Uttar Pradesh

कानपुर हवाई अड्डे के नए सिविल टर्मिनल भवन का लोकार्पण

मुख्यमंत्री तथा केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री ने कानपुर में कानपुर हवाई अड्डे के नए सिविल टर्मिनल भवन का लोकार्पण किया
प्रधानमंत्री  के नेतृत्व में विगत 09 वर्षों में दुनिया ने बदलते हुए भारत को देखा -मुख्यमंत्री
नए सिविल टर्मिनल के उद्घाटन के साथ एक नए युग का सूत्रपात, लोगों की कनेक्टिविटी जितनी आसान होगी
उतना ही लोग विकास के प्रति आग्रही बन कर आगे बढ़ेंगे
वर्तमान में उ0प्र0 में 09 एयरपोर्ट पूरी तरह क्रियाशील, 12 एयरपोर्ट पर कार्य हो रहा
उड़ान योजना का सर्वाधिक लाभ लेने वाले राज्यों में उ0प्र0 और आज इसी का परिणाम है कि नई-नई वायु सेवाएं उड़ान भर रहीं
प्रदेश में जिन भी नगरों में एयर कनेक्टिविटी बेहतर हुई, वहां पर नए उद्योग आए, न्यू एज-टेक्नोलॉजी को लेकर लोगों के मन में नई उत्सुकता देखने को मिल रही
कानपुर नगर की रेल व सड़क कनेक्टिविटी अच्छी, उसको और अच्छा बनाने के कार्य हो रहे
प्रधानमंत्री जी ने कानपुर नगर को डिफेंस कॉरिडोर के रूप में विकसित करके इसके पुराने गौरव को वापस लाने का कार्य किया
आज गंगा जी के क्रिटिकल प्वाइण्ट से कानपुर उभरकर आगे बढ़ रहा, अविरल गंगा, निर्मल गंगा का संकल्प भी पूरा होते हुए दिखाई दे रहा
डबल इंजन की सरकार ट्रिपल इंजन की सरकार में परिवर्तित हो चुकी, इससे कानपुर में विकास की गति को और रफ्तार मिलेगी : केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री
उ0प्र0 में नए एयरपोर्ट्स का निर्माण बहुत तेजी से हो रहा, जिससे एयर कनेक्टिविटी की सुविधा बढ़ेगी और लोग उसका लाभ उठा सकेंगे

 

लखनऊ :  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ   तथा केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री   ज्योतिरादित्य एम0 सिंधिया ने  कानपुर में कानपुर हवाई अड्डे के नए सिविल टर्मिनल भवन का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर कानपुरवासियों को नए सिविल टर्मिनल के लिए बधाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में विगत 09 वर्षों में दुनिया ने बदलते हुए भारत को देखा है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व का सर्वाधिक लाभ देश की सबसे बड़ी आबादी का राज्य उत्तर प्रदेश स्वतःस्फूर्त भाव से ले रहा है। उत्तर प्रदेश को हर क्षेत्र में व्यापक लाभ प्राप्त हुए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि नागर विमानन के क्षेत्र में विगत 06 वर्षों में व्यापक परिवर्तन देखने को मिले हैं। वर्ष 2017 से पूर्व प्रदेश में 02 एयरपोर्ट क्रियाशील थे और 02 एयरपोर्ट आंशिक रूप से क्रियाशील थे। वर्तमान में उत्तर प्रदेश में 09 एयरपोर्ट पूरी तरह क्रियाशील हैं। 12 एयरपोर्ट पर कार्य हो रहा है। आने वाले समय में प्रदेश में लगभग हर कमिश्नरी स्तर पर एक एयरपोर्ट होगा। लोगों के आवागमन को और सहज व सरल बनाने की प्रधानमंत्री जी की मंशा है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि उड़ान योजना का सर्वाधिक लाभ लेने वाले राज्यों में उत्तर प्रदेश है और आज इसी का परिणाम है कि नई-नई वायु सेवाएं उड़ान भर रही हैं। श्री सिंधिया के नेतृत्व में नागर विमानन मंत्रालय ने लोगों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए हवाई सेवाओं को आसान और सरल बनाने का कार्य किया है। आज उसका लाभ उत्तर प्रदेश भी ले रहा है और कानपुर नगर भी उसका लाभ लेते हुए आज इस प्रक्रिया के साथ इस नए सिविल टर्मिनल के साथ जुड़कर इसका आनन्द ले रहा है।
कानपुर नगर के बारे में वर्ष 2017 के पहले बहुत सारी धारणाएं लोगों के मन में थीं। कानपुर नगर में एक तरफ उद्योग बंद हो रहे थे और दूसरी तरफ जब गंगा प्रदूषण की बात होती थी, तो लोग कानपुर के ऊपर ही आरोप लगाते थे। कानपुर नगर गंगा जी का सबसे क्रिटिकल प्वाइण्ट बन गया था। कानपुर नगर में सीसामऊ नाले से 14 करोड़ लीटर सीवर गंगा जी के ऊपर पड़कर पूरी नदी को प्रदूषित करता था। प्रदेश सरकार ने सीसामऊ नाले को टैप कर इसे सेल्फी प्वाइण्ट में बदलने का कार्य किया है। यह कार्य कानपुरवासियों के सहयोग से ही सम्भव हो सकता है। जनपद कानपुर नगर की रोड, एयर व मेट्रो की बेहतरीन कनेक्टिविटी हुई है। प्रधानमंत्री जी ने कानपुर नगर को डिफेंस कॉरिडोर के रूप में विकसित करके इसके पुराने गौरव को वापस लाने का कार्य किया है। आज डिफेंस क्षेत्र के अनेक उद्योग कानपुर में लगने के लिए कतार में खड़े हैं।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि कानपुर अपनी आध्यात्मिक व ऐतिहासिक विरासत के लिए विख्यात रहा है। कानपुर ने स्वतंत्र भारत में औद्योगिक क्रान्ति की लौ उत्तर प्रदेश के साथ देश भर में फैलाने का कार्य किया था। देश के सबसे बड़े महानगरों में कानपुर की गिनती होती थी, जैसे-जैसे उद्योग बंद होते गए यहां से पलायन होता गया और यह जनपद विकास में पिछड़ता गया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज फिर से एक नए युग का सूत्रपात इस सिविल टर्मिनल के उद्घाटन के साथ प्रारम्भ हो रहा है। लोगों की कनेक्टिविटी जितनी आसान होगी उतना ही लोग विकास के प्रति आग्रही बन कर आगे बढ़ते हैं और कानपुर इससे अछूता नहीं है। प्रदेश में जिन भी नगरों में एयर कनेक्टिविटी बेहतर हुई है, वहां पर नए उद्योग आए हैं। न्यू एज-टेक्नोलॉजी को लेकर लोगों के मन में नई उत्सुकता देखने को मिली है। लोग एक नए उत्साह के साथ कार्य करते हुए दिखाई देते हैं।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने दिसम्बर, 2021 में कानपुरवासियों को मेट्रो की सौगात दी। आज कानपुर मेट्रो आपकी पहचान बन चुकी है। प्रदेश सरकार ने सीसामऊ नाले और जाजमऊ में व्यापक सुधार करने का कार्य किया। आज गंगा जी के क्रिटिकल प्वाइण्ट से कानपुर उभरकर आगे बढ़ रहा है। अविरल गंगा, निर्मल गंगा का संकल्प भी पूरा होते हुए दिखाई दे रहा है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि हम सबको विकास भी करना है और विरासत का सम्मान भी करना है। विकास और विरासत का यह संगम आपको इस टर्मिनल भवन में देखने को भी मिल रहा है। स्थानीय प्राचीन मन्दिरों की शैली को लेकर इस टर्मिनल भवन का निर्माण कार्य किया गया है। जब कोई भी कानपुर में आएगा या विदा होगा, इस पहचान की अमिट छाप को अपने साथ लेकर जाएगा। जनपद कानपुर नगर विकास की प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण केन्द्र बन कर अपने पुराने गौरव को प्राप्त करने का कार्य करेगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास के कार्यक्रम तेजी के साथ आगे बढ़ रहे हैं। प्रदेश में यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 में 35 लाख करोड़ रुपये के प्रस्ताव प्राप्त हुए। इन निवेश प्रस्तावों से 01 करोड़ युवाओं को नौकरी का लाभ प्राप्त होगा। इसके लिये हम सबको तैयार रहना होगा और अपने कार्यक्रमों को आगे बढ़ाना होगा। विकास की प्रक्रिया में हम लोग सकारात्मक भाव से जुड़ते हुए दिखायी देंगे, तो हम सभी के लिए यह कार्य आसान होगा। जनपद कानपुर नगर विकास की प्रक्रिया का अभिन्न हिस्सा बना है। कानपुर नगर की रेल व सड़क कनेक्टिविटी अच्छी है, उसको और अच्छा बनाने के कार्य हो रहे हैं।
केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य एम0 सिंधिया ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज कानपुरवासियों की आंखों में एक नई चमक देखने को मिल रही है। हाल ही में प्रदेश में सम्पन्न हुए नगर निकाय चुनावों के परिणाम से डबल इंजन की सरकार ट्रिपल इंजन की सरकार में परिवर्तित हो चुकी है। इससे कानपुर में विकास की गति को और रफ्तार मिलेगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश न केवल देश में, बल्कि विश्व पटल पर उभर रहा है। यह प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की जोड़ी की वजह से सम्भव हुआ है। कानपुरवासियों की काफी लम्बे समय से यह मांग रही है कि कानपुर एयरपोर्ट का विस्तार होना चाहिए, एयरपोर्ट का आधुनिकीकरण होना चाहिए। कानपुरवासियों को आज कानपुर हवाई अड्डे के नए सिविल टर्मिनल की सौगात मिल गई है।
आज उत्तर प्रदेश में डबल इंजन की सरकार की वजह से तेजी से विकास हो रहा है। जमीन पर यदि ट्रिपल इंजन की सरकार है, तो आसमान में विमानों का जाल फैला है। उत्तर प्रदेश में नए एयरपोर्ट्स का निर्माण बहुत तेजी से हो रहा है, जिससे एयर कनेक्टिविटी की सुविधा बढ़ेगी और लोग उसका लाभ उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि जो हमारी सोच व विचारधारा है, नागर विमानन में जो परिर्वतन आया है, वह प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में सम्भव हो सका है। जनपद अयोध्या में नया एयरपोर्ट बन रहा है। जेवर में ऐसा एयरपोर्ट बनने जा रहा है, जिसमें आने वाले दिनों में 06 करोड़ जनता उसका लाभ उठाएगी। उन्होंने कहा कि सपनों को यदि साकार करने की क्षमता किसी में है, तो वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी में है, जो लगातार प्रयास कर लोगों के सपनों को साकार करने का कार्य कर रहे हैं।
केन्द्रीय नागर विमानन राज्यमंत्री जनरल वी0के0 सिंह (सेवानिवृत्त) ने कहा कि आज कानपुर हवाई अड्डे के नये सिविल टर्मिनल भवन का लोकार्पण हुआ है। यह पुराने एयरपोर्ट से तीन गुना ज्यादा बड़ा है। आने वाले दिनों में आवश्यकतानुसार इसे और बड़ा किया जा सकता है। इस एयरपोर्ट में सभी प्रकार की सुविधाओं को ध्यान में रखा गया है। इस एयरपोर्ट के नये सिविल टर्मिनल के शुभारम्भ से कानपुर नगर की पुरानी पहचान उत्कृष्ट होगी।
विधानसभा अध्यक्ष श्री सतीश महाना ने अपने सम्बोधन में कहा कि अब बहुत जल्द कानपुर नगर से एयर कनेक्टिविटी पूरे देश की होगी। एयर कनेक्टिविटी अच्छी होने से कानपुर का विकास भी तेजी से होगा। यह नया एयरपोर्ट टर्मिनल कानपुर नगर के विकास के क्षेत्र में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।
भारतीय विमानपत्तन के अध्यक्ष श्री संजीव कुमार ने बताया कि राज्य सरकार के सहयोग से एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इण्डिया द्वारा लगभग 150 करोड़ रुपये की धनराशि से इस एयरपोर्ट टर्मिनल की बिल्डिंग को बनाया गया है। इसकी कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम है। टर्मिनल भवन का क्षेत्रफल 6243 वर्ग मीटर है। इस टर्मिनल बिल्डिंग में एक समय पर 03 हवाई जहाजों के लिए पार्किंग स्पेस है, जिसे भविष्य की आवश्यताओं को देखते हुए एक समय पर 06 हवाई जहाजों के लिए भी बढ़ाया जा सकेगा। इसके लिए इसमें अभी से विशेष प्रावधान किए गए हैं। इस एयरपोर्ट बिल्डिंग में 400 यात्रियों की हैण्डलिंग कैपेसिटी है। यहां 150 चार पहिया वाहनों के लिए पार्किंग की सुविधा है। इस टर्मिनल में 08 चेकिंग काउण्टर, 03 कन्वेयर बेल्ट (01 प्रस्थान में और 02 आगमन हॉल में) हैं। यह टर्मिनल बिल्डिंग पूर्ण रूप से सोलर सिस्टम से आच्छादित है।
इस अवसर पर एम0एस0एम0ई0 मंत्री श्री राकेश सचान, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री श्री अजीत पाल, महिला कल्याण राज्यमंत्री श्रीमती प्रतिभा शुक्ला, मुख्य सचिव श्री दुर्गा शंकर मिश्र, नागर विमानन सचिव, भारत सरकार श्री राजीव बंसल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एवं नागरिक उड्डयन श्री एस0पी0 गोयल सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button