमिश ने कहा था कि ओटीटी प्लेटफॉर्म प्रदर्शन की स्वतंत्रता के नाम पर परोस अश्लील है

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने कहा कि इसकी शूटिंग कांग्रेस की सत्ता के दौरान हुई थी। ये ओटीटी प्लेटफॉर्म लगातार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर अश्लीलता परोस रहा है। जब मंदिर में राम धुन बज रही हो और वहां पर आप किसिंग सीन फिल्माएंगे तो धार्मिक भावनाएं तो नाराज होंगी ही।

उन्होंने आगे कहा कि मैंने इस विषय में अपने विधिक अधिकारियों से इस मामले में जांच करने को कहा है। अभी सभी विकल्प खुले हुए हैं लेकिन अभी भी हम विशेषज्ञों की राय ले रहे हैं क्योंकि मध्य प्रदेश की एक सीमा है। वो कोई भी लव जो जिहाद की तरफ ले जाता है हम उसके विरोधी हैं, हम लव के विरोधी हैं। ये कोई भी पहली वेब सीरीज या फिल्म नहीं है, पहले भी कई ऐसी फिल्में और वेब सीरीज आ चुके हैं। जिस दिन देश की समझ में ये बात आ गई कि ये ओटीटी अश्लीलता परोस रहा है और कुछ सही हो जाएगा। हम किसी की स्वतंत्रता के विरोधी नहीं है लेकिन स्वतंत्रता के नाम पर अश्लीलता पर चुप नहीं रहेंगे।

ऐसी फिल्में समाज में लव जिहाद के लिए प्रेरित करती हैं। मुझे डिजाइन नजर आता है, जो लोग कह रहे हैं कि कांग्रेस के हैं और कथित लोग हैं जो नारे लगाते हैं भारत तेरे टुकड़े होंगे। ये वही लोग हैं जो जम्मू-कश्मीर में एक साथ चुनाव लड़ते हैं और देश के राष्ट्रीय ध्वज पर बहस करते हैं। मैं इस मुद्दे पर कल बैठक करूंगा, जिसके बाद ये तय किया जाएगा कि इस मामले में क्या करना है।



संबंधित लेख

पहली प्रकाशित: 04 मार्च 2021, 03:31:26 PM

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाईल ऐप्स।




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments