Thursday, August 5, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh इस बार 29 दिनों का होगा सावन का महीना, रुद्राभिषेक, महामृत्युंजय फलदाई,...

इस बार 29 दिनों का होगा सावन का महीना, रुद्राभिषेक, महामृत्युंजय फलदाई, जानिए कैसी रहेगी ग्रहों की स्थिति

Sawn 2021 : इस वर्ष पवित्र सावन मास की शुरुआत 25 जुलाई से हो रही है। सावन का महीना इस बार 29 दिनों का होगा और इसमें चार सोमवार पड़ेंगे। 22 अगस्त को सावन का महीना समाप्त होगा, उसी दिन रक्षाबंधन पर्व भी मनाया जाएगा। सावन के मद्देनजर मंदिरों में भी तैयारियां की जा रही हैं।

भगवान शिव की आराधना का पर्व सावन का हिन्दू धर्म में विशेष महत्व होता है। भक्त सावन में पड़ने वाले सभी सोमवार को विशेष रूप से भगवान शिव की उपासना करते हैं। शिवालयों में भी इसके लिए विशेष तैयारियां की जाती हैं। शिव मंदिरों में पूजा-अर्चना के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। शिव मंदिरों के पुजारियों के मुताबिक कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराते हुए शिवालयों में भक्तों को प्रवेश दिया जाएगा। महादेव झारखंडी मंदिर प्रबंधन के मुताबिक भक्तों को जागरूक करने के लिए बैनर लगाए जाएंगे। बिना मास्क के किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

आने वाले 21 दिनों तक इन राशियों पर बरसेगी शुक्र देव की कृपा, वैवाहिक जीवन रहेगा सुखमय

वक्री हैं वृहस्पति और शनि

  • ज्योतिर्विद पं. नरेन्द्र उपाध्याय ने बताया कि इस बार सावन में ग्रहों की स्थिति सामान्य है। वृहस्पति और शनि दोनों वक्री हैं। अमूमन इस समय दोनों ग्रह वक्री होते हैं। लेकिन वृहस्पति कुंभ राशि में हैं जो शुभ नहीं माना जाता है। भक्तों को अपना ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी पूजा होती है मानसिक पूजा। भगवान शिव को किसी भी तरीके से अभिषेक पसंद है। यदि किसी भी तरह से घर में भी शिवलिंग बनाकर दूध, जल, गन्ना रस आदि से अभिषेक करते हैं तो भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और मनोवांछित फल मिलता है। यदि मंदिर में जाने में असुवधिा हो या कोविड प्रोटोकाॉल का उल्लंघन होता हो तो घर में ही पूजा करें।

6 सितंबर तक मंगल रहेंगे सिंह राशि में, देखें क्या आपकी राशि पर भी पड़ेगा मंगल देव का प्रभाव

रुद्राभिषेक, महामृत्युंजय फलदाई

  • ज्योतिषाचार्य पं. त्रियुगी नारायण शास्त्री ने बताया कि सावन के महीने में प्रत्येक दिन भगवान भोलेनाथ का रुद्राभिषेक किया जाता है। सावन में सोमवार का विशेष महत्व है। कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष दोनों पक्षों में शिव वास का भी अलग महत्व है। सावन का प्रथम शिव वास 25 जुलाई को प्रात: 6 बजे तक है। उसी दिन भगवान शिव को जलाभिषेक का सिलसिला शुरू हो जाएगा। पहला सोमवार 26 जुलाई को है। 22 अगस्त को रक्षाबंधन का मुहूर्त सुबह से लेकर शाम 5 बजे तक है। सावन में रुद्राभिषेक, महामृत्युंजय, सत्यनारायण व्रत कथा अनुष्ठान कराने से रोगों का निवारण, सुख, समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।

25 जुलाई से शुरू हो रहा है सावन का महीना, मकर, कुंभ, धनु, मिथुन, तुला राशि वाले जरूर करें ये छोटा सा काम

हम तैयार, प्रशासन के निर्देश का इंतजार

  • मुक्तेश्वरनाथ मंदिर के पुजारी पं. रमानाथ उपाध्याय ने मंदिर परिसर में साफ-सफाई की जा रही है। शासन या प्रशासन की तरफ से इस सम्बंध में कोई दिशा-निर्देश अभी नहीं मिला है। स्थानीय पुलिस यह लिखवाकर ले गई है कि भीड़ नहीं लगने देना है। मंदिर में प्रवेश द्वार और निकासी द्वार के अलावा भी पर्याप्त जगह है, इसलिए पुलिस की मदद से भीड़ को रोका जा सकता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

2020 से बेहतर हुई यूपी के खजाने की स्थिति, जुलाई में 12655 करोड़ आए : सुरेश खन्ना

प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण का सकारात्मक असर राज्य की आर्थिक गतिविधियों में नजर आने लगा है। चालू वित्तीय वर्ष के...

सदर अस्पताल प्रांगन में ऑक्सीजन प्लांट की भी शुरुआत हो जाएगी: सिविल सर्जन सिविल सर्जन की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की मासिक समीक्षात्मक...

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी बैठक में स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रम की समीक्षा की गई अन्य प्रदेश से आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच आवश्यक: किशनगंज, जिले में...

विश्व स्तनपान सप्ताह: स्वास्थ्यकर्मी स्तनपान को लेकर कर रहे जागरूक

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी एनएफएचएस—5 की रिपोर्ट जिला में 42.4 फीसदी शिशु ही कर पाते हैं पहले घंटे में स्तनपान: नियमित स्तनपान से शिशुओं को गंभीर...

कोरोना टीका के महत्व को जाना तो खुद के साथ पूरे परिवार को दिलाया टीका

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी लोगों को जागरूक करने व टीकाकरण को बढ़ावा देने में अखबारों की भूमिका महत्वपूर्ण: जिले में टीकाकरण को गति देने में जागरूकता...

Recent Comments