Sunday, October 2, 2022
HomeIndiaउत्तर प्रदेश को योगी सरकार नहीं, योग्य सरकार चाहिए: अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश को योगी सरकार नहीं, योग्य सरकार चाहिए: अखिलेश यादव


Image Source : TWITTER
उत्तर प्रदेश को योगी सरकार नहीं, योग्य सरकार चाहिए: अखिलेश यादव

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि उत्तर प्रदेश को योगी सरकार नहीं बल्कि योग्य सरकार चाहिए। अखिलेश ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ”भाजपा सरकार के पास कोई काम नहीं है, भाजपा सरकार सिर्फ नाम बदलना, रंग बदलना, नेम प्लेट बदलवाना, स्‍टूल पर बिठाना, होर्डिंग लगवाना, गंगा जल छिड़कवाना, कार पलटवाना, फोटो हटवाना, गड्ढों की जगह जेब भरना जानती है।” उन्होंने कहा, ”ये मिलावट वाले, झूठ बोलने वाले, धुआं उड़ाने वाले और टायर चढ़ाने वाले लोग हैं और जनता इनसे बहुत नाराज है। उत्तर प्रदेश को एक योग्य सरकार चाहिए, योगी सरकार नहीं।”

बसपा के कई नेता सपा में शामिल हुए

इस मौके पर सपा मुख्यालय में बहुजन समाज पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा, राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के नेता हरिकिशोर तिवारी, मुजफ्फरनगर के पूर्व सांसद कादिर राना और उनके समर्थकों ने सपा की सदस्यता ग्रहण की। पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की महंगाई पर सरकार को घेरते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा को यह बताना चाहिए कि लखनऊ के साथ-साथ कई जगह पेट्रोल की कीमतें 100 रुपए प्रति लीटर को क्यों पार कर गई, जनता को हर चीज महंगी खरीदनी पड़ रही है।

वैश्विक भूख सूचकांक में भारत की मौजूदा स्थिति का जिक्र करते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, ‘‘सूचकांक के आंकड़े सामने आए हैं। जो भारत आगे बढ़ रहा था वह आज ग्लोबल हंगर इंडेक्स में पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे छूट गया है। जो लोग पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का सपना दिखा रहे थे उनके राज में हमारे लोग भूखे सो रहे हैं।” उन्होंने दावा किया, ‘‘ये आंकड़े निकल कर आए हैं कि सबसे कम वजन के बच्चे भारत में ही होते हैं। सबसे ज्यादा कुपोषित बच्चे अगर कहीं है तो उत्तर प्रदेश में हैं। ये आंकड़े इसलिए हैं क्योंकि भाजपा के लोग गलत रास्ते पर चल रहे हैं। यह वही सरकार है जिसने कहा था कि हम खाने का इंतजाम अच्छा करेंगे।”

गौरतलब है कि ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2021 के दायरे में लिए गए 116 देशों में से भारत की रैंकिंग गिरकर 101 हो गई है। 2020 में भारत 94वें पायदान पर था। ताजा सूचकांक में वह पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल जैसे पड़ोसी देशों से पीछे हो गया है। अखिलेश ने जातीय जनगणना कराने की मांग दोहराई और कहा कि एक समय कांग्रेस नीत केंद्र सरकार थी तब भी नेता जी (मुलायम सिंह यादव), लालू प्रसाद यादव और शरद यादव ने जातीय जनगणना कराने की मांग की थी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा उपाध्यक्ष के चुनाव में भाजपा द्वारा सपा विधायक नितिन अग्रवाल को उम्मीदवार बनाये जाने के सवाल पर उन्होंने तंज करते हुए कहा, “भाजपा जिस प्रत्याशी को खड़ा कर रही है वह किस पार्टी के सदन में सदस्य हैं। जो सरकार शिलान्यास का शिलान्यास करती है, उद्घाटन का उद्घाटन करती है, उससे और क्‍या उम्‍मीद की जा सकती है।” उन्होंने आरोप लगाया, ”भाजपा के साढ़े चार साल की सरकार में कोई काम नहीं हुआ और बच्‍चों की पूरी पढ़ाई बर्बाद कर दी। आज पढ़ाई का कोई इंतजाम नहीं है, जो नौजवान पढ़ लिख लिया उसके भविष्य की चिंता न हो तो ये सरकार में कैसे रह सकते हैं।” 





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments