Thursday, January 21, 2021
Home Desh कुछ इस तरह की संसद भवन की नई भागीदारी होगी, 10 दिसंबर...

कुछ इस तरह की संसद भवन की नई भागीदारी होगी, 10 दिसंबर को पीएम मोदी भूमि पूजन करेंगे


कुछ इस तरह की संसद भवन की नई भागीदारी होगी, 10 दिसंबर को पीएम मोदी भूमि पूजन करेंगे

नए संसद भवन का डिजाइन त्रिभुज आकार का होगा।

नई दिल्ली:

भारत ने नए संसद भवन की पहली तस्वीर सामने आ गई है। संसद भवन की नई इमारत का डिजाइन त्रिभुज (त्रिकोण) के आकार का होगा और पुराने परिसर के पास इसका निर्माण होगा। नए भवन का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड करेगा। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीएम नरेंद्र मोदी) नए संसद (संसद) भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन 10 दिसंबर को करेंगे। नई भागीदारी में एक बड़ा कॉस्टीट्यूशन हॉल होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक विरासत की झलक दिखाई देगी। इसके अलावा, संसद सदस्यों के लॉज, कई कमेटियों के लिए कमरा, डाइनिंग क्षेत्र और पर्याप्त पार्किंग स्थान होगा।

यह भी पढ़ें

संसद भवन की नई बिल्डिंग के भूमि पूजन का निमंत्रण पीएम मोदी को देने के लिए आज दोपहर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (ओम बिड़ला) प्रधानमंत्री आवास पहुंचे। बिरला ने प्रस्तावित भवन के बारे में शुरू पेश करते हुए कहा, ” लोकतंत्र का वर्तमान मंदिर अपने 100 साल पूरे कर रहा है। यह देशवासियों के लिए समझ का विषय होगा कि नए भवन का निर्माण हमारे अपने लोगों द्वारा किया जाएगा, जो आत्मनिर्भर भारत का प्रमुख उदाहरण होगा। ”

उन्होंने कहा, ” नई इमारत के माध्यम से देश की सांस्कृतिक विविधता प्रदर्शित होगी। आशा है कि आजादी के 75 साल पूरे होने पर संसद का सत्र नए भवन में आयोजित होगा। ’’ लोकसभा अध्यक्ष के अनुसार, संसद की नई इमारतake रोधी क्षमता वाली होगी और इसके निर्माण में 2000 लोग सीधे तौर पर शामिल होंगे और 9000 लोगों की परोक्ष भागीदारी होगी उन्होंने बताया कि नए संसद भवन में 1224 सांसद वनस बैठेंगे और मौजूदा श्रम शक्ति भवन (संसद भवन के निकट) के स्थान पर दोनों सदनों के सांसदों के लिए कार्यालय परिसर का निर्माण कराया जाएगा।

बिरला ने कहा कि संसद के वर्तमान भवन को देश की पुरातात्त्विक संपत्ति के तौर पर संरक्षित रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि नए भवन के निर्माण की आधारशिला संबंधी कार्यक्रम के लिए सभी राजनीतिक दलों को आमंत्रित किया जाएगा। कुछ लोग मौके पर मौजूद होंगे और अन्य लोग डिजिटल माध्यम में शामिल होंगे। इस कार्यक्रम में कोरोनावायरस से संबंधित सभी दिशा निर्देशों का पालन होगा।

बिरला ने शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी को इस कार्यक्रम का संक्षिप्त निमंत्रण दिया। नियमों के मुताबिक, लोकसभा का अध्यक्ष संसद भवन का संरक्षक भी होता है। नए भवन के निर्माण के दौरान वायु और ध्वनि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए पर्याप्त उपाय किए गए हैं।

बिरला का कहना है कि नए संसद भवन में सभी सांसदों के लिए अलग कार्यालय होंगे जो आधुनिक डिजिटल सुविधाओं से युक्त होंगे और यह ‘कागज रहित कार्यालय’ बनाने की दिशा में कदम होगा। नए संसद भवन में विशाल विशाल कक्ष होगा, जिसमें भारत की लोकतांत्रिक धरोहर को प्रदर्शित किया जाएगा। इसके साथ ही सांसदों के लिए एक लॉज होगा। उनके लिए पुस्तकालय, विभिन्न समितियों के कक्ष, भोजन कक्ष और पार्किंग क्षेत्र होंगे।

इस भवन के लोकसभा कक्ष में 888 सदस्यों की बैठने की क्षमता होगी, जबकि राज्यसभा कक्ष में 384 सदस्य बैठेंगे। यह भविष्य में दोनों सदनों के सदस्यों की संख्या में वृद्धि किए जाने की संभावना को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। मौजूदा में समय में लोकसभा के 543 और राज्यसभा के 245 सदस्य हैं। यह नई इमारत सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत है और इसे वर्तमान संसद भवन के करीब बनाया जाएगा।

अधिकारियों ने सितंबर में बताया था कि इसके लिए कंपनी ने 861.90 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी। संसद के नए परिसर को बनाने में तकरीबन एक साल लगने की उम्मीद है। एलएंडटी ने इस परियोजना के लिए 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने नए संसद भवन की अनुमानित लागत 940 करोड़ रुपये रखी थी।

Newsbeep

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (सोनिया गांधी) और एनसीपी नेता सुप्रिया सुले (सुप्रिया सुले) ने इमारत के निर्माण की टाइमिंग को लेकर सरकार पर प्राथमिकताओं को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है क्योंकि भारत इस समय कोरोना महावीर के दौर से गुजर रहा है।

(इनपुट एजेंसी भाषा और एएनआई से भी)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

फिल्मी अंदाज़ में शोरूम से करोड़ों का ज़ेवर चुराने वाला धराया, बैग में भर औटो से ले गया था 25% सोना!

दक्षिणी दिल्ली के एक शोरूम में पीसीई किट पहनकर दाखिल होने वाले थनों ने लगभग 13 करोड़ के गहने चोरी कर लिए थे।नई...

Recent Comments