Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh अब नोएडा में बैंच पर बैठकर ताजमहल देखते हुए लिकिफ़ की चुस्कियां,...

अब नोएडा में बैंच पर बैठकर ताजमहल देखते हुए लिकिफ़ की चुस्कियां, जानिए कैसे


नोएडा में वेस्ट टू वंडर पार्क बनाने की तैयारी चल रही है।

नोएडा में वेस्ट टू वंडर पार्क बनाने की तैयारी चल रही है।

जल्द ही टूवे वंडर पार्क (वेस्ट टू वंडर पार्क) आम जनता (पब्लिक) के लिए खोल दिया जाएगा। इसके बाद वीकेंड में आप अपने बच्चों के साथ इस पार्क में धमा-चौकड़ी मचा सकते हैं।

नोएडा। ताजमहल (ताज महल), कुतुबमीनार के सामने चाय और काफी पीने की हसरत अब आप नोएडा में भी पूरी कर सकते हैं। इसके लिए आपको आगरा (आगरा) या दिल्ली (दिल्ली) जाने की जरूरत नहीं होगी। नोएडा (नोएडा) में ही ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के किनारे बैंच पर बैठकर ताजमहल के सामने आप कॉफी की चुस्कियों का मजा ले सकते हैं। इसके लिए नोएडा अथॉरिटी वेस्ट टू वंडर पार्क (वेस्ट टू वंडर पार्क) तैयार कर रहा है।

गौरतलब रहे बच्चों के साथ पार्क का मजा देने के लिए नोएडा अथॉरिटी दो से तीन वेस्ट टू वंडर पार्क तैयार कर रहा है। वेस्ट टु वंडर पार्क कबाड़ में पहुंच सामान से बनाए जा रहे हैं। घर, कार्यालय और फैक्ट्रियों से निकले कबाड़ से ही ताजमहल, कुतुबमीनार, सांची का स्तूप और बनारस के घाट बनाए जा रहे हैं। खास बात यह है कि पार्क में ओपन जिम भी बनाया जा रहा है। यह पार्क ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के किनारे बनाए जा रहे हैं।

पहले कबाड़ से यह दो गेट बनवा चुके है नोएडा अथॉरिटी

जानकारों की मानें तो नोएडा अथॉरिटी पहले भी शहर से निकलने वाले कबाड़ से कई आकृतियां बनवा चुकी है। इन चमक बॉर्डर और मॉडल टाउन दौर चक्कर पर प्लॉस्टिक वेस्ट से बनवाया गया नोएडा का वेलकम पॉइंट और चरखा भी शामिल हैं। अथॉरिटी का मकसद है कि इस तरह के पार्क बनवाने से शहर से निकलने वाले कचरे में कमी आएगी। वेस्ट टु वंडर पार्क में भी अथॉरिटी इसको लेकर जागरुकता अभियान चलाएगी। पार्क को सजाने के लिए भी घास के साथ वेस्ट का ही उपयोग किया जाएगा।ग्रेटर नोएडा से महज 15 घंटे में देश के किसी भी हिस्से में पहुंचेंगे सामान, जानिए कैसे

अथॉरिटी पहले भी बनवा चुकी है यह पार्क

नोएडा अथॉरिटी ने शहर में पहले भी अलग-अलग थीम पर पार्क बनावाए हैं। इसमें सेक्टर -91 में औषधि पार्क, बायोडायलट पार्क तैयार हो चुके हैं। वहीं सेक्टर -78 में वेदवन को तैयार करने की कवायद भी चल रही है। डॉग पार्क, विकलांग पार्क के प्रस्ताव पर भी काम चल रहा है। सेक्टर -54 में वेटलैंड विकसित करने का काम पहले ही शुरू हो चुका है।

सेक्टर -91 में भी वेटलैंड का काम शुरू होने में थोड़ी सी प्रक्रिया बाकी रह गई है। वेस्ट टू वंडर पार्क का निर्माण पीसीपी मॉडल पर होगा। इसमें प्रदेश की धरोहरों, ऐतिहासिक और पौराणिक स्थलों की आकृतियां वेस्ट से निर्मित होगी। इस तरह का यह यूपी में पहला पार्क होगा।








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

मार्च की तिमाही में इन्फोसिस का मुनाफा 17.5 प्रतिशत बढ़ा

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इन्फोसिस ने बुधवार को कहा कि मार्च 2021 में चौथी तिमाही के दौरान उसका शुद्ध लाभ 17.5...

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद इस एक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र में स्थिति बहुत खराब हो गई है।...

Recent Comments