Thursday, January 21, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh कानपुर के अमित जैसा कोई नहीं, 6 विषयों में नेट परीक्षा क्वालीफाई...

कानपुर के अमित जैसा कोई नहीं, 6 विषयों में नेट परीक्षा क्वालीफाई करने वाले देश में इकलौते


अलग-अलग 6 विषयों में नेट (NET) क्वालीफाई कर इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराने वाले कानपुर के अमित कुमार निरंजन।  (फोटो- साभार फेसबुक)

अलग-अलग 6 विषयों में नेट (NET) क्वालीफाई कर इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराने वाले कानपुर के अमित कुमार निरंजन। (फोटो- साभार फेसबुक)

छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय) कानपुर के पूर्व छात्र लाल बंगला निवासी अमित कुमार निरंजन ने 6 विषयों में नेट (नेट परीक्षा) क्वालीफाई कर नया रिकॉर्ड बनाया है।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:14 जनवरी, 2021, 6:27 PM IST

कानपुर।उत्तर प्रदेश में कानपुर के एक पूर्व छात्र अमित कुमार निरंजन इन दिनों देश के मीडिया की सुर्खियों में क्यों छाए हुए हैं? इस सवाल का जवाब तलाशेंगे तो जवाब मिलेगा कि अमित ने राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा) के 6 विषयों में क्वालीफाई कर दांतों तले ऊबल दबा लेने वाला वह कारनामा कर दिखाया है, जो देश में अब तक कोई न तो बन सका है। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय) के इस पूर्व छात्र ने अपनी प्रतिभा से सबको हैरत में डालते हुए अपना नाम इंडिया इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज कराने में कामयाबी हासिल की है। इस कामयाबी पर अमित का कहना है कि किसी भी विषय की तैयारी के लिए उसे रटने की नहीं बल्कि समझने की जरूरत होती है, जो मैंने धैर्यपूर्वक किया है।

भारत में दो से तीन विषयों में नेट क्वालीफाई करने वाले कई छात्र आपको मिल जाएंगे, लेकिन 6 विषयों में ऐसा कमाल करने वाले अमिल देश के पहले युवा है, जिन्दी है। विज्ञान, अर्थशास्त्र, प्रबंधन, शिक्षा शास्त्र, राजनीति विज्ञान और समाजशास्त्र विषयों में नेट परीक्षा को / वालि। विश्वविद्यालय के कुलपति ने बुधवार को उन्हें रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौंपा।

ऐसे ही सफलता का मार्ग बनता है
अपनी कामयाबी का राज खुलते हुए एक सवाल के जवाब में अमित ने बताया कि किसी भी विषय की तैयारी के लिए उन्हें रटने की जरूरत नहीं होती है, बल्कि समझने की जरूरत होती है। किसी भी विषय की तैयारी करते समय चीजों को लिखनाकर तैयार करने की आदत डालनी चाहिए। अभ्यर्थियों को हर विषय को बराबर समय देना चाहिए, कमजोर विषय पर विशेष ध्यान दें। यदि कोई विषय आपको कठिन लगता है और आप उसमें खुद को कमजोर महसूस करते हैं तो उसके सभी सूत्र, परिभाषाएं और प्रश्न धीरे-धीरे समझने का प्रयास करें। अमित 2010 में आईआईटी कानपुर में अर्थशास्त्र विषय के साथ पीएचडी के लिए चुने जा चुके हैं। वह 2013 में बैंक टैग पद के लिए चयनित हो चुके हैं।ऐसे पास की जा सकती है कोई भी परीक्षा है

अमित ने कहा कि लोगों का धारण होता है कि निशान लाने वाले बच्चों का क्राइटेरिया होता है। यहां तक ​​कि सिर्फ और सिर्फ अंकों के उद्देश्य से ही पढ़े जाते हैं। मैं इन बच्चों को संदेश देना चाहता हूं कि कोई भी एज्रे हो, जब आप उसको उसके कॉन्टेंट और समझ से पढ़ेंगे, जब आप ये समझेंगे कि उस एक्ट्रे का अर्थ क्या है? तब आप उस एक्ट्रे से जुड़ेंगे। केवल आप उस एजेक्ट से जुड़ जाएंगे तो कोई भी परीक्षा या एग्जाम आसानी से निकाल देगा।

शिक्षा का सफरनामा
अमित ने कक्षा 1 से 12 वीं तक की अपनी पढ़ाई एयरफोर्स स्कूल चकेरी से पूरी की थी। ग्रेज्यूशन और पोस्ट ग्रेजुएशन जीपीएन पीजी कॉलेज कानपुर से किया। वहाँ 2009 में कानपुर विश्वविद्यालय से एमफिल में टॉप किया। वर्ष 2010 में मेरा सिलेक्शन आईआईटी कानपुर से इकोनॉमिक्स में पीएचडी के लिए हुआ था।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

अमेज़न को झटका: रिलायंस-फ्यूचर ग्रुप की 24,713 करोड़ की डील हुई डन, सेबी ने दी मंजूरी

रिलायंस रिटेल-फ्यूचर ग्रुप की डील को सेबी की मंजूरी। (प्रतीकात्मक चित्र)मुंबई: खट्टा बाजार से .बी (सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया) ने...

मंडी भाव: तेल-तिलहन की कीमतों में नरमी बरकरार, तुअर के दाम में कमी, उड़द तेजी

विदेशी विमानों में गिरावट के रुख के बीच दिल्ली तेल तिलहन बाजार में बुधवार को बिनौला, सोयाबीन और पामोलीन तेल की कीमतों में...

Recent Comments