Sunday, August 14, 2022
HomeIndiaआरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन करेंगे: राकेश टिकैत

आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन करेंगे: राकेश टिकैत


Image Source : PTI
राकेश टिकैत ने कहा कि अगर 8 दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।

लखीमपुर खीरी: भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने रविवार को लखीमपुर में हुई हिंसा की घटना के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के संबंध में राज्य सरकार को दिया गया अल्टीमेटम को बुधवार को दोहराते हुए कहा कि अगर 8 दिन में ऐसा नहीं हुआ तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रविवार की घटना में मरे 8 लोगों में 4 किसान और एक पत्रकार शामिल हैं। उन्होंने इस घटना के आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने तथा केंद्रीय मंत्री अजय कुमार मिश्रा से त्यागपत्र देने की मांग की।

समझौते के बाद किसानों ने अपना विरोध समाप्त कर दिया था

टिकैत ने 4 अक्टूबर को राज्य सरकार के साथ एक समझौता किया था जिसके बाद किसानों ने अपना विरोध समाप्त कर दिया था और मृत किसानों का पोस्टमॉर्टम किया गया था। अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने टिकैत की उपस्थिति में पीड़ित किसानों के परिवारों को 45-45 लाख रुपये देने, योग्यता के हिसाब से परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और हाई कोर्ट के रिटायर्ड जज की निगरानी में न्यायिक जांच करवाने की बात 4 अक्टूबर को कही थी।

‘हम समझौते के 8 दिन बाद तक इंतजार करेंगे’
टिकैत ने लखीमपुर शहर के एक गुरुद्वारे में कहा, ‘हमारा विरोध खत्म नहीं हुआ है। हम समझौते के 8 दिन बाद तक इंतजार करेंगे और अगर मांगें पूरी नहीं हुई तो देशव्यापी आंदोलन शुरू किया जाएगा।’ तिकोनिया थाने में हुई घटना में केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा समेत अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) में प्राथमिकी दर्ज की गई है। टिकैत ने कहा कि पीड़ित परिवारों और किसानों से सलाह-मशविरा करने के बाद सरकार के साथ समझौता हुआ था और सभी ने इस पर ‘संतुष्टि’ व्यक्त की थी।

‘हिंसा में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी’
सोमवार तड़के घटना स्थल पर पहुंचे संयुक्त किसान मोर्चा के नेता ने तिकोनिया की घटना पर गतिरोध समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। गौरतलब है कि पिछले रविवार को लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में हुई हिंसा में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी।





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments