Saturday, December 5, 2020
Home Business आधार कार्ड के लिए 1947 पर कॉल करें, आधार नंबर के उपयोग...

आधार कार्ड के लिए 1947 पर कॉल करें, आधार नंबर के उपयोग को जानें


आज आधार कार्ड की उपयोगिता के बारे में ज्यादातर लोग जानते हैं। पैन कार्ड हो या राशन कार्ड या फिर मतदाता पहचान पत्र, वे बनवाने के लिए 12 अंकों का आधार सब मुश्किल आसान कर देता है। चाहे आपको ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना हो या NREGS जॉब्स कार्ड या फिर बैंक में खाता ही क्यों न खुलवाना हो, आधार हर जगह मांगा जा रहा है।

पिछले दिनों वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, '' प्रत्येक खाता 31 मार्च, 2021 तक आधार से जुड़ना चाहिए और जहां भी जरूरी और लागू हो, पैन से उसे जोड़ा जाना चाहिए। '' अगर आपके घर में किसी का आधार कार्ड नहीं बना है तो आपको अवश्य बनवा लेना चाहिए। इसके लिए कौन से डाक्यूमेंट लेना होगा, यह जानने के लिए बस आपको केवल 1947 नंबर पर कॉल करना है। अगर आप यह भी नहीं करना चाहते हैं तो यह नंबर (https://uidai.gov.in/images/commdoc/valid_documents_list.pdf) पर क्लिक करके देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें: एक मोबाइल नंबर से पूरे परिवार के लिए ऐसे बनवाएं नए आधार कार्ड

बता दें कि आधार को भारत में रहने वाले लोगों के लिए इसलिए लागू किया गया था, ताकि वह एक ही पहचान पत्र को कई जगह इस्तेमाल कर सके। यह सिर्फ एक पहचान पत्र संख्या से कहीं अधिक है। हालांकि ऐसी बात नहीं है कि सिर्फ भारतीय आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। आधार के लिए योग्यता मानदंड इतना भी मुश्किल नहीं है जितना कि सबको लगता है। एक व्यक्ति आधार के लिए आवेदन कर सकता है यदि …

  • वह भारत में रहने वाला एक भारतीय नागरिक है, या
  • वह भारत में रहने वाला एक अनिवासी भारतीय / नॉन रेजिडेंट इंडियन है, या
  • वह भारत में रहने वाला एक विदेशी है
  • यहाँ तक कि नवजात शिशु भी आधार बनाने के लिए योग्य हैं
  • भारत में ठहरनेवालों के लिए आधार कार्ड
  • प्रत्येक भारतीय नागरिक आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है और नंबर पा सकता है। सरकार ने अब टैक्स देने वालों के लिए अपने HTTP रिटर्न (इनकम टैक्स रिटर्न) भरते समय पैन को आधार के साथ जोड़ना जरूरी कर दिया है।

नवजात शिशु का भी बन सकता है आधार

मतदाता पहचान पत्र के विपरीत आधार कार्ड नाबालिगों के लिए भी जारी किए जा सकते हैं। उन्हें बस पहचान के सबूत के तौर पर अपना बर्थ सर्टिफिकेट (जन्म प्रमाण पत्र) और अपनी मां-बाप का पहचान और पता प्रमाण जमा करना है। नवजात शिशु भी आधार के लिए एनरोल कर सकते हैं ।हालांकि, जैसे ही वे 5 से 15 साल की उम्र में आते हैं उन्हें अपना बॉयोमेट्रिक डेटा अपडेट करना होगा। 5 साल से कम उम्र के बच्चों के आधार कार्ड बिल्ल रंग के होते हैं।

निम्नलिखित योजनाओं में उपयोग हो सकता है

  • खाद्य और खाद्यान्न: सर्जिकल वितरण प्रणाली, खाद्य सुरक्षा, मिड डे मील, फॉर्मिट बाल विकास योजना।
  • रोजगार- महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना, स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना, इंदिरा आवास योजना, प्रधानमंत्री रोजगार योजना।
  • शिक्षा-सर्व शिक्षा अभियान, शिक्षा का अधिकार।
  • समावेशन एवं सामाजिक सुरक्षा-जननी सुरक्षा योजना, प्राचीन जनजाति समूह विकास योजना, इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना।
  • स्वास्थ्य देखभाल- राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना, जनश्री बीमा योजना, आम आदमी बीमा योजना
  • संपत्ति हस्तांतरण, पहचान पत्र, पैन कार्ड आदि सहित अन्य विविध प्रयोज्य वस्तुएं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ब्रेनोबे्रन वन्डरकिड प्रतियोगिता में  कात्यायनी पाण्डेय को गोल्ड मेडल

  लखनऊ,   सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (द्वितीय कैम्पस) की कक्षा-4 की मेधावी छात्रा कात्यायनी पाण्डेय ने राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित ब्रेनोबे्रन वन्डरकिड प्रतियोगिता में गोल्ड...

डब्लूएचओ ने कोविड -19 को लेकर दी खुशखबरी, कहा- अब महामारी के खत्म होने के सपने देखने वाले कर रहे हैं

विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि कोरोनावायरस के सफलताओं को देखते हुए अब हम इस महामारी के जल्द खत्म...

महंत अवैद्यनाथ जी महाराज के जन्म शताब्दी वर्ष के संस्थापक-सप्ताह समारोह-2020

मुख्यमंत्री   योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा एवं चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ श्री बिपिन रावत,  महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज, गोरखपुर में गोरक्षपीठाधीश्वर युगपुरुष...

Recent Comments