Friday, March 5, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh अयोध्या: लावारिस कोर्टों के 'मसीहा' पद्मश्री मोरीफ को आज अपने इलाज के...

अयोध्या: लावारिस कोर्टों के ‘मसीहा’ पद्मश्री मोरीफ को आज अपने इलाज के लिए मदद मिलेगी या नहीं


अयोध्या: पद्मश्री के लिए नामित मोहम्मद शरीफ आज गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं।

अयोध्या: पद्मश्री के लिए नामित मोहम्मद शरीफ आज गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं।

अयोध्या समाचार: अयोध्या के प्रसिद्ध समाजसेवी और लावारिस उपवन के ‘मसीहा’ कहे जाने वाले मोहम्मद शरीफ (मोहम्मद शरीफ) अस्वस्थ हैं। उनके परिवार के पास इलाज के पैसे नहीं हैं। वह स्थानीय बीजेपी सांसद और जिला प्रशासन से मदद के इंतजार में हैं।

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के अयोध्या (अयोध्या) में प्रसिद्ध समाजसेवी और लावारिस उपवन के ‘मसीहा’ कहे जाने वाले मोहम्मद शरीफ (मोहम्मद शरीफ) अस्वस्थ हैं। ये जानकारी भाजपा के मीडिया प्रभारी डॉ। रजनीश सिंह ने प्रधानमंत्री कार्यालय को दी है। डॉ। रजनीश सिंह के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही मोहम्मद शरीफ को पेंशन व आवास उपलब्ध कराया जाएगा। उधर मोहम्मद शरीफ के हार्ट की समस्या को देखते हुए अयोध्या जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने लखनऊ केजीएमसी रेफर कर दिया है। अयोध्या जिला अस्पताल में ना तो हार्ट के डॉ हैं और ना ही जांच की सुविधा है। इसे देखते हुए पद्मश्री मोहम्मद शरीफ को उनके परिजन जिला अस्पताल से डिस्चार्ज कराकर घर ले आए हैं। अब स्थानीय सांसद लल्लू सिंह और जिला प्रशासन के बनेमों-करम का इंतजार है कि उन्हें लखनऊ ले जाया जाए या फिर अयोध्या में ही किसी केंद्रीय हार्ट कैर सेंटर में उनका इलाज कराया जाए।

अयोध्या में लावारिश लाशों के मसीहा माने जाने वाले पद्मश्री मोहम्मद शरीफ चचा की तबियत पिछले 5 महीने से खराब चल रही है। आर्थिक तंगी की वजह से सही इलाज नहीं हो पा रहा है। जिसकी वजह से 5 दिन पहले पद्मश्री मोहम्मद शरीफ की तबियत और बहुत खराब हो गई। पद्मश्री मोहम्मद शरीफ 85 वर्ष के हैं। वह पिछले 30 वर्षों से लैविस वैरोन के अंतिम संस्कार का काम करते हैं। इनको लैवियर्स जीनों के मसीहा माना जाता है।

28 साल पहले बेटे की मौत के बाद लावारिस लाशों का उठाया जिम्मा

दरअसल 28 साल पहले मोहम्मद शरीफ के बड़े बेटे मोहम्मद रईस की मौत एक हादसे में हुई थी। उनकी अंतिम संस्कार पुलिस ने लावारिश जान कर किया था। केवल से मुहम्मद शरीफ चचा हर लावारिस कुत्तों का अंतिम संस्कार उसके धर्म के अनुसार करते चले आ रहे हैं। उनके इस सामाजिक जीवन को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने वर्ष 2019 में पद्मश्री एवार्ड देने की घोषणा की थी। लेकिन वर्ष 2020 में कोरोना काल की वजह से इनको पद्मश्री का एवार्ड नहीं मिल गया।परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है

मोहम्मद शरीफ पेशे से साइकिल मिस्ट्र हैं। आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। आज इनकी तबियत खराब है। उनके तीन में से दो बेटे मोहम्मद सगीर और मोहम्मद अशरफ इनका इलाज विगत 5 महीने से करवा रहे हैं। दोनों बेटों में से मोहम्मद अशरफ बाइक मैकेनिक हैं और दूसरा बेटा मोहम्मद सगीर प्राइवेट ड्राइवर है। दोनो की आमदनी ज्यादा नहीं है। बेटे मोहम्मद शरीफ का कहना है कि 5 महीने से उनकी तबियत ठीक नहीं है। किसी भी तरह का इलाज किया जा रहा है। अभी तक इनको पद्मश्री एवार्ड भी नहीं दिया गया है। रहने के लिए इनका खुद का घर नहीं है। एक छोटा से किराया का घर है। जिसमें परिवार के 20 सदस्य रहते हैं। उनका कहना है कि सरकार आर्थिक मदद के साथ घर उपलब्ध करवा दें।

बेटों को सांसद और जिला प्रशासन की मदद का इंतजार है

जिला अस्पताल के डॉक्टर वीरेंद्र वर्मा का कहना है कि पद्मश्री मोरीफ चचा के पेट में सूजन और हार्ट की समस्या है। उनकी जांच के लिए लखनऊ केजीएमसी रेफर किया गया है ताकि उनकी बेहतर जांच हो सके और इलाज संभव हो सके। वहीं दूसरी तरफ मोहम्मद शरीफ के बेटे मोहम्मद अशरफ का कहना है कि सांसद लल्लू सिंह उनके वालिद को देखने आए थे और आश्वासन दिया गया कि उनका इलाज बेहतर होगा। अब लल्लू सिंह व जिला प्रशासन का इंतजार है।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

दिल्ली रेलवे स्टेशन पर 1 साल बाद प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री शुरू, चुकाने की 3 गुना कीमत होगी

प्लेटफार्म टिकट की बिक्री पिछले साल लॉकडाउन में ट्रेनों के बंद होने के बाद से ही ठप थीनई दिल्ली: रेलवे ने दिल्ली रेलवे...

शेयर बाजार: सेंसेक्स 598 अंकों की गिरावट, 15000 के पार बंद हुआ निफ्टी

आज सप्ताह के चौथे दिन गुरुवार को शेयर बाजार में गिरावट के साथ लाल निशान पर बंद हुआ। बीएसई इंडेक्स सेंसेक्स 598.57...

PF डिपॉजिट पर 8.5 प्रतिशत ब्याज, शेफ लेबर कमिश्नर बोले- 5 करोड़ खाताधारकों को फायदा मिलेगा

वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद निर्णय को लागू किया जाएगा। (प्रतीकात्मक चित्र)खास बातेंपीएएफ डिपोजिट पर 8.5 प्रतिशत ब्याज'5 करोड़ अकाउंटर्स को...

अडानी पोर्ट्स खरीदेगा गंगावरम पोर्ट में भाग, 22 प्रति क्लाइमे कंपनी के शेयर

अडानी पोर्ट्स (अदानी पोर्ट्स) गंगावरम पोर्ट में 31.5 प्रतिशत हिस्सा खरीदेगी। भारत के सबसे बड़े निजी बंदरगाह ऑपरेटर अडानी पोर्ट्स एंड...

Recent Comments