Thursday, August 5, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत 04 हजार रुपए प्रतिमाह

उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत 04 हजार रुपए प्रतिमाह

 
राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में कोविड-19 महामारी के कारण अनाथ
हुए बच्चों के भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा आदि की व्यवस्था हेतु कल
22 जुलाई, 2021 को ‘उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ प्रारम्भ की जाएगी
लखनऊ,

राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल   तथा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ   द्वारा प्रदेश में कोविड-19 महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण, शिक्षा, चिकित्सा आदि की व्यवस्था हेतु कल 22 जुलाई, 2021 को यहां ‘उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ प्रारम्भ की जाएगी।

यह जानकारी  देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि 0 से 18 वर्ष की आयु के बच्चे जिनके माता या पिता अथवा दोनों की कोविड-19 संक्रमण के कारण मृत्यु हो गयी है, उन्हें ‘उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ के तहत 04 हजार रुपए प्रतिमाह प्रदान किए जाएंगे।

इस योजना के तहत 11 से 18 वर्ष तक की आयु के बच्चों की निःशुल्क शिक्षा, अटल आवासीय विद्यालयों तथा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में करायी जाएगी। प्रदेश सरकार ऐसी अनाथ बालिकाओं के विवाह योग्य होने पर उनकी शादी हेतु 01 लाख 01 हजार रुपए उपलब्ध कराएगी। कक्षा 9 या इससे ऊपर की कक्षा में अथवा व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त कर रहे 18 वर्ष आयु तक के ऐसे बच्चों को टैबलेट/लैपटॉप की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- ‘महिलाएं आनंद की वस्तु हैं’ पुरुष वर्चस्व की इस मानसिकता से सख्ती से निपटना जरूरी, पढ़ें मामला

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक महत्वपूर्ण आदेश में कहा है कि शादी का झूठा वादा कर यौन संबंध बनाना कानून में दुराचार का अपराध...

2020 से बेहतर हुई यूपी के खजाने की स्थिति, जुलाई में 12655 करोड़ आए : सुरेश खन्ना

प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण का सकारात्मक असर राज्य की आर्थिक गतिविधियों में नजर आने लगा है। चालू वित्तीय वर्ष के...

सदर अस्पताल प्रांगन में ऑक्सीजन प्लांट की भी शुरुआत हो जाएगी: सिविल सर्जन सिविल सर्जन की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की मासिक समीक्षात्मक...

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी बैठक में स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रम की समीक्षा की गई अन्य प्रदेश से आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच आवश्यक: किशनगंज, जिले में...

विश्व स्तनपान सप्ताह: स्वास्थ्यकर्मी स्तनपान को लेकर कर रहे जागरूक

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी एनएफएचएस—5 की रिपोर्ट जिला में 42.4 फीसदी शिशु ही कर पाते हैं पहले घंटे में स्तनपान: नियमित स्तनपान से शिशुओं को गंभीर...

Recent Comments