Tuesday, June 28, 2022
HomeBiharएईएस/चमकी बुखार से बचाव/रोकथाम को लेकर प्रत्येक शनिवार को डीएम के निर्देश...

एईएस/चमकी बुखार से बचाव/रोकथाम को लेकर प्रत्येक शनिवार को डीएम के निर्देश पर पंचायत/वार्ड स्तर पर चलाया जा रहा है जागरूकता अभियान

ध्रुव कुमार सिंहमुजफ्फरपुर, बिहार

 

 

 

“अडॉप्ट अ विलेज” कार्यक्रम के तहत एईएस/चमकी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण करने के मद्देनजर गोद लिए हुए पंचायतों में पदाधिकारियों ने अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करते हुए चमकी को लेकर सघन जागरूकता कार्यक्रम को अंजाम दिया।अधिकारियों एवं कर्मियों द्वारा संबंधित पंचायतों में बैठकें की गई साथ ही महादलित टोलों में भ्रमण करते हुए बच्चों एवं अभिभावकों को  चमकी को लेकर  जागरूक किया।उनके द्वारा पंपलेट  भी बांटे गए और पढ़कर भी सुनाए गए। संबंधित पदाधिकारियों एवं कर्मियों द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों  समुदायिक भवन, स्वास्थ्य केंद्रों इत्यादि का भी निरीक्षण किया गया तथा आंगनबाड़ी सेविका/सहायिका एवं आशा को प्रेरित किया गया कि वे नियमित रूप से डोर टू डोर भ्रमण करते हुए आम लोगों को चमकी के प्रति  जागरूक करना जारी रखें। मालूम हो कि एईएस/चमकी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर जिला पदाधिकारी प्रणव कुमार के निर्देश के आलोक में प्रथम चरण में जिले के 270 पंचायतों को गोद लिया गया है जहां प्रत्येक शनिवार को अधिकारी एवं कर्मी पहुंचते  और एईएस/चमकी बुखार को लेकर उनके द्वारा सघन रूप से जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाता है।जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी कमल सिंह ने बताया की जिलाधिकारी द्वारा जागरूकता अभियान का सतत अनुश्रवण किया जा रहा है और साथ ही सभी वरीय पदाधिकारियों को लगातार निर्देशित किया जा रहा है। आगे आने वाले दिनों में  जागरूकता अभियान  को और भी गति दी जाएगी। माकूल चिकित्सा व्यवस्था की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ समानांतर रूप से गांव ,टोला और पंचायत स्तर पर सघन जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। जनवरी 2022 से लेकर अभी तक कुल 24 मरीज सामने आए हैं जिसमें 14 मुजफ्फरपुर जिले के और 10 अन्य जिलों के हैं। 24 मरीजों के विरुद्ध अभी तक 19 मरीज इलाज के उपरान्त स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments