Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh अब आप घर बैठे नहीं कर सकते गलत ट्रैफिक संयोजन की ऑनलाइन...

अब आप घर बैठे नहीं कर सकते गलत ट्रैफिक संयोजन की ऑनलाइन शिकायत, जानिए क्यों


नोएडा में गलत ई कोड कटने की शिकायत करने वाला ई पोर्टल बंद कर दिया गया है।  (सांकेतिक फोटो)

नोएडा में गलत ई कोड कटने की शिकायत करने वाला ई पोर्टल बंद कर दिया गया है। (सांकेतिक फोटो)

72 घंटे में ऐसी शिकायतों को दूर करने का दावा भी किया गया था। लेकिन अब नोएडा (नोएडा) में यह ऑनलाइन सुविधा बंद कर दी गई है।

नोएडा। आपके मोबाइल (मोबिल फोन) पर आपके वाहन का ई-चालान (E-Challan) आता है। घर पर कोड की कॉपी आती थी, लेकिन कभी-कभी कोड में दिखाया गया वाहन आपका नहीं होता। यहां तक ​​की किस शहर में संयोजन होना बताया जाता था वहां आप गए नहीं थे। लेकिन एक बड़ा फायदा यह था कि आप घर बैठे इस तरह के गलत ई-चालान की ऑनलाइन (ऑनलाइन) शिकायत ई-संयोजन कंप्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम (ईसीएमएस) कर रहे थे।

गौरतलब रहे नोएडा ही नहीं देश के कई राज्यों में गलत ई-चालान की शिकायत करने के लिए ईएमएस की सुविधा दी गई थी। जिसका फायदा लोगों को मिल रहा था। अगर नोएडा की बात करें तो अकेले इसी शहर में 5 हजार से ज्यादा शिकायतें दूर की गई हैं। लेकिन अब एलएमएस को बंद कर दिया गया है। और इसे बंद करने के पीछे बड़ा ही हास्यपद कारण बताया जा रहा है।

वर्षभर का प्रमाण पत्र

सूत्रों के मुताबिक अगर हम ई-कंपाउंड कंप्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम पोर्टल के करंट स्टेट्स पर जाएं तो इसके डोमेन को एक साल पूरा हो गया है। कमिश्नरी सिस्टम लागू होने से पहले 9 नवंबर 2019 को यह सुविधा शुरू हुई थी, जो 23 सितंबर 2020 को बंद हो गई थी। इससे न केवल आम लोगों को सहूलियत मिल रही थी, बल्कि ई-विज्ञापन प्रबंधन में ट्रैफिक पुलिस को भी खासी राहत थी। वर्षभर में इस पोर्टल की मदद से 5036 शिकायतें दूर की गई थी। लेकिन एक साल पूरा होने से पहले इस पोर्टल की डोमेन फीस नहीं चुकाई गई।अब नोएडा में बैंच पर बैठकर ताजमहल देखते हुए लिकिफ़ की चुस्कियां, जानिए कैसे

ऐसे काम करता था एलएमएस

Ems पोर्टल पर शिकायत दर्ज होने के बाद एक कंप्लेट नंबर मुहैया कराया जाता था। साथ ही दर्ज शिकायत से संबंधित ई-मेल तुरंत अधिकारियों और ई-संयोजन शाखा में पहुंच जाती थी। शिकायतकर्ता कंप्लेट नंबर से शिकायत को ट्रेक भी कर सकता था। 72 घंटे में शिकायत दूर करने का प्रावधान था। ई-संयोजन प्रणाली पर इससे पुख्ता निगरानी भी हो रही थी।

पोर्टल बंद होने की नोएडा पुलिस ने बताई यह वजह

सूत्रों की मानें तो ईएमएस बंद होने के पीछे नोएडा ट्रैफिक पुलिस प्राइवेट कंपनी की गलती बता रही है। पुलिस के मुताबिक ईम्स को एक प्राइवेट कंपनी चली गई थी। इसी कंपनी को इस पोर्टल को चलाने का अधिकार दिया गया था। लेकिन कंपनी के काम को लेकर कुछ शिकायतें आ रही थीं। पोर्टल में भी कुछ कमी थी। इसी के चलते कंपनी के साथ किए गए समझौते को आगे नहीं बढ़ाया गया है। अब जल्द ही नई कंपनी के साथ करार कर एम्स को चालू कर जनता को पहले की तरह से इसका फायदा पहुंचाया जाएगा।








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments