Monday, May 17, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh उत्तर प्रदेश में कोरोना: सीएम योगी ने 'टेस्ट, ट्रेस, ट्रीट' के माध्यम...

उत्तर प्रदेश में कोरोना: सीएम योगी ने ‘टेस्ट, ट्रेस, ट्रीट’ के माध्यम से विभाजित -19 से लड़ने के लिए


लखनऊ। उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश) में बढ़ते कोरोना संक्रमण (कोरोना संक्रमण) को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ (सीएम योगी आदित्यनाथ) ने कोरोना से लड़ने के लिए विशेष तैयारियों को पूरा करने का आदेश दिया ।सीएम ने सभी जनपदों को अलग-अलग बिस्तर और ऑक्सीजन दिया की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश हैं। साथ ही कोविद चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाने के लिए कहा है। इसके साथ ही कोरोना रोगियों के लिए एम्बुलेंस सेवाओं के सुचारु संचालन के निर्देश दिए गए हैं।

जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, वाराणसी और प्रयागराज पर विशेष ध्यान देते हुए चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने की सीइयों ने बात कही है। हर जनपद में एल -2 और एल -3 को विभाजित बेड्स की संख्या बढ़ाने के लिए कहा गया है। सभी जिलों में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता को किसी भी हाल में बनाए रखने के लिए कहा गया है।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निजी मेडिकल कॉलेजों में को विभाजित चिकित्सालयों के संचालन के लिए नियमित निगरानी की व्यवस्था करने की बात कही है। अस्पतालों के लिए चिकित्साकर्मियों के साथ-साथ अन्य चिकित्सा संसाधनों की भी व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है।

यूपी में कोरोना का रौद्र रूप, 24 घंटे में 18,021 नए, लखनऊ में केवल 5 हजार पार का आंकड़ायूपी के मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य और प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा नियमित तौर पर विभाजित अस्पतालों की व्यवस्थाओं और विभिन्न चिकित्सा संसाधनों की उपलब्धता की समीक्षा करेंगे। अगले कुछ दिनों में प्रतिदिन कम से कम 1.5 लाख टेस्ट उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। प्रदेश में स्थित विभिन्न केंद्रीय संस्थानों से संवाद बनाकर इन प्रयोगशालाओं में उपलब्ध आरटीपीसीआर क्षमता का पूरा उपयोग करने की सलाह दी गई है।

को विभाजित जांच के लिए ट्रूनैट मशीनों का भी उपयोग करें

सीएम ने कहा कि आरटीपीसीआर टेस्ट की संख्या में वृद्धि के लिए 12 जनपदों में प्रयोगशालाएं प्राथमिकता पर स्थापित हैं। यह प्रयोगशालाएं जनपद अमेठी, औरैया, बिजनौर, कुशीनगर, देवरिया, मऊ, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र, बुलंदशहर, सीतापुर, महोबा और कासगंज में स्थापित की गई हैं। प्रमुख चैराहों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर सार्वजनिक पते सिस्टम के माध्यम से जागरूकता का कार्य प्रभावी ढंग से किया करने को कहा है। पब्लिक एड्रेस सिस्टम से प्रसारित किए जाने वाले डेटा को ऐसा बनाएं, जिससे लोग ध्यान से सुनें।

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों पर अखिलेश यादव बोले- झूठा ढिंढोरा पीटने वाली भाजपा सरकार चुप क्यों है?

सीएम ने कान्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य पूरी सक्रियता से करने के लिए कहा है। इसके लिए निगरानी समितियाँ तेजी से कार्य करती हैं। संशोधन जोन के प्रावधानों को सख्ती से लागू करना होगा। इन्टीग्रेटेडैंड एंड कन्ट्रोल सेंटर प्रभावी ढंग से कार्यशील रहें। प्रत्येक जनपद में कुल उपलब्ध एम्बुलेंस वाहनों में से 50 प्रतिशत वाहन को विभाजित मरीजों के लिए और शेष नॉन को विभाजित मरीजों के लिए उपलब्ध कराए गए हैं।

विभिन्न त्योहारों, त्यौहारों और पंचायत निर्वाचन के दृष्टिगत व्यापक कार्ययोजना कोणकर को विभाजित प्रोटोकॉल का पूर्ण पालन करते हुए यह सभी आयोजन सम्पन्न कराए जाते हैं। सभी नोडल अधिकारी अपने जनपद की रिपोर्ट प्राप्त करते हुए इसके निष्कर्षों से जनपद के प्रभारी मंत्री को अवगत कराएं और जिले की टीम को प्रोत्साहित करते हुए उसका मार्गदर्शन करें।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments